नई टिहरी, जेएनएन। समाज कल्याण विभाग के छात्रवृत्ति घोटाले में पुलिस ने टिहरी में समाज कल्याण विभाग के कैंप प्रभारी जीतमणि भट्ट को गिरफ्तार कर लिया। जीतमणि भट्ट ने वर्ष 2014 में 61 एससी, एसटी, ओबीसी के छात्रों के एडमिशन फर्जी रूप से पूर्णानंद डिग्री कालेज ऋषिकेश में दिखाए, जबकि उक्त छात्र कभी कॉलेज ही नहीं आए। इस मामले में कुल 15 लाख रुपये का गबन किया गया। 

थाना मुनि की रेती पुलिस ने छात्रवृति घोटाले में नई टिहरी में समाज कल्याण विभाग के कैंप प्रभारी जीतमणि भट्ट को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस ने बताया कि स्वामी पूर्णानंद डिग्री कॉलेज ऑफ टेक्निकल एजुकेशन मे वर्ष 2014-2015 में  61 एससी, एसटी,ओबीसी के छात्रों के एडमिशन फर्जी रूप से दिखाए थे। उक्त छात्र कभी कॉलेज में नहीं आए। 

जिन छात्रों के एडमिशन कॉलेज में दिखाए हैं, उन छात्रों ने उसी समय के दौरान अन्य कालेजों में दाखिला ले रखा था। स्वामी पूर्णानंद डिग्री कॉलेज ऑफ टेक्निकल एजुकेशन के प्रधानाचार्य, स्टाफ, मैनेजमेंट के साथ मिलकर जीतमणि भट्ट ने छात्रवृति प्राप्त करने के लिए कूटरचित दस्तावेज बनाकर आपराधिक षड्यंत्र रचा और लगभग 15 लाख रुपये के सरकारी धन का गबन किया। 

यह भी पढ़ें: छात्रवृत्ति घोटाला: जगमोहन मानव प्राइवेट आइटीआइ का चेयरमैन गिरफ्तार

इस मामले में  समाज कल्याण विभाग टिहरी के तत्कालीन कैंप प्रभारी जीत मणि भट्ट ने छात्र व छात्राओं का भौतिक सत्यापन फर्जी तरीके से किया और फर्जी रिपोर्ट बनाई। पुलिस ने भट्ट को सीजेएम न्यायालय में पेश किया जहां से उसे जेल भेज दिया गया। टिहरी गढ़वाल के एसएसपी डॉ. योगेंद्र सिंह रावत के मुताबिक, छात्रवृत्ति घोटाले में कई और गिरफ्तारी भी हो सकती हैं। 

यह भी पढ़ें: छात्रवृत्ति घोटाले में सहायक समाज कल्याण अधिकारी समेत तीन आरोपितों की जमानत याचिका खारिज

Posted By: Bhanu

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप