होशियारपुर, जेएनएन। भाई-बहन के रिश्ता कितना मजबूत और पवित्र होता है इसके कई उदाहरण हमें समाज में देखने को मिलते हैं। लेकिन पंजाब के होशियारपुर में एक ऐसा मामला सामने आया है जिसने हर किसी की आंखें नम कर दी। राखी के दिन भाई अपनी बहन की सदैव रक्षा का वचन देता है और होशियारपुर के मोहल्ला बहादरपुर में रहने वाले हनीश कुमार ने इसे निभाने में छह साल मुश्किलें झेली, लेकिन वह बहन को बचा न सका। इससे आहत होकर उसने खुद भी आत्महत्या कर ली।

मामला होशियारपुर के मोहल्ला बहादरपुर का है। जहां रहने वाले 30 वर्षीय हनीश कुमार ने कोमा में गई अपनी बहन की छह साल तक सेवा की। लेकिन डाक्टर उसकी बहन को बचा न सके। यह सदमा हनीश बर्दाश्त न कर पाया और खुद की भी जान ले ली। थाना सिटी के एएसआइ दर्शन सिंह ने शव को पोस्टमार्टम के लिए सरकारी अस्पताल के शव गृह में रखवा दिया।

यह भी पढ़ेंः अंधविश्वास की हदें पार : पंजाब में 13 साल के बच्चे से कराई मांगलिक युवती की शादी, सुहागरात के बाद मौत का मातम

ब्रेन स्ट्रोक के बाद कोमा में चली गई थी बहन

रानी शर्मा के पति रोहित ने बताया कि 29 अप्रैल, 2015 को जब रानी शर्मा प्रेग्नेट थी तो उसे ब्रेन स्ट्रोक हो गया। इसके चलते उसे तुरंत इलाज के लिए डीएमसी लुधियाना लेकर गए। यहां पर डाक्टरों ने बताया कि रानी को हाइपोक्सिया हो गया है। इस वजह से वह कोमा में चली गई है। रोहित ने बताया कि 13 वर्षीय बेटी अब आठवीं कक्षा में पढ़ाई कर रही है।

यह भी पढ़ेंः पंजाब में सीनियर सहायक का अनोखा कारनामा, बेटे को कागजों में भतीजा दिखा दिलाई सरकारी नौकरी; चंडीगढ़ तक जुड़े घपले के तार

भाई को थी उम्मीद- जल्दी ठीक होगी बहन

हनीश के बुआ के बेटे संत प्रकाश ने बताया कि बहन रानी शर्मा की शादी होशियारपुर के रोहित के साथ हुई थी। बच्ची के जन्म के बाद रानी 29 अप्रैल, 2015 को बीमार हो गई और कोमा में चली गई। ससुराल वाले रानी को डीएमसी ले गए पर कोई फायदा न होने पर फिर सरकारी अस्पताल होशियारपुर भर्ती करवाया गया, जहां हनीश बहन रानी के पास सारा दिन रहता था और उसकी सेवा करता था। उसे उम्मीद थी कि रानी जल्द ही स्वस्थ हो जाएगी। मगर रानी ने 14 मार्च को दम तोड़ दिया। सदमे में हनीश ने अगले दिन घर में पड़ा कोई जहरीला पदार्थ निगल लिया। उसे पहले सरकारी अस्पताल ले गए, वहां से गंभीर हालत में प्राइवेट अस्पताल रेफर कर दिया गया। यहां पर इलाज के दौरान हनीश ने दम तोड़ दिया। पुलिस ने संत प्रकाश के बयान पर मामला दर्ज करके शव का पोस्टमार्टम करवाकर परिजनों को सौंप दिया है।

यह भी पढ़ेंः अमृतसर में आपरेशन के दौरान बटाला के पार्षद की पत्नी की मौत, अस्पताल में हंगामा

 

 

 

 

 

 

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें