ढाका, आइएएनएस। मुक्ति संग्राम के 48 साल बाद बांग्लादेश ने सीमा पर लगे सभी स्तंभों (पिलर्स) से पाकिस्तान का नाम हटा दिया है। 1947 में पूर्वी पाकिस्तान को विभाजित करने वाली सीमा पर इन पिलर्स को स्थापित किया गया था।

प्रधानमंत्री शेख हसीना की निर्देश पर बॉर्डर गार्ड ऑफ बांग्लादेश (BGB) ने अपने कोष से इस कार्य को पूरा किया है। मालूम हो कि 1971 में भारत-पाकिस्तान युद्ध के बाद बांग्लादेश पृथक राष्ट्र के रूप में अस्तित्व में आया था। BGB ने मीडिया को एक बयान जारी कर बताया कि बांग्लादेश के सभी बॉर्डर पिलर्स पर पाकिस्तान/PAK के स्थान पर बांग्लादेश/BD अंकित कर दिया गया है।

भारत और पाकिस्तान के विभाजन के बाद सीमा पर 8,000 से ज्यादा पिलर्स स्थापित किए गए थे। इन पर भारत/पाक (भारत-पाकिस्तान) अंकित था। ये पिलर्स सीमावर्ती इलाकों सतखिरा, जेसोर, चुडंगा, कुश्तिया, राजशाही, चपाईनवाबगंज, नौगांव, मेमेनसिंह, जमालपुर, सुनामगंज, सिलहट, ब्राह्मणबरिया, कोमिला और चटगांव इलाकों में स्थापित किए गए थे। 

इसे भी पढ़ें: इमरान की फिर गीदड़भभकी, कश्मीर को लेकर पाकिस्तान फिर जाएगा यूनाइटेड नेशन

इसे भी पढ़ें: यमन में UN मिशन की अगुआई करेंगे भारत के अभिजीत, सौंपी गई अहम जिम्मेदारी

Posted By: Dhyanendra Singh

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस