Move to Jagran APP

Exclusive: 'बम बहादुर' को लेकर दुविधा में थे अमित कुमार मौर्या, 'पंचायत 3' के इस कैरेक्टर पर आया था उनका दिल

ओटीटी की हिट सीरीज पंचायत 3 में बम बहादुर का किरदार निभाने वाले अमित कुमार मौर्या (Amit Kumar Maurya) ने अपने अभिनय से दर्शकों के दिलों में जगह बनाई है। शो में उनका रोल छोटा लेकिन दमदार रहा। मगर जिस किरदार के लिए उन्होंने वाहवाही लूटी है वह उनकी पसंद तो था नहीं। अमित कुमार मौर्या ने दैनिक जागरण से इस बारे में बातचीत की।

By Karishma Lalwani Edited By: Karishma Lalwani Published: Tue, 11 Jun 2024 05:59 PM (IST)Updated: Tue, 11 Jun 2024 05:59 PM (IST)
'पंचायत 3' एक्टर अमित कुमार मौर्या. फोटो क्रेडिट - जागरण

करिश्मा लालवानी, नई दिल्ली। 'पंचायत 3' लोगों के बीच पॉपुलर सीरीज है। इस शो का हर किरदार मशहूर हुआ है। 'सचिव जी' से लेकर 'विधायक जी' तक ने अपना रुतबा दिखाया है। मगर इन सबके बीच एक किरदार ऐसा है, जिसने अपनी अलग ही छाप छोड़ी है। वह जिसकी एंट्री शो में आधे एपिसोड बीतने के बाद हुई, लेकिन जब वह आया, तो उसकी सादगी और गलत के खिलाफ बोलने की आदत से लोगों को प्यार हो गया। हम बात कर रहे हैं 'बम बहादुर' की। इस रोल को प्ले करने वाले अमित कुमार मौर्या ने जागरण डॉट कॉम से बातचीत में अपने पसंदीदा किरदार के बारे में बताया।

पसंद किए जा रहे बेबाक 'बम बहादुर'

अमित कुमार मौर्या ने 'बम बहादुर' के किरदार को सिर्फ निभाया ही नहीं, बल्कि जिया है। इसके लिए उन्होंने खूब मेहनत की। वह भी तब, जब ये किरदार उनकी पहली पसंद नहीं था। अमित कुमार मौर्या तो किसी और भूमिका में ही खुद को ढालना चाहते थे, लेकिन किस्मत को शायद कुछ और ही मंजूर था। उन्हें 'पंचायत' में काम करने का मौका मिला, लेकिन 'बम बहादुर' बनकर।

महाराजगंज से आने वाले अमित कुमार मौर्या ने यहां तक का रास्ता अपने दम पर तय किया है। आर्थिक स्थिति ठीक न होने के बावजूद उन्होंने ग्लैमर इंडस्ट्री में अपना रास्ता बनाकर साबित किया कि यहां लुक्स से ज्यादा टैलेंट की कद्र है। 'पंचायत 3' में उन्हें 'बम बहादुर' बनने पर लोगों का खूब प्यार मिला है। उनकी पर्सनालिटी निडर और बेखौफ गांव वाले की है, जो एक कबूतर के लिए विधायक से लड़ जाता है।

'बम बहादुर' नहीं बनना चाहते थे अमित कुमार मौर्या

जिस कैरेक्टर के लिए उन्हें इतना प्यार मिल रहा है, उसे करने में उनकी जरा भी दिलचस्पी नहीं थी। अमित कुमार मौर्या ने बताया कि वह तो 'नए सचिव' बनना चाहते थे। इसके लिए ऑडिशन भी दिया, मगर बात नहीं बनी। उनका सिलेक्शन तो हुआ, लेकिन बम बहादुर वाले रोल के लिए, जिसे उन्होंने पहली ही फुर्सत में ठुकरा दिया था।

अमित ने बताया कि एक तो ये रोल उनके पसंद का नहीं था। फिर शो में इस किरदार की डिमांड दो दिन की ही थी। कम स्क्रीन टाइम के डर से उन्होंने इस रोल को करने से मना कर दिया। ये वो वक्त था, जब उन्हें एक चमकता सितारा बनाने में उनके दोस्तों ने अहम भूमिका निभाई।

रिजेक्शन के बाद भी इस कारण रोल को कहा हां

अमित ने बताया कि दोस्तों के समझाने पर ही उन्होंने 'बम बहादुर' के रोल को हां कहा था। दोस्तों ने समझाया कि कभी-कभी छोटे से छोटा रोल भी बड़ा कमाल कर देता है। यह TVF के प्लेटफॉर्म पर काम करने का सुनहरा मौका है, इसमें रोल कैसा भी हो और कितना ही छोटा हो, मना नहीं करना चाहिए। तब जाकर किरदार की अहमियत को समझते हुए अमित 'बम बहादुर' बनने के लिए तैयार हुए। इसके बाद उनका स्क्रीन टेस्ट और ऑडिशन हुआ। फाइनल राउंड के बाद अमित को 'पंचायत 3' के लिए साइन कर लिया गया।

'सचिव जी' के साथ है ऐसा रिलेशन

पंचायत के एक्टर्स के साथ अमित कुमार मौर्या का रिलेशन किसी फैमिली मेंबर से कम नहीं है। सचिव जी का रोल प्ले करने वाले जितेंद्र कुमार (Jitendra Kumar) उनके लिए बड़े भैया की तरह हैं। अमित ने बताया कि नीना गुप्ता (Neena Gupta) को वह 'बड़की अम्मा' की तरह मानते हैं। सभी के साथ उनकी अच्छी और इमोशनल बॉन्डिंग बन गई है।

यह भी पढ़ें: Exclusive: लॉकडाउन में खुद को खत्म करना चाहते थे अमित कुमार मौर्या, कैमरामैन से यूं बने पंचायत 3 के 'बम बहादुर'


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.