शिमला, जागरण संवाददाता। Dr Suggestions On Coronavirus, प्रदेशभर में कोरोना संक्रमण एक बार फिर बढ़ता नजर आ रहा है। रोजाना दर्जनों मामले सामने आ रहे हैं। ऐसे में एहतिहात के साथ वैक्सीन लगवाना बेहद जरूरी हो गया है। यह कहना है आइजीएमसी के मेडिसिन विभाग के विशेषज्ञ डॉक्टर संजय महाजन का। उन्होंने कहा कि वरिष्ठ नागरिकों के साथ 45 से 59 आयुवर्ग के लोगों को वैक्सीन जरूर लगानी चाहिए। वैक्सीन पूरी तरह सुरक्षित है और इससे इम्यूनिटी बढ़ती है और शरीर पर कोरोना संक्रमण का असर नहीं होता। उन्होंने कहा कि अति आवश्यक न हो तो घर से बाहर न निकलें। कोरोना के संक्रमण को रोकने के लिए सरकारी निर्देशों का पालन करें।

इसके अलावा साबुन से बीच-बीच में हाथ धोते रहना जरूरी है। जब भी कोई व्यक्ति बात करता है, खांसता है, छींकता है, तो छोटी-छोटी बूंदे मुंह या नाक से बाहर निकलती हैं। इन बूंदों को एरोसोल कहा जाता है, जिसके साथ वायरस भी बाहर आता है। यदि वह व्यक्ति कोरोना संक्रमित है, तो कोरोना वायरस बाहर निकल कर दूसरे व्यक्ति तक पहुंच जाता है। इसलिए शारीरिक दूरी बनाने की बात कही जाती है।

यह भी पढ़ें: कर्फ्यू का उल्‍लंघन करने वालों पर ड्रोन व सीसीटीवी कैमरा से नजर, ग्रामीण इलाकों में ज्‍यादा गश्‍त करेगी पुलिस

यह भी पढ़ें: Himachal Corona Curfew Guidelines: हिमाचल में आज से कड़ी बंदिशें, हर जिले में सड़कों पर पुलिस का पहरा

इसके अलावा सार्वजनिक स्थान पर किसी वस्तु जैसे टेबल, कुर्सी, रेङ्क्षलग या कोई भी ऐसी वस्तु जिसके आस-पास किसी संक्रमित व्यक्ति ने छींका, खांसा हो, उस सतह या वस्तु को छूने के बाद अगर हम अपने मुंह, नाक और आंखों को छूते हैं, तो कोरोना वायरस हमारे शरीर में प्रवेश कर जाता है। इसीलिए बीमारी से बचने के लिए सभी को मास्क पहनने और भीड़ से बचने को कहा जाता है।

यह भी पढ़ें: Himachal Covid Cases Update: एक्‍ट‍िव केस 32 हजार के पार, 24 घंटे में रिकॉर्ड मरीजों की मौत

यह भी पढ़ें: महंगाई और जमाखोरी ने थाली से गायब की दालें, बेहतर उत्पादन होने पर भी आसमान छूने लगे दाम, जानिए वजह

यह भी पढ़ें: Dr Suggestions On Coronavirus: अफवाहों पर ध्‍यान देकर गलत दवा न लें, ये मरीज रखें खास ख्‍याल