नैनीताल, जेएनएन : कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए जारी लॉकडाउन के कारण लोग घरों में कैद हैं। सड़कें सूनी हैं, पर्यटन स्थलों पर सन्नाटा पसरा है। यही हाल अभ्यारण्य और चिड़ियाघरों का भी है। जिसका असर वन्यजीवों के व्यवहार में नजर आ रहा है। चारों तरफ फैले सन्नाटे के कारण उन्हें यही नहीं पता चल पा रहा है कि जंगल का दायरा क्या है। यही कारण है इन दिनों जंगल व पहाड़ों में बसी आबादी में और वहां से गुजरने वाली सड़कों पर बाघ, तेंदुए और हाथी, घूमते-टहलते नजर आ जा रहे हैं। नैनीताल रोड का भी एक वीडियो इन दिनों खूब वायरल हो रहा है। जिसमें दो तेंदुए सड़क पर घूमते नजर आ रहे हैं। बताया जा रहा है कि इस वीडियो को लॉकडाउन में फंसे एक परिवार ने बनाया है।

71 फीसद वन भूभाग है उत्तराखंड

इन दिनों जंगल में वन्यजीवों के लिए मंगल जैसी स्थिति है। वन्यजीव विविधता के लिए मशहूर 71 फीसद वन भूभाग वाले उत्तराखंड का सूरतेहाल भी इससे जुदा नहीं है। लॉकडाउन में वन क्षेत्रों में वन्यजीव पर्यटन से जुड़ी सभी गतिविधियां पूरी तरह ठप हैं। यानी जंगलों में मानवीय दखल इन दिनों नहीं है। ऐसे में बेजुबान बेखौफ हो इधर से उधर बगैर किसी विघ्न बाधा के स्वछंद विचरण कर रहे हैं। न जंगल के बीच से गुजरने वाली सड़क की परवाह है, न रेल की। अब तो उन क्षेत्रों में वन्यजीव दिखने लगे हैं, जहां मानवीय दखल के कारण ये नजर नहीं आते थे। और तो और जंगल की देहरी पार कर वन सीमा से सटे आबादी वाले क्षेत्रों में भी वन्यजीव खूब धमक रहे हैं। फिर चाहे वह जिम कार्बेट के नजदीकी क्षेत्र हों या राजाजी टाइगर रिजर्व से लगे इलाके सभी जगह आलम एक सा है।

लॉकडाउन में फंसे पर्यटकों ने बनाया वीडियो

आम दिनों में पर्यटकों की आमद व स्थानीय लोगों से बेहद गुलजार रहने वाले नैनीताल रोड पर इन दिनों लॉकडाउन के कारण सन्नाटा पसरा हुआ है। एक तरफ खाई और दूसरी तरफ जंगल और पहाड़ से घिरी नैनीताल जाने वाली सड़क पर इन दिनों तेंदुए अक्सर नजर आ जा रहे हैं। नैनीताल घूमने आया एक परिवार जो लॉकडाउन में फंसा है, पिछले दिनों देर रात सड़क पर घूमने निकला तो दो तेंदुओं को देखकर रोमांच से भर गया। दोनों सड़क पर बेफ्रिक खेलते हुए चले जा रहे थे। पर्यटकों ने उनकी वीडियो बनाकर शोसल मीडिया पर शेयर की जो खूब देखा जा रहा है। 

यह फोटो वाइल्‍ड लाइफ फोटोग्राफर रव‍ि राज ने ली है। 

हाथियों का झुंड आता है गंगा में पानी पीने 

ऋषिकेश का क्षेत्र चारों तरफ से जंगल से घिरा है। लॉकडाउन के चलते सड़कों पर वाहनों की आवाजें या अन्य गतिविधियां न होने से माहौल शांत बना है। इसका फायदा वन्य जीवों को मिल रहा है। वन्य जीव शांत माहौल का फायदा उठाकर शहरी सीमाओं के आसपास दिख रहे हैं। त्रिवेणीघाट के समक्ष गंगातट पर हाथियों का झुंड रोजाना गंगा में पानी पीने पहुंच रहा है। इतना ही नहीं हाल ही में गुमानीवाला स्थित डीएसबी स्कूल में शांत वातावरण का फायदा उठाकर गुलदार भी घुस आया था, जिसे बड़ी मशक्क्त के बाद वन विभाग पकड़ पाया था।

यह भी पढें 

लॉकडाउन में पहाड़ी उत्पादों ने दिखाई स्टार्टअप की राह, विदेशों में बढ़ी डिमांड

गन्ना सचिव के आवास पर पहुंचा किसान, पेट्रोल डालकर आत्महत्या की कोशिश

क्वारंटाइन सेंटर में फंसे बच्चों को सुरक्षा के साथ शिक्षा भी दें रहीं कांस्टेबल कमला

पहले देश की हिफाजत किए अब कोरोना वाॅरियर्स बनकर मदद कर रहे पूर्व सैनिक

हल्‍द्वानी में कैंसर अस्पताल की भूमि में बनेगा 500 बेड का प्री फैब्रिकेटेड हाॅस्‍पि‍टल

Edited By: Skand Shukla