लालकुआं, जागरण संवाददाता : पिछले दो दिन से लगातार हो रही मूसलाधार बरसात की वजह से गौला नदी का जलस्तर खतरे के निशान से ऊपर बह रहा है। इस बीच हल्दूचौड़ और लालकुआं के बीच हाटा ग्राम के पास गौला नदी के बीचो-बीच बने टापू में एक हाथी फंस गया है। इसके अलावा गौला के तटवर्ती क्षेत्रों में जबरदस्त भू कटाव हो रहा है, जिस कारण लोगों ने घरों को छोड़कर सुरक्षित स्थान में शरण ली है।

गौरतलब है कि नदी में सुबह से ही 90 हजार क्यूसेक पानी छोड़ा गया है। गौला नदी के जल प्रलय और दोनों तरफ उठान के बीचो बीच एक टापू पर हाथी फंसा हुआ है जो इधर उधर जाने का प्रयास कर रहा है। हाथी के फंसे होने की सूचना पर वन विभाग की रक्षा टीम भी मौके पर पहुंच गई है। लेकिन पानी का बहाव अधिक होने के कारण कोई भी कुछ करने की स्थिति में नहीं है। इसके अलावा बिंदुखट्टा के इंदिरा नगर रावत नगर पुलिया खता क्षेत्रों में गौला नदी द्वारा जबरदस्त भूकटाव किया जा रहा है। बिन्दुखत्ता के तटवर्ती क्षेत्र में कई ग्रामीणों ने अपने घरों को छोड़कर सुरक्षित स्थानों में शरण ली है।

इसके अलावा बिन्दुखत्ता लाल कुआं के आसपास के बस्तियों में बाढ़ की स्थिति बनी हुई है। गत रात्रि पानी भरने के बाद खड्डी मोहल्ला के लोगों ने गुरुद्वारा में शरण ली है। इधर लालकुआं काशीपुर रेलवे ट्रैक पर मलबा आने के कारण गत रात्रि आगरा फोर्ट को जा रही रामनगर आगरा फोर्ट रेलगाड़ी को वापस रामनगर ले जाया गया। जबकि पुरवोत्तर रेलवे ने लालकुआं से आने और जाने वाली सभी रेल गाड़ी को निरस्त कर दिया है।

यह भी पढ़ें 

अल्‍मोड़ा जिले में बारिश बनी काल, पांच लोगों की मलबे में दबकर मौत 

बारिश में बह गए कार्बेट नेशनल पार्क में जिप्सी सफारी के रूट, पर्यटन शुरू होने में लगेगा वक्‍त 

गौला नदी ने दिखाया रौद्र रूप, विशालकाय हाथी फंसा, लोगों ने सुरक्षित स्‍थानों पर ली पनाह 

उत्‍तराखंड की नदियां उफान पर, 2013 जैसे आपदा के हालात 

गौला नदी ने दिखाया रौद्र रूप, बह गया काठगोदाम रेलवे स्टेशन का ट्रैक, कई ट्रेनें स्‍थगित 

गौला पुल की सड़क भरभरा कर नदी में समाई, पुलिस-प्रशासन ने आवागमन रोका 

">हरिद्वार से एसडीआरएफ की दो टीमें बचाव कार्य के लिए पहुंचेंगी हल्द्वानी और रुद्रपुर 

Edited By: Skand Shukla