जालंधर, जेएनएन। अंधविश्वास इंसान को किसी भी हद तक ले जा सकता है। इसकी ताजा उदाहरण मंगलवार को महानगर के थाना बस्ती बावा खेल में देखने को मिली। मांगलिक बेटी के विवाह में बार-बार रुकावट पैदा होने पर उसके परिवार ने 13 साल के बच्चे की बेटी से शादी करवा दी, फिर उसके मरने का मातम भी मनाया जिसमें बाकायदा दुल्हन ने अपने गहने और चूड़ियां फोड़ीं और विलाप किया। बच्चे ने घर जाकर सारी बात बताई तो इसकी पोल खुली। 

महानगर में इस प्रकार का यह पहला मामला सामने आया है जब किसी मांगलिक लड़की ने भविष्य में होने वाली शादी को सफल बनाने के लिए परिवारवालों के साथ मिलकर सारा नाटक किया हो। बच्चे के परिवार ने आरोप लगाया कि उनका बेटा युवती के घर पर ट्यूशन पढ़ता था। एक दिन किसी पंडित ने युवती के घरवालों को बताया कि उनकी बेटी मांगलिक है और इस दोष को दूर करने के लिए उन्हें बेटी की किसी बच्चे से शादी करवानी होगी। शादी की सारी रस्में निभाने के बाद विधवा बनकर विलाप भी करना होगा, ऐसा करने पर ही उनकी बेटी की कुंडली से ये दोष निकलेगा। पंडित के कहने के बाद युवती के परिजनों ने उसकी शादी बच्चे से करवा दी।

यह भी पढ़ें - फेसबुक की Missed call से रहें सावधान! पंजाब में अमीरों को Honey Trap में फंसाने वाली शातिर महिला गिराेह सहित गिरफ्तार

सुहागरात के कुछ दिन बाद मौत का नाटक

शादी की सभी रस्में निभाने के बाद बच्चे को सुहागरात के लिए कमरे में भी ले जाया गया और कुछ दिन बाद विधवा होने का नाटक किया गया। पीड़ित परिवार की शिकायत के बाद पुलिस ने दोनों पक्षों को थाने बुलाकर समझौता करवा दिया है। मौके पर ही एक दूसरे पंडित को बुलवाकर ये भी बताया कि ये सब कुछ अंधविश्वास है। दैनिक जागरण के पास इस खबर की सारी जानकारी है, लेकिन बच्चे व लड़की के भविष्य को ध्यान में रखते हुए उनकी पहचान नहीं उजागर की जा रही है।

यह भी पढ़ें - अमृतसर मेडिकल कॉलेज में Coronavirus की एंट्री, राजस्थान से पिकनिक मना लौटे MBBS के 20 Students संक्रमित

पढ़ाई में अच्छे नंबर लाने की बात कह घर पर ही रख लिया था बच्चे को

बच्चे के परिजनों के अनुसार उनका बेटा युवती के घर ट्यूशन जाता था। एक दिन युवती ने कहा कि वह बच्चे को अपने पास ही कुछ दिन के लिए रख लेगी। यहीं रहकर वो तैयारी कर लेगा और पेपरों में अच्छे नंबर आ जाएंगे। परिवार ने कहा कि बेटे के भविष्य को देखते हुए वह मान गए और दस दिन बेटा युवती के घर ही रहा। पुलिस जांच में सामने आया कि शादी की रस्में व मौत का यह सारा नाटक पांच से छह दिन तक चला। बच्चा उतने दिन उनके घर पर ही रहा। बच्चे से घर के काम भी करवाए गए।  

यह भी पढ़ें - कोमा में गई बहन की 6 साल तक की सेवा, मौत होने पर दुखी भाई ने उठाया खौफनाक कदम

यह भी पढ़ें - Fraud In Ludhiana: इंटरनेट मीडिया पर सस्ते VIP Number के नाम पर हो रही ठगी, जानें पूरा मामला

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें