हल्द्वानी, जेएनएन : कोरोना संक्रमण को देखते हुए डंपरस्वामियों ने गौला को इस सत्र में बंद रखने की मांग की है। वन निगम के अफसरों को भेजे पत्र में कहा कि बड़ी संख्या में मजदूरों के नदी में काम करने की वजह से शारीरिक दूरी नियम का पालन नहीं हो सकेगा। और प्रशासन द्वारा अब तक की गई मेहनत भी कमजोर साबित होगी।

कोरोना संक्रमण के डर से हर तरह की व्यवासायिक गतिविधियों पर रोक है। हाल में प्रशासन ने वन निगम व वन विभाग के अधिकारियों संग बैठक लेकर कहा था कि &0 अप्रैल के बाद नदी को चालू किया जाए। शुरूआत में तीन गेटों को खोला जाए। वहीं, अब गौला संघर्ष समिति अध्यक्ष पम्मी सैफी, अरशद अयूब, पृथ्वी पाठक, संजय बोरा, मनोज पाठक व डंपर एसोसिएशन के अध्यक्ष मनोज मठपाल ने कहा कि एक ही खदान में 20-25 मजदूर काम करते हैं। एक झोपड़ी में 20 मजदूर एक साथ रहते हैं। ऐसे में संक्रमण का खतरा और बढ़ेगा। समिति अध्यक्ष पम्मी सैफी ने कहा कि महामारी को देखते हुए इस सत्र को स्थगित कर दिया जाए। वैसे भी अधिकांश माल पहले निकल चुका है।

यह भी पढें 

लॉकडाउन के कारण बिगड़ी अर्थव्यवस्था, पीएफ फंड आ रहा काम

गाइडलाइन के फेर में फंसे नेपाल, उप्र और बिहार के लोग

हवा में जहर और पानी की गंदगी में कमी, आराम कर रही जमीं

लॉकडाउन में पहाड़ी उत्पादों ने दिखाई स्टार्टअप की राह, विदेशों में बढ़ी डिमांड

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप