PreviousNext

लोक संवाद में महिलाओं ने दिए एेसे सुझाव, सुनकर हंस पड़े सीएम नीतीश

Publish Date:Tue, 04 Apr 2017 08:30 AM (IST) | Updated Date:Tue, 04 Apr 2017 09:13 PM (IST)
लोक संवाद में महिलाओं ने दिए एेसे सुझाव, सुनकर हंस पड़े सीएम नीतीशलोक संवाद में महिलाओं ने दिए एेसे सुझाव, सुनकर हंस पड़े सीएम नीतीश
लोक संवाद कार्यक्रम में पहली बार सीएम नीतीश महिलाओं से रू-ब-रू हुए। शक्तिप्रिया ने कहा कि लड़कियों की शादी पढ़ाई पूरी होने के बाद हो, एेसा कानून बना दें, यह सुनकर नीतीश हंस पड़े।

 पटना [जेएनएन]। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने सोमवार को जनसंवाद कार्यक्रम में आधी आबादी की बातें सुनीं।  राज्य में महिलाओं के लिए क्या अतिरिक्त व्यवस्था की जानी चाहिए, उन्हें किस तरह की सुविधाएं चाहिए, इससे तमाम तरह की बातें मुख्यमंत्री ने सुनीं।

मुख्यमंत्री सचिवालय स्थित संवाद कक्ष में सोमवार को आयोजित लोक संवाद कार्यक्रम अपने आप में अनोखा था। पहली बार केवल महिलाओं के लिए लोक संवाद कार्यक्रम का आयोजन किया गया था। अलग-अलग क्षेत्र की तेरह महिलाओं ने मुख्यमंत्री को महिला हितों से संबंधित सुझाव दिए। महिलाओं ने मुख्यमंत्री को दहेज प्रथा, कॉमन रूम और महिला शिक्षा को लेकर अहम सुझाव दिए।

पटना के अनिसाबाद से आई शक्तिप्रिया ने जब मुख्यमंत्री को सुझाव दिया कि राज्य सरकार ऐसा कानून बनाये जिसमें लड़कियों की शिक्षा पूरी होने पर ही शादी की अनुमति दी जाए। शक्तिप्रिया के इस सुझाव पर सीएम सहित सभी मंत्री और अधिकारियों ने ठहाका लगाया।

सीएम ने कहा कि हम लोगों ने तो लड़कियों के शिक्षा के लिए कई कदम उठाये हैं, उन्हें साइकिल और ड्रेस की सुविधा मिल रही है, लड़कियां अब स्कूल जाने लगी हैं। लेकिन शादी पढ़ाई के बाद हो, एेसा कानून बनाना तो मुश्किल है।

महिलाओं के लिए कॉमन रूम बनाएं

पुनाईचक से आई सुनीता कुमारी ने कहा कि सरकारी दफ्तरों में महिलाओं के लिए कॉमन रूम बनाया जाए। इसके नहीं होने से महिला कर्मियों को काफी परेशानी होती है। मुख्यमंत्री ने संबंधित अधिकारियों को कहा कि इसे प्राथमिकता के आधार पर देखें। कॉमन रूम में शौचालय भी अनिवार्य रूप से बनाएं। अब तो यह इसलिए जरूरी है कि महिलाओं को नौकरियों में 35 प्रतिशत का आरक्षण दिया गया है। उनकी संख्या बढ़ेगी।

प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर दंत चिकित्सकों की नियुक्ति करें

दानापुर से आई डॉ. सुनीता तिवारी ने कहा कि प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्रों पर दंत चिकित्सक की बहाली करें। दांत से संबंधित बीमारियों के प्रति लोगों में जागरूकता भी जरूरी है। इस पर स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव आरके महाजन ने बीपीएससी के माध्यम से हो रही नियुक्ति प्रक्रिया की बात कही। मुख्यमंत्री ने कहा कि फिलहाल वाक इन इंटरव्यू के माध्यम से नियुक्ति तो हो ही सकती है।

रंगीन मछली पालन के संबंध में ट्रेनिंग दिलाएं

डॉ एमके कुमारी ने कहा कि महिलाओं को रंगीन मछलियों को पालने व कछुआ पालन के संबंध में ट्रेनिंग दी जाए। इससे आर्थिक फायदा होगा। महिला विकास निगम की अध्यक्ष एन विजयलक्ष्मी ने कहा कि नेशनल फिशरी बोर्ड को प्रस्ताव भेजा गया था और उसे स्वीकृति भी मिल चुकी है।

मिथिला पेंटिंग्स की शिक्षा प्राथमिक स्तर पर ही मिले

सहरसा से आयीं निशा कुमारी ने कहा कि मिथिला पेंटिंग्स की शिक्षा की व्यवस्था प्राथमिक स्तर से ही मिले सरकार इसकी व्यवस्था करे। सरकारी महकमों की वेबसाइट पर मिथिला पेंंिटंग्स की झलक दिखे। कला संस्कृति विभाग के प्रधान सचिव चैतन्य प्रसाद ने कहा कि मधुबनी के रहिका में संस्थान खोला जा रहा है। छह माह के कोर्स की आर्यभट्टï ज्ञान विश्वविद्यालय से अनुमति मिल गयी है। तीन वर्ष के पाठ्यक्रम की अनुमति मांगी गयी है। मुख्यमंत्री ने कहा कि 2011 में अपनी सेवा यात्रा के दौरान ही इस तरह के संस्थान की बात कही थी। संस्थान को भव्य बनाया जाना चाहिए।

शिक्षकेतर कर्मियों की नियुक्ति करें

कंकड़बाग से आयीं डॉ ऋचा ने कहा कि स्कूलों और कॉलेजों में शिक्षकेतर कर्मियों की नियुक्ति की जाए। शिक्षकों से नॉन टीचिंग स्टाफ का काम नहीं लिया जाए। ऑन लाइन जर्नल की बात भी इन्होंने कही। शिक्षा विभाग के प्रधान सचिव आरके महाजन ने कहा कि इस वित्तीय वर्ष में यह शुरू हो जाएगा।

पूर्ण शराबबंदी की तरह दहेजबंदी का कानून बनाएं

गुंजन पांडेय ने कहा कि पूर्ण शराबबंदी की तरह दहेजबंदी का कानून बनाया जाए। उन्होंने कहा कि सरकारी तकनीकी शिक्षण संस्थानों में स्थायी नियुक्ति में गेस्ट लेक्चरर को भी वेटेज दिया जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि जिस तरह से संविदा वालों को वेटेज देेते हैैं उस तरह से इन्हें भी वेटेज दिए जाने का प्रावधान कीजिए।

लड़कियों को स्कूलों में वीडियो से गुड टच और बैड टच के बारे में बताएं।


यह भी पढ़ें: लोक संवाद में महिलाओं ने दिए एेसे सुझाव, सुनकर हंस पड़े सीएम नीतीश

पटना के शेखपुरा से आई आभा चौधरी ने कहा कि स्कूलों में लड़कियों को वीडियो के माध्यम से गुड टच और बैड टच के बारे में बताया जाए। छोटे कस्बे और गांव के स्तर से यह होना चाहिए।

इन्होंने भी सुझाव दिए

-खुसरुपुर से आई आस्था ने कहा कि सैन्य बल में भर्ती को ले लड़कियों को जागरूक किया जाए।

-कुर्जी मोड़ से आई अमिता ने अंग्रेजी बोलने की कला स्कूल स्तर पर शुरू कराने की बात कही।

-मुजफ्फरपुर से आई रेखा जायसवाल ने कहा कि गांधी कथा को संगीत के माध्यम से जन-जन तक पहुंचाया जाए।

यह भी पढ़ें: बिहार: 12 जिलों के लिए सेना भर्ती रैली आज से, 46259 अभ्यर्थी होंगे शामिल

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:Women of state given suggestion to CM nitish kumar in lok samvad(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

वासंतिक नवरात्र: आज हो रही मां के अष्टम रूप की पूजा, दर्शन को उमड़े भक्तपटना में बादलों ने डाला डेरा, भीषण गर्मी से मिली राहत
यह भी देखें