हल्द्वानी, जेएनएन : गौला खोलने को लेकर वन निगम असमंजस में आ चुका है। तीस अप्रैल से तीन गेटों से निकासी शुरू होनी थी। उस दौरान संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए नियमों का पालन करवाना निगम के लिए संभव नहीं हो पाएगा। लिहाजा, एमडी को पत्र भेज सत्र के दौरान आने वाली दिक्कतों से अवगत कराया जाएगा।

लॉकडाउन की वजह से नदियों में खनन बंद कर दिया गया था। सिर्फ गौला से करीब तीस करोड़ का राजस्व अटका हुआ है। हाल में हुई जिला खनन समिति की बैठक में तीस अप्रैल तक तीन गेटों को खोलने के निर्देश दिए गए थे। निगम के अधिकारियों के मुताबिक मजदूरों के नदी में प्रवेश करने व काम कर लौटने पर दो बार मेडिकल जांच करने को कहा गया था। चालक भी इस श्रेणी में शामिल है। नदी की एक खदान में बीस से 25 लेबर एक साथ काम करते हैं। रात में झुग्गी-झोपडिय़ों में इनका ठिकाना होता है।

ऐसी स्थिति में श्रमिकों के बीच शारीरिक दूरी नियम का पालन करवाना बेहद मुश्किल होगा। वहीं, खनन के दौरान बाहरी लोगों का आवागमन भी चालू हो जाएगा। जिस वजह से निगम के लिए हर व्यक्ति को चिन्हित करना संभव नहीं होगा। वहीं, डीएलएम जेपी भट्ट ने बताया कि इन तमाम समस्याओं को लेकर एमडी को पत्र भेजा जा रहा है। मुख्यालय के निर्देश पर आगे का फैसला लिया जाएगा।

यह भी पढें

रिवर्स पलायन करने वालों को गोपाल ने दिखाई राह, सेब बागान व जैवकि खेती से संवार रहे भवि‍ष्य

Lockdown : लॉकडाउन में बाघ, तेंदुए, हाथी कन्फ्यूज, समझ नहीं पा रहे जंगल का दायरा

Uttarakhand Lockdown : सशर्त अनुमति पर नैनीताल जिले में 115 उद्योग शुरू हुए

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप