Move to Jagran APP

Exclusive: 'पंचायत 3' के जगमोहन से छिन गया था 'ड्रीम गर्ल 2' में बड़ा रोल, ढाई साल तक झेला रिजेक्शन

पंचायत 3 में जगमोहन का किरदार निभाने वाले विशाल यादव (Vishal Yadav) ने दर्शकों के दिल पर अपने अभिनय की छाप छोड़ दी है। सालों तक थिएटर करने के बाद पंचायत 3 ने उनकी किस्मत हमेशा के लिए बदल दी। हाल ही में विशाल यादव ने दैनिक जागरण के साथ बातचीत में अपने करियर को लेकर खुलकर बात की है।

By Rinki Tiwari Edited By: Rinki Tiwari Published: Mon, 10 Jun 2024 04:18 PM (IST)Updated: Mon, 10 Jun 2024 04:18 PM (IST)
विशाल यादव के पंचायत 3 के जगमोहन बनने की कहानी। फोटो क्रेडिट- इंस्टाग्राम

रिंकी तिवारी, नई दिल्ली। हिट सीरीज 'पंचायत' का तीसरा सीजन (Panchayat 3) रिलीज के बाद से ही चर्चा में है। इस सीजन में कुछ नए किरदार आये, जिन्होंने दर्शकों के दिलों पर गहरी छाप छोड़ी। इनमें से एक जगमोहन भी हैं, जिसे विशाल यादव ने निभाया है। 

विशाल यादव ने दैनिक जागरण के साथ बातचीत में बिहार के आरा से निकलकर दिल्ली में थिएटर करने और मुंबई में रिजेक्शन और 'पंचायत 3' में आने तक का सफर बताया है। जानिए उन्होंने क्या-क्या कहा...

स्कूल के दिनों से शुरू की एक्टिंग

साल 2019 में दिल्ली से मुंबई आये विशाल स्कूल के दिनों से ही होमटाउन आरा में ड्रामों में पार्टिसिपेट किया करते थे। धीरे-धीरे वह एक थिएटर ग्रुप से जुड़े और शिव चंद भूषण पांडे उनके गुरु बने, जिन्होंने उन्हें प्रोफेशनल एक्टिंग की ट्रेनिंग दी और दिल्ली स्थित मंडी जाने की नसीहत दी। फिर 12वीं पास करने के बाद ही विशाल दिल्ली आ गये और यहां थिएटर करने लगे।

Vishal Yadav Panchayat Jagmohan

इस दौरान विशाल सिंह ने प्रकाश झा और मनोज बाजपेयी समेत कई बेहतरीन फिल्में देखीं और हॉलीवुड मूवीज से अभिनय का पाठ लिया। इस दौरान उनके माता-पिता ने उनका बहुत साथ दिया। जब वह दिल्ली में थे, तब उनके बड़े भाई ने उन्हें फाइनेंशली सपोर्ट किया और जब मुंबई गये तो बहन सहारा बनीं। फैमिली से कभी कोई दबाव नहीं था। उनके परिवार ने उन्हें फाइनेंशली और मेंटली बहुत सपोर्ट किया।

पंचायत 3 के बाद बदली जिंदगी

बहुत प्यार मिल रहा है। मैंने कभी सोचा भी नहीं था कि इतना ज्यादा प्यार मिलेगा। मेरे लिए दुनिया बदल गई है। अगर बाहर जाता हूं तो लोग मुझे पहचानने लगे हैं। लोग मेरे साथ सेल्फी लेते हैं। किरदार का प्रभाव दर्शकों पर बहुत ज्यादा है। लोग इमोशनली किरदार से बहुत रिलेट कर पा रहे हैं। जिस दिन शो रिलीज हुआ था, उसके अगले दिन ही एक आदमी आया है और उसने पूछा, 'आप जगमोहन हैं क्या?' मैंने कहा, 'हां।' तो वह मेरा हाथ पकड़कर रोने लगे।

Panchayat Actor

विशाल यादव ने कहा कि वह यह देखकर हैरान रह गये थे और आसपास के लोग भी हैरान होकर देख रहे थे। उन्होंने कहा कि उन्हें अपनी दादी से बहुत प्यार था और उन्होंने जैसे ही स्क्रीन पर जगमोहन को देखा तो वह रिलेट हो गये।

पंचायत में रोल कैसे मिला? 

यह ऑडिशन के जरिए मिला। मुंबई में एक कास्टिंग कंपनी है। उन्होंने मेरा ऑडिशन लिया। तीन राउंड ऑडिशन हुआ और फिर मैं सिलेक्ट हो गया।

पंचायत से पहले झेला रिजेक्शन

इससे पहले मैं बहुत सारी फिल्मों में शॉर्ट लिस्टेड हो रहा था। जो रोल मैं करना चाह रहा था, मैं शॉर्ट लिस्ट भी हो जा रहा था, लेकिन फाइनल नहीं हो रहा था। जब आप कोई फिल्म या वेब सीरीज करते हैं तो उसमें कई सारे कमर्शियल एंगल्स भी होते हैं। अगर आप कुछ बड़ा कर रहे हो तो सोचते हो कि इसमें कोई जाना-पहचाना एक्टर आ जाये।

Vishal Yadav Panchayat

निराश हो गये थे जगमोहन

बात सही भी है क्योंकि इंडस्ट्री कमर्शियल है और लोग उसी तरह सिलेक्शन भी करते हैं। मुझे बहुत दुख हो रहा था। ढाई-तीन साल तक तो मैं सिर्फ शॉर्ट लिस्ट हो रहा था, फिर एक समय आया जब मुझे लगा कि लोग अब मुझे लेना नहीं चाहते हैं। मुझे लगा कि लोग बस मुझे टहला रहे हैं। मुझे इस बात से बहुत निराशा होने लगी। हालांकि, इस बीच मुझे छोटे-छोटे काम भी मिल रहे थे।

यह भी पढ़ें- Panchayat 3 के उप प्रधान 'प्रहलाद चा' की पत्नी हैं बेहद खूबसूरत, धर्म की दीवार को तोड़ की थी शादी

ऑडिशन के बाद छिन गया था बड़ा रोल

आयुष्मान खुराना की फिल्म 'ड्रीम गर्ल 2' (Dream Girl 2) में मैंने बड़े रोल के लिए ऑडिशन दिया था, लेकिन मार्केट के हिसाब से चीजें फाइनल नहीं की गईं। डायरेक्टर की तरफ से कहा गया कि मैं अच्छा एक्टर हूं तो फिर उन्होंने फिल्म में छोटा सा किरदार करने के लिए कहा। मैंने कर लिया क्योंकि मुझे लगा कि इससे लोगों का मुझ पर विश्वास बढ़ेगा। लोगों ने मेरी सराहना भी की। इसके बाद मुझे एक ऐड भी मिला।

Panchayat 3

इनसिक्योरिटी फील नहीं करते हैं विशाल यादव

नहीं, बिल्कुल भी नहीं। बहुत सारे प्लेटफॉर्म्स आ गये हैं तो अब सहूलियत हो गई। इसलिए जो अपनी स्टोरी कहना चाहता है, जिस तरीके से कहना चाहता है। समय बदल गया है। जिस मेकर को मेरे साथ काम करना है तो वह मेरे जरिए ही अपनी स्टोरी कहनी है। कई सीरीज है, जिसमें नए लोग चाहिए और कुछ में पुराने। तो मुझे कभी इनसिक्योरिटी फील नहीं होती है।

सेट पर पहले दिन हुए नर्वस

विशाल सिंह ने कहा कि उन्होंने ब्रिज भूषण यादव बने रघुवीर यादव के साथ थिएटर के दिनों में काफी वर्कशॉप किये हैं। उनके लिए रघुवीर के साथ काम करना बड़ी बात थी। वह पहले दिन सेट पर काफी नर्वस हो गये थे, लेकिन रघुवीर यादव ने के सहज भाव ने माहौल को आसान बना दिया था। 

यह भी पढ़ें- Exclusive: लॉकडाउन में खुद को खत्म करना चाहते थे अमित कुमार मौर्या, कैमरामैन से यूं बने पंचायत 3 के 'बम बहादुर'


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.