देहरादून, जेएनएन। मर्चेंट नेवी में नौकरी दिलाने के नाम पर पंजाब के चार युवकों से दो लाख रुपये की ठगी कर ली गई। काफी दिनों तक जब उन्हें नौकरी नहीं मिली और पैसे भी नहीं वापस मिले तो युवकों ने पुलिस महानिदेशक अपराध एवं कानून व्यवस्था को पत्र भेजकर संबंधित पर कार्रवाई की मांग की। मामले में पटेलनगर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।

इस मामले में विनोद कुमार निवासी नया गांव मेहता रोड अमृतसर, बलविंदर सिंह निवासी राजेंद्रनगर फतेहगढ़ साहिब, विपिन निवासी चक जमियत सिंहवाला फिरोजपुर व रेशम सिंह निवासी वीपीओ मानसैंड, गुरुदासपुर की ओर से मुकदमा दर्ज कराया गया है। 

चारों का आरोप है कि करीब दो साल पहले उन्हें कनिष्का सिंह व अमित यादव का फोन आया। दोनों ने बताया कि वह मर्चेंट नेवी का कोर्स कराते हैं और नौकरी मिलने की भी गारंटी है। सभी ने 50-50 हजार रुपये देकर दाखिला ले लिया। 

अप्रैल 2018 में देहरादून के भाऊवाला में उन्हें तीन महीने का प्रशिक्षण भी दिया गया, लेकिन सर्टिफिकेट दिए बिना सभी को घर भेज दिया। कहा कि उन्हें फोन कर बाद में बुलाया जाएगा। काफी दिनों तक फोन नहीं आया तो कनिष्का और अमित को फोन किया। दोनों ने उनसे तीन तीन लाख रुपये की मांग की।

यह भी पढ़ें: नेवी रिक्रूटमेंट की ऑनलाइन परीक्षा में हाईटेक नकल, कैसे ये जानने के लिए पढ़िए पूरी खबर

जब इस रकम को देने में असमर्थता जताई गई तो दोनों ने अपने फोन बंद कर दिए। आरोप है कि उनके जैसे और भी युवक-युवती थे, जिन्होंने प्रशिक्षण लिया, मगर नौकरी नहीं मिली। इंस्पेक्टर सूर्यभूषण नेगी ने बताया कि मामले में आरोपितों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया गया है। जांच की जा रही है।

यह भी पढ़ें: साइबर ठगों का मायाजाल, एक क्लिक कर रहा है कंगाल; ऐसे बचें ठगी से

Posted By: Bhanu

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप