मुजफ्फराबाद, रायटर। कश्मीर से Article 370 हटाए जाने के बाद पाकिस्तान पूरी तरह से बौखला गया है।  अंतरराष्ट्रीय मंच पर फजीहत के बाद गुलाम कश्मीर के मुजफ्फराबाद में इमरान खान ने रैली की है। कश्मीर को लेकर फिर से पाकिस्तानी जनता को इमरान खान ने झूठ बताया है। इमरान ने गुलाम कश्मीर से पाकिस्तान के युवाओं को घुसपैठ के लिए भी उकसाया है। रैली से बोलते हुए इमरान ने कहा कि LoC पर अभी न जाना, मैं बताऊंगा कब जाना है। रैली के दौरान इमरान खान की बौखलाहट साफ नजर आ रही थी। यूनाइटेड नेशन में कई बार मात खाने के बाद इमरान खान ने एक बार फिर कश्मीर मुद्दे पर यूएन जाने की भी बात कही है।

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 को हटाने के भारत सरकार के फैसले से पाकिस्तान बुरी तरह बौखलाया हुआ है और वहां के नेता लगातार भड़काऊ बयानबाजी कर रहे हैं। रैली के दौरान इमरान खान ने कबूल किया कि भारत के आर्थिक हितों के कारण दुनिया के मुस्लिम देशों को भी पाकिस्तान को साथ नहीं मिला है। इमरान ने कहा कि कश्मीर मुद्दा एक बड़ा संकट है।

इमरान की बौखलाहट
पाकिस्तानी प्रधानमंत्री ने कहा कि वह अगले हफ्ते न्यूयॉर्क में संयुक्त राष्ट्र आमसभा में कश्मीर का मसला उठाएंगे। इसके साथ ही इमरान ने कहा कि वह न्यूयॉर्क जा रहे हैं, वहां पर पूरा मामला रखेंगे और दुनिया का समर्थन मांगेंगे।

इससे पहले, विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी और एजेके राजा फारूक हैदर ने सभा को संबोधित किया था। बुधवार को ट्विटर पर पोस्ट किए गए एक संदेश में, इमरान ने पहले कहा था कि रैली का उद्देश्य दुनिया को दिखाना होगा कि पाकिस्तान के लोग कब्जे वाले कश्मीर के लोगों के साथ एकजुटता में खड़े हैं।

रानीतिक कार्यकर्ता ने रैली को बताया फ्लॉप
वहीं, गुलाम कश्मीर के राजनीतिक कार्यकर्ता अमजद अयूब मिर्जा ने इमरान की रैली को पूरी तरह से फ्लॉप बताया है। गुलाम कश्मीर के मुजफ्फराबाद में इमरान की रैली को पोल खोलते हुए कहा कि भीड़ बढ़ाने के लिए लोग एबटाबाद और रावलपिंडी से ट्रकों में ले जाए गए थे। इसके साथ ही अयूब मिर्जा ने कहा कि गुलाम कश्मीर के लोगों ने रैली का पूरी तरह से बहिष्कार किया है। दुनिया को इस पर वहां के लोगों को बधाई देना चाहिए।

रैली से पहले इमरान खान ने ट्वीट किया था कि भारतीय कब्जे वाली ताकतों द्वारा IOJK की लगातार घेराबंदी के बारे में दुनिया को संदेश देने के लिए, और कश्मीरियों को यह दिखाने के लिए कि पाकिस्तान उनके साथ बिल्कुल खड़ा है, मुजफ्फराबाद में एक बड़ा जलसा करने जा रहा हूं।'

इसे भी पढ़ें: 48 साल बाद बांग्लादेश ने सीमा पर लगे पिलर्स से हटाया पाकिस्तान का नाम

गौरतलब है कि मंगलवार को पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद में जम्मू-कश्मीर का मामला उठाया था। पाकिस्तान की इस हरकत पर भारत ने कड़ा एतराज जताया था। कहा था वह आतंकियों को कश्मीर में भेजकर हालात बिगाड़ता है और दिखावे के लिए कश्मीरियों से हमदर्दी जताता है।

इसे भी पढ़ें: UNHRC Session: भारत का करारा जवाब- पीओके, बलूचिस्तान और सिंध में हत्‍याओं और उत्‍पीड़न पर ध्‍यान दे पाक

इसे भी पढ़ें: आतंक का अड्डा है पाकिस्तान, भारत ने संयुक्त राष्ट्र के मंच पर इमरान सरकार को लगाई लताड़

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप

budget2021