हरिद्वार, जेएनएन। ऑनलाइन शॉपिंग कंपनी अमेजन के गोदाम से चोरों ने 12 लाख की नगदी पर हाथ साफ कर दिया। घटना कनखल के जगजीतपुर इलाके में हुई। रविवार रात इलेक्ट्रॉनिक कटर से गोदाम के ताले काटकर चोर अंदर घुस गए। फिर वहां से नगदी और एक मोबाइल चोरी कर ले गए। सोमवार सुबह घटना का पता चलने पर एसएसपी समेत आला अधिकारियों ने मुआयना किया। एसएसपी ने तत्काल प्रभाव से कनखल एसओ हरिओम चौहान को लाइन हाजिर कर दिया।

पुलिस के मुताबिक कनखल के जगजीतपुर में आइटीआइ परिसर की बगल में ऑनलाइन शॉपिंग कंपनी अमेजन का गोदाम है। रविवार रात चोरों ने गोदाम के ताले काट डाले और लगभग 12 लाख रुपये की नगदी और एक मोबाइल चोरी कर लिया। सोमवार सुबह कर्मचारी गोदाम पर पहुंचे तो ताले टूट देख होश उड़ गए। मैनेजर कमलेश की सूचना पर कनखल थानाध्यक्ष हरिओम राज चौहान मौके पर पहुंचे और घटना की जानकारी जुटाई। बड़ी चोरी होने के चलते एसएसपी सेंथिल अबुदई कृष्णराज एस, एसपी क्राइम आयुष अग्रवाल, एसपी सिटी कमलेश उपाध्याय और सीओ सिटी अभय सिंह ने मौका मुआयना किया। 

पुलिस ने सीसीटीवी कैमरे की फुटेज में चोरों का हुलिया देखना चाहा तो कैमरे की डीवीआर गायब मिली। कटे हुए तालों से यह अंदाजा लगाया जा रहा है कि चोर इलेक्ट्रॉनिक कटर साथ लेकर आए थे। चोरों की संख्या चार से पांच बताई गई है। आबादी क्षेत्र में लाखों की चोरी को पुलिस की बड़ी लापरवाही मानते हुए एसएसपी ने कनखल थानाध्यक्ष हरिओम चौहान को लाइन हाजिर कर दिया। चोरों की धरपकड़ के लिए पुलिस व सीआइयू की चार टीमें गठित की गई हैं। एक टीम शिव विहार कॉलोनी और आसपास के बरात घरों में लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज चेक कर रही है। दूसरी टीम को पुराने चोरों की धरपकड़ में लगाया गया है। 

पश्चिमी उत्तर प्रदेश के शातिर गिरोह का हाथ

अमेजन के गोदाम में चोरी के पीछे पश्चिमी उत्तर प्रदेश के किसी शातिर और पेशेवर गिरोह का हाथ माना जा रहा है। चूंकि चोरों ने ताले काटने से लेकर सीसीटीवी कैमरे की डीवीआर चुराने तक का काम जितनी सफाई से किया है, वह प्रोफेशनल अपराधी का ही काम है। पास में लगे सीसीटीवी कैमरे से पता चला है कि घटना को रविवार की रात करीब साढ़े 11 बजे अंजाम दिया गया है। उस समय तक लक्सर रोड पर अच्छी खासी चहल-पहल रहती है। लेकिन चोरों ने बेखौफ होकर घटना को अंजाम दिया है।

यह भी पढ़ें: रुड़की से उठाई कार बदमाशों ने मेरठ के कंकरखेड़ा में छोड़ी, फरार

गोदाम के कर्मचारी भी राडार पर

शिव विहार कॉलोनी में अमेजॉन कंपनी के आमने-सामने दो गोदाम हैं। चोरों ने उस गोदाम को निशाना बनाया, इसमें नगदी रखी हुई थी। दो दिन तक गोदाम से नगदी बैंक में जमा नहीं हो सकी, इसलिए 12 लाख रुपये गोदाम में ही रखे हुए थे, इन्हें सोमवार की सुबह बैंक में जमा कराया जाना था। दो गोदाम आमने-सामने होने के चलते आखिरकार चोरों को कैसे पता चला कि कौन से गोदाम में नगदी रखी है।

यह भी पढ़ें: पुलिस के हत्थे चढ़े चार शातिर, सात लाख नगदी और सामान बरामद Dehradun News

गोदाम में कई मोबाइल रखे हुए थे, लेकिन चोरों ने सिर्फ वही मोबाइल चोरी किया है, जिसमें काम का डाटा फीड है। ऐसे कई पहलु पुलिस को यह सोचने पर मजबूर कर रहे हैं कि घटना में कोई भेदी शामिल रहा है। गोदाम में 40 कर्मचारी जुड़े हैं। जिनमें छह कर्मचारी गोदाम पर रहकर काम करते हैं, बाकी फील्ड में डिलीवरी का काम करते हैं। फिलहाल गोदाम के कर्मचारी भी पुलिस के राडार पर हैं।

विकास भारद्वाज बने कनखल थानाध्यक्ष

एसएसपी ने ज्वालापुर कोतवाली के एसएसआइ विकास भारद्वाज को कनखल थानाध्यक्ष की जिम्मेदारी दी है। उनकी जगह उपनिरीक्षक संतोष कुंवर को ज्वालापुर कोतवाली का एसएसआइ बनाया गया है। कनखल के नवनियुक्त थानाध्यक्ष विकास भारद्वाज ने सोमवार दोपहर चार्ज संभाल लिया। एसओ कनखल विकास भारद्वाज ने बताया कि गोदाम मैनेजर की तहरीर पर अज्ञात चोरों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है।

यह भी पढ़ें: चार साल से फरार आरोपित यमुनानगर से हुआ गिरफ्तार Dehradun News

Posted By: Raksha Panthari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस