देहरादून, जेएनएन। क्लेमेनटाउन कैंट क्षेत्र में एससी-एसटी के लिए वार्ड आरक्षित नहीं होगा। छावनी परिषद की निर्वाचन नियमावली के तहत एससी-एसटी वार्ड आरक्षित होने के लिए क्षेत्र की कुल जनसंख्या की 14 फीसदी आबादी एससी-एसटी होना चाहिए, जबकि क्लेमेनटाउन कैंट क्षेत्र में यह महज 9.33 प्रतिशत है। 

छावनी परिषद क्लेमेनटाउन की अध्यक्ष ब्रिगेडियर सुभाष पनवर की अध्यक्षता में गुरुवार को विशेष बोर्ड बैठक आयोजित की गई। यह बैठक छावनी परिषद के अगले वर्ष होने वाले चुनाव के संदर्भ में थी। देश के 58 छावनी परिषदों का कार्यकाल अगले वर्ष 10 फरवरी को पूर्ण हो रहा है। इससे पहले रक्षा मंत्रालय ने समस्त छावनियों को वार्डों के आरक्षण की प्रक्रिया पूरी करने के निर्देश दिए हैं। छावनी परिषद के सचिव अभिषेक राठौर ने बैठक में मददाताओं का ब्योरा प्रस्तुत किया। बताया कि वर्तमान में छावनी परिषद क्लेमेनटाउन में 22557 मतदाता हैं। 

उन्होंने कहा कि क्लेमेनटाउन कैंट क्षेत्र में एससी-एसटी जनसंख्या मात्र 9.33 प्रतिशत है। जबकि निर्वाचन नियमावली के तहत उक्त जाति के सभासद के लिए वार्ड आरक्षित होने के लिए आबादी 14 प्रतिशत होना चाहिए। ऐसे में कोई भी वार्ड अनुसूचित जाति और जनजाति के लिए आरक्षित नही किया जा सकता है। जिसका उपाध्यक्ष सुनिल कुमार व पूर्व उपाध्यक्ष भूपेंद्र सिंह ने विरोध किया। उन्होंने एक वार्ड एससी-एसटी के लिए आरक्षित करने की मांग की। कैंट बोर्ड के सातों सभासदों ने उनका समर्थन किया। इसे लेकर सचिव व सभासदों के बीच काफी देर बहस चली। जिस पर अध्यक्ष को हस्तक्षेप करना पड़ा। 

यह भी पढ़ें: पिथौरागढ़ उपचुनाव में हार के बावजूद कांग्रेस को अब मजबूती से उभरने का भरोसा

उन्होंने कहा कि हम सब लोग छावनी परिषद के संविधान से बंधे हैं। इसी के अनुरूप वार्डों का आरक्षण किया जाएगा। यदि संविधान में यह लिखा है कि 14 प्रतिशत मतदाता अनुसूचित जाति एवं जनजाति होने पर ही वार्ड एससी-एसटी आरक्षित किया जा सकता है, तो हम इससे अलग व्यवस्था नहीं बना सकते। बैठक में कर्नल एसके मौली, कर्नल एके सिंह, कर्नल नवीन मिश्रा, उपाध्यक्ष सुनील कुमार, पूर्व उपाध्यक्ष भूपेंद्र सिंह कंडारी, सभासद मोहम्मद तासीन अली, रामकिशन यादव, टेक बहादुर, बीना नौटियाल, साहिना अख्तर, इंजीनियर बृजेश कुमार गुप्ता आदि शामिल थे। 

यह भी पढ़ें: पिथौरागढ़ उपचुनाव परिणाम: जनमत ने भरोसा जताया, आइना भी दिखा दिया

वार्डों के नए परिसीमन का रास्ता खुला 

क्लेमेनटाउन कैंट के सात वार्डों के नए परिसीमन का रास्ता साफ होता दिख रहा है। रक्षा संपदा, मध्य कमान के निदेशक डॉ. डीएन यादव इस संबंध में शुक्रवार को दून पहुंच रहे हैं। वह इस विषय से संबंधित तमाम दस्तावेजों का अवलोकन करेंगे। वह बोर्ड अध्यक्ष और सभासदों के साथ भी बैठक करेंगे। इसके अलावा क्षेत्र का सर्वे/निरीक्षण भी वह करेंगे। बता दें, क्लेमेनटाउन कैंट क्षेत्र में मतदाता संख्या के असंतुलन व वार्डों की अनुचित भौगोलिक परिस्थिति के मद्देनजर नए परिसीमन का प्रस्ताव रखा गया है। जिसे मध्य कमान को भेजा गया था। 

यह भी पढ़ें: ऋषिकेश में भाजपा मंडल अध्यक्ष पद के दस दावेदार Dehradun News

Posted By: Raksha Panthari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस