नैनीताल जेएनएन : कोरोना वायरास के संक्रमण को रोकने के लिए जारी लॉकडाउन में देश भर में फंसे लोगों की मदद को कांग्रेस ने एक मोबाइल एप लांक किया है। देवभूमि सेवा नाम के एप जरूरतमंद लोगों के बारे में जानकारी जुटाई जाएगी। जिससे कि इन लोगों तक मदद पहुंचाई जा सके। यह जानकारी  कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष प्रीतम सिंह और प्रदेश कांग्रेस कमेटी के विशेष आमंत्रित सदस्य मनीष खंडूडी ने दी। 

राज्य सरकार, शासन और प्रशासन को ऐसे लोगों की सूचना दी जाएगी। कहा कि देश भर में और राज्य के भीतर भी लोग फंसे हुए हैं। अधिकतर लोग फैक्ट्रियों व होटलों में काम करते हैं। लॉकडाउन के कारण बेरोजगार हैं। कई जगह छात्र भी फंसे हैं। घर नहीं आ पा रहे हैं।  उन्होंने बताया कि इस एप के जरिए लोगों को पता चल सकेगा कि उन्हें नजदीकी मदद कहां और कैसे मिल सकती है। इसकी जानकारी एप में रहेगी।

फंसे लोगाें को लाने का नहीं किया कोई इंतजाम

अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने कहा कि लोगों को उम्मीद थी कि 14 अप्रैल को लॉकडाउन के बाद वे अपने घर वापस जा सकेंगे। अब ये लोग तीन मई तक फंस गए हैं। इन्हें वापस लाने के कोई इंतजाम नहीं हुए। लोग असुरक्षित महसूस कर रहे हैं। इन लोगों को इस एप से मदद मिलेगी। इस अवसर पर पूर्व एमएलए विक्रम नेगी भी मौजूद रहे।दूसरे राज्यों की सरकारें अपने लोगों की मदद आगे बढ़ कर काम कर रही है।

प्रदेश सरकार पर बरसे प्रीतम सिंह 

प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष प्रीतम सिंह ने बताया कि उत्तराखंड सरकार दूसरे राज्यों में फंसे अपने लोगों की मदद करने की बजाय हरिद्वार में फंसे गुजरात के लोगों की मदद को बसें भेजती है। वे बसें गुजरात से लौटते हुए खाली लौटती हैं, लेकिन राज्य के लोगों को लेकर नहीं आती। जो लोग आते भी हैं, उन्हें हरियाणा, राजस्थान के बॉर्डर पर उतार दिया जाता है। वहीं नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि इस एप की मदद से बाहर फंसे जरूरतमंद लोगों की मदद हो सकेगी।

यह भी पढें 

लॉकडाउन में बाघ, तेंदुए, हाथी कन्फ्यूज, समझ नहीं पा रहे जंगल का दायरा

लॉकडाउन के कारण बिगड़ी अर्थव्यवस्था, पीएफ फंड आ रहा काम

गाइडलाइन के फेर में फंसे नेपाल, उप्र और बिहार के लोग

 

Edited By: Skand Shukla