अपनी बात

  • सत्य की राह

    Updated on: Fri, 02 Dec 2016 01:16 AM (IST)

    जब हम किसी तथ्य को देखते या सुनते हैं तो हम उसे स्वीकार करते हैं या अस्वीकार। जब हम इसे स्वीकार करते हैं, तो इसके दावे को सत्य और अस्वीकार करने में उसे असत्य कहते हैं। और पढ़ें »

  • अवसर गंवाता विपक्ष

    Updated on: Thu, 01 Dec 2016 02:25 AM (IST)

    विमुद्रीकरण यानी नोटबंदी की चुनौती से निपटने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश को नकदीमुक्त अर्थात कैशलेस व्यवस्था की ओर ले जाने का आह्वान किया है। और पढ़ें »

  • चुनावी चंदे का गोरखधंधा

    Updated on: Thu, 01 Dec 2016 02:25 AM (IST)

    नोटबंदी के तीन सप्ताह बाद भी आम जन हलकान, बैंक परेशान और टीवी पर सरकारी प्रवक्ता पहलवान बने दिख रहे हैं। और पढ़ें »

  • प्रसन्नता

    Updated on: Thu, 01 Dec 2016 02:24 AM (IST)

    संसार में संपूर्ण लौकिक और अलौकिक कार्य अंतत: प्रसन्नता प्राप्ति के लिए ही किए जाते हैं। और पढ़ें »

  • जनता की आड़ में अपना विलाप

    Updated on: Wed, 30 Nov 2016 02:25 AM (IST)

    विमुद्रीकरण के विरोध में जहां बंटे हुए विपक्ष का भारत बंद लगभग पूरी तरह असफल रहा वहीं केंद्र सरकार ने संसद में आयकर कानून संशोधन बिल पेश कर काला धन धारकों को एक अवसर दिया है। और पढ़ें »

  • जनहित की नई सोच

    Updated on: Wed, 30 Nov 2016 02:25 AM (IST)

    मशीनें विश्व में ही नहीं, भारत में भी मनुष्यों की जगह ले रही हैं और दशकों की आर्थिक वृद्धि और जनहित की अनेक योजनाओं के बावजूद भी तीन में से एक भारतीय गरीबी रेखा के नीचे है। और पढ़ें »

  • अनुचित अपेक्षाएं

    Updated on: Wed, 30 Nov 2016 02:24 AM (IST)

    मनुष्य की अपेक्षाओं और आकांक्षाओं का अंत नहीं। ठीक भी है, सांसारिक जीवन-यात्रा में अनेकानेक आवश्यकताएं हैं, जिसके बिना कठिनाइयां होती हैं। और पढ़ें »

  • मजबूत होती जवाबी मोर्चाबंदी

    Updated on: Tue, 29 Nov 2016 01:14 AM (IST)

    यह कुछ समय बाद ही पता चलेगा कि नोटबंदी से देश कितना बदला और यह बदलाव स्थायी होगा या नहीं। और पढ़ें »

  • संयुक्त कश्मीर का लक्ष्य

    Updated on: Tue, 29 Nov 2016 01:14 AM (IST)

    नवाज शरीफ ने कमर बाजवा को सेना प्रमुख बनाया है, शायद इसलिए कि वह भी उनकी तरह पंजाबी-खत्री हैं, आतंकियों के विरुद्ध हैं और सरकार के लिए समस्या नहीं बनेंगे। और पढ़ें »

  • आत्मविश्वास

    Updated on: Tue, 29 Nov 2016 01:14 AM (IST)

    मनुष्य के लिए कुछ भी असंभव नहीं है, लेकिन दुख की बात है कि उसे स्वयं पर ही विश्वास नहीं होता कि उसके भीतर इतनी शक्तियां विद्यमान हैं। और पढ़ें »

  • नई नौकरशाही की जरूरत

    Updated on: Mon, 28 Nov 2016 01:28 AM (IST)

    500 और 1000 रुपये के नोटों को बंद करने की घोषणा से संभवत: काले धन के कारोबारियों से ज्यादा उनके राजनीतिक विरोधी स्तब्ध रह गए हैं। और पढ़ें »

  • तस्वीर बदलने की उम्मीद

    Updated on: Mon, 28 Nov 2016 01:27 AM (IST)

    16 नवंबर से शुरू हुए संसद के शीतकालीन सत्र की शुरुआती बैठकों का बड़ा हिस्सा नोटबंदी पर मचे भारी शोर-शराबे के चलते बाधित हो चुका है। और पढ़ें »

  • विद्या का गुण

    Updated on: Mon, 28 Nov 2016 01:27 AM (IST)

    कोई भी व्यक्ति वह चाहे किसी कुल में पैदा क्यों न हुआ हो, लेकिन विद्या सभी के लिए अनिवार्य है। अशिक्षित मनुष्य का जीवन पशु के समान माना गया है। और पढ़ें »

  • मुश्किल आर्थिक चुनौती

    Updated on: Sun, 27 Nov 2016 02:32 AM (IST)

    एक हजार और पांच सौ रुपये के नोट चलन से बाहर करने के फैसले के बाद जिस तरह काले धन को सफेद बनाने की कोशिश की गई और अभी भी जारी है उससे नोटबंदी का उद्देश्य विफल होता दिख रहा है। और पढ़ें »

  • गुलामी की मानसिकता

    Updated on: Sun, 27 Nov 2016 02:31 AM (IST)

    सुप्रीम कोर्ट और मद्रास हाईकोर्ट की मदुरै पीठ में अलग-अलग याचिकाएं दायर कर दो हजार रुपये के नए नोट में देवनागरी लिपि के प्रयोग की संवैधानिक वैधता को चुनौती दी गई है। और पढ़ें »

यह भी देखें

    जागरण RSS

    अपनी बातRssgoogle plusyahoo ad
    नजरियाRssgoogle plusyahoo ad

    और देखें