नई दिल्ली [जागरण स्पेशल]। जिस तरह से रैबीज के वायरस के लिए कुत्तों को जिम्मेदार माना जाता है ठीक उसी तरह से कोरोना वायरस के फैलने के लिए जंगली जानवरों के सेवन को जिम्मेदार माना जा रहा है। इसमें अभी तक सबसे बड़ी भूमिका चमगादड़ों की मानी जा रही है। गौरतलब है चीन में कई तरह के पशु-पक्षी खाए जाते हैं और वुहान समेत दूसरे बाजारों में उनकी खरीद-फरोख्‍त भी आसानी से होती है। द सन के एक वीडियो से इस बात को कहीं न कहीं बल भी मिला है। इस वीडियो में एक लड़की को चमगादड़ का सूप पीते और उसको खाते दिखाया गया है। 

वीडियो हुआ जारी 

वेबसाइट पर जारी इस वीडियो में लड़की चमगादड़ का पंख खाते हुए दिखाई दे रही है। यह चमगादड़ गहरे काले रंग का है। आपको यहां पर ये भी बता दें कि वुहान (जहां से यह वायरस कई देशों को अपनी चपेट में ले चुका है) में चमगादड़ का सूप एक पॉपुलर ड्रिंक है। कुछ दिन पहले आई डब्‍ल्‍यूएचओ की रिपोर्ट में इस वायरस के सांप और चमगादड़ों के जरिए फैलने की बात कही गई थी। आपको बता दें कोरोना वायरस एक तरह का किटाणु या जर्म्‍स होता है जो बीमारियां प्रोड्यूस्‍ड करता है। आपको यहां पर ये भी बता दें कि चमगादड़ों(बैट्स) की 18 अलग-अलग प्रजातियां हैं। इनमें से कुछ चमगादड़ों की प्रजातियां मनुष्यों के आसपास भी रहती है जबकि कुछ जंगली इलाकों में ही रहते हैं। कई बार इन चमगादड़ों को लोग पकड़ते हैं और उनको इस तरह के बाजारों में लाकर बेच देते हैं। 

2016 का है वीडियो 

आपकी जानकारी के लिए यहां पर ये भी बता दें कि यह वीडियो वर्ष 2016 है। इसमें दिखाई दे रही लड़की का नाम वांग मेंग्‍यून हैं। 28 वर्षीय वांग एक ट्रेवल ब्‍लॉगर हैं। सोशल मीडिया पर उनके लाखों फॉलोवर्स हैं। यह वीडियो उन्‍होंने वेस्‍टर्न पेसिफिक ओशियन के एक देश अलायू के एक रेस्‍तरां में बनाया था, लिहाजा ये वीडियो चीन का भी नहीं है। कुछ द्वीपों को मिलाकर बना ये देश फिलीपींस सागर में स्थित है और चीन के वुहान से हजारों किलोमीटर की दूरी पर है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक उनकी सूप पीने वाली वीडियो सामने आने के बाद उन्‍होंने सफाई दी है कि वह इसके जरिए महज ये बताना चाहती थीं कि दुनिया के विभिन्‍न देशों या शहरों में कितनी अजीबोगरीब चीजें खाई जाती हैं। चमगादड़ का सूप पलायू के लोगों की लाइफस्‍टाइल का एक हिस्‍सा है। 

वुहान में बेचे जाते हैं चमगादड़ 

गौरतलब है कि चीन के जिस वुहान शहर से इस वायरस की उत्पत्ति मानी जा रही है, वहां की मार्केट में चमगादड़ भी बेचे खरीदे जाते हैं। चीन में भी चमगादड़ का सूप पीने का भी एक रिवाज है। कुछ शौकीन लोग चमगादड़ को खाते भी है। कोरोनावायरस के अनुवांशिक विश्लेषण ने वैज्ञानिकों को यह सोचने के लिए प्रेरित किया है कि ये वायरस चमगादड़ों को खाने से सांपों में आया और फिर इंसान तक पहुंचा है। आपको बता दें कि वुहान शहर की मीट मार्केट चीन के उन बाजारों में गिनी जाती है जहांं कई तरह के अजीबोगरीब जानवरों को खरीब-फरोख्‍त की जाती है।   

दूसरे देशों को हुई चिंता  

कोरोना वायरस को लेकर सबसे ज्‍यादा डर इस वजह से भी है क्‍योंकि इसका अब तक इलाज नहीं खोजा जा सका है। वैज्ञानिक इसका टीका विकसित करने में लगे हैं। इस वायरस के प्रकोप को देखते हुए कई देशों ने अपने यहां पर  अलर्ट तक जारी कर रखा है। वहीं कई देशों ने चीन में मौजूद अपने नागरिकों को एडवाइजरी तक जारी की हैं। वहीं कुछ देशों ने अपने नागरिकों को चीन से निकालना भी शुरू कर दिया है। 

 

विदेशों में भी फैला कोरोना वायरस 

अकेले चीन में ही कोरोनवायरस वायरस के 771 मरीज होने की पुष्टि की जा चुकी है। इस वायरस से 170 लोगों की जान जा चुकी है जबकि 124 मरीज ठीक भी हुए हैं। फिनलैंड में भी इसका पहला मरीज सामने आया है। 

ये भी पढ़ें:- 

हैरतअंगेज: चीन अगले 4 दिनों में कोरोना वायरस से पीड़ितों के लिए बना देगा 1000 बेड का अस्पताल 

...जब एक इंजेक्शन के बाद पाकिस्तान के पीएम इमरान खान बोलें नर्सें दिखने लगीं हूर

Posted By: Vinay Tiwari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस