कुल्‍लू/शिमला, जागरण टीम। Himachal Pradesh Kullu Cloud Burst, हिमाचल प्रदेश में आफत की बारिश हुई है। कुल्‍लू जिला के मणिकर्ण में बादल फटने से तीन कैंपिंग साइट बह गई। इसके अलावा छह कैफे, एक होम स्‍टे व गेस्‍ट हाउस भी बाढ़ की चपेट में आ गए। इस हादसे में चार लोग बह गए। बादल फटने के बाद मणिकर्ण के चोझ में पार्वती नदी में बाढ़ आने से यह हादसा हुआ। बाढ़ से भारी नुकसान हुआ है। बाढ़ की चपेट में आकर चार पुल भी बह गए हैं। मलाणा में एक महिला बाढ़ की चपेट में आकर बह गई है। कैंपिंग साइट से चार लोग व मलाणा की एक महिला को मिलाकर कुल पांच लोग बाढ़ की चपेट में आए हैं। मलाणा में नाले में बह गई महिला का एक वीडियो भी सामने आया है। पुल बह जाने के कारण एनडीआरएफ टीम को भी मौके पर पहुंचने काफी मशक्‍कत करनी पड़ी।

यह भी पढ़ें: क्‍यों फटता है बादल... कैसे आती है तबाही? हिमाचल के छह जिले संवेदनशील, इस तरह टाला जा सकता है नुकसान

ये चार लोग लापता

  1. रोहित निवासी सुन्दरनगर (मंडी )
  2. कपिल निवासी पुष्कर (राजस्थान)
  3. राहुल चौधरी धर्मशाला (कांगड़ा)
  4. अर्जुन बंजार (कुल्लू)

ब्‍यास में गिरी कार, दो लापता

जिला कुल्‍लू में ही बबेली के पास एक ब्‍यास नदी में गिर गई। नदी का जलस्‍तर बहुत ज्‍यादा होने के कारण दो लोग इसमें बह गए, जिनका कोई सुराग नहीं लग पाया है। ड्राइवर को लोगों ने रेस्‍क्‍यू कर अस्‍पताल पहुंचाया है।

विस्‍तार से यहां पढ़ें: कुल्‍लू के बबेली में ब्‍यास नदी में गिरी कार, तीन लोग थे सवार, दो पानी के तेज बहाव में बह गए

मणिकर्ण में हुआ यह नुकसान

खेमराज पुत्र हरि सिंह  के गेस्ट हाउस में मलबा आने से छह कमरे क्षतिग्रस्त हो गए। इसके अलावा एक मछली फार्म व गोशाला चार गाय के साथ बह गई है। तीन कैपिंग साइट मलबे में नष्ट हुई हैं। हीरालाल, लता देवी, पैने लाल व पन्ना लाल के ढाबे बह गए हैं। पैने राम का मकान व नानक चंद के मकान भी क्षतिग्रस्त हए हैं। दुनी चंद के मकान के दो कमरे भी क्षतिग्रस्त हुए हैं।

टेंट में सो रही लड़की पर गिरा मलबा

वहीं, शिमला जिला ढली में भूस्‍खलन से एक लड़की की मौत हो गई है, जबकि दो लोग घायल हैं। प्रशासन की ओर से राहत व बचाव कार्य किया गया है। हादसे में घायल दोनों लोगों को आइजीएमसी शिमला में उपचाराधीन किया गया है।

यह भी पढ़ें: Shimla Landslide: शिमला के ढल्‍ली में भूस्‍खलन की चपेट में आए टेंट में सो रहे तीन लोग, 14 साल की लड़की की मौत

बाढ़ में बह गए चार पुल

चोझ में बना पुल भी बाढ़ की चपेट में आकर बह गया है। इसके अलावा तीन अन्‍य छोटे पुल भी बह गए हैं। नदी अभी भी उफान पर है। पंचायत प्रधान ने पांच लोगों के ही लापता होने की जानकारी दी है। लेकिन रात व बचाव कार्य जारी है।

पुल बहने से जिला प्रशासन घटनास्‍थल तक नहीं पहुंचा

बादल फटने से 33 केबी एचपीपीसीएल की लाइन, हरीसन की हाई वोल्टेज की लाइन भी क्षतिग्रस्त हुई है। बादल फटने से पार्वती नदी के उपर बने चोझ पुल के बहने से जिला प्रशासन की टीम घटना स्थल तक नहीं पहुंच पा रही है। चोझ में न तो बिजली न पानी की सुविधा है। यहां रह रहे लोग डर के साये में है। चोझ गांव में पेयजल पाइप लाइन क्षतिग्रस्त होने से लोग परेशान है।

यह बोले पंचायत प्रधान

चोंज पंचायत के प्रधान चुन्‍नी लाल के अनुसार बाढ़ में पांच लोगों की बहने की आशंका है। इसमें दो पर्यटक दो रसोइये व एक कैंपिंग साइट संचालक शामिल है। अभी राहत व बचाव कार्य जारी है। हालांकि प्रशासन ने चार लापता लोगों के नाम सूची जारी की है।

पुलिस अधीक्षक कुल्‍लू गुरदेव शर्मा का कहना है राहत एवं बचाव कार्य के लिए टीम तुरंत रवाना कर दी गई थी। पुलिस व प्रशासन पड़ताल कर रहे हैं। भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है। मौसम का रुख देखते हुए लोग यात्रा करने से बचें।

यह भी पढ़ें: Manikaran Cloudburst: मणिकर्ण में बादल फटने के बाद लारजी व पंडोह बांध के गेट खोले, इन जिलों में अलर्ट जारी

यह भी पढ़ें: Himachal Weather ALERT: प्रदेश के दस जिलों में भारी बारिश को लेकर आरेंज अलर्ट, एडवायजरी जारी

Koo App
खराब मौसम के चलते जिला शिमला और कुल्लू में भूस्खलन से लोगों के हताहत होने की सूचना अत्यंत दुःखद है। ईश्वर दिवंगत आत्माओं को शांति एवं शोकग्रस्त परिवारजनों को संबल प्रदान करें। प्रदेशवासियों से आग्रह है कि बरसात के मद्देनजर भूस्खलन संभावित क्षेत्रों तथा नदी-नालों के करीब न जाएं। खराब मौसम को देखते हुए अनावश्यक सफर से बचें। सरकार और प्रशासन का सहयोग करें।
- Jairam Thakur (@jairamthakurbjp) 6 July 2022

Edited By: Rajesh Kumar Sharma