देहरादून, जेएनएन। डायबिटीज और ब्लड प्रेशर से ग्रसित छात्र-छात्राओं को सीबीएसई ने विशेष छूट दी है। ऐसे छात्रों के अभिभावक परीक्षा केंद्र के पास रह सकेंगे, जिससे जरूरत पड़ने पर ऐसे छात्रों को दवाई या कोई खाद्य पदार्थ दिया जा सकेगा। साथ ही परीक्षा केंद्रों पर भी डायबिटीज, ब्लड प्रेशर समेत अन्य बीमारियों के लिए दवाई और इंजेक्शन रखने की व्यवस्था सीबीएसई की ओर से की जाएगी।

सीबीएसई ने सर्कुलर जारी करते हुए विभिन्न बीमारियों से ग्रसित बच्चों का विशेष ध्यान रखने के आदेश जारी किए हैं। ऐसे परीक्षार्थियों के लिए सीबीएसई परीक्षा केंद्रों पर विशेष व्यवस्था की गई है। सभी केंद्रों पर प्राथमिक उपचार से संबंधित सारे इंतजाम होंगे, जहां डायबिटीज वालें बच्चों के लिए चाकलेट, ग्लूकोज आदि रहेगा, वहीं ब्लड प्रेशर वाले बच्चों के लिए नमक आदि का इंतजाम केंद्र पर रहेगा। इसमे कम और अधिक दोनों ही स्तर के ब्लड प्रेशर वाले छात्रों को ध्यान में रखकर व्यवस्था की जाएगी। 

सीबीएसई ने परीक्षा केंद्रों पर डॉक्टर की सुविधा लेने का निर्देश दिया गयो है। सीबीएसई के क्षेत्रीय निदेशक रणबीर सिंह ने बताया कि पिछले सालों में परीक्षा केंद्रों पर बच्चों के बीमार होने के केस आए हैं। ऐसे में सीबीएसई द्वारा किसी बीमारी से पीड़ित बच्चों के लिए इंतजाम किये जा रहे हैं। परीक्षा फार्म भरने के समय डायबिटीज, ब्लड प्रेशर के अलावा अन्य बीमारियों से पीड़ित की जानकारी ली थी। हालांकि, अगर किसी बच्चे की तबियत परीक्षा के बीच बिगड़ती है तो उसे भी पूरी सुविधा दी जाएगी।

यह भी पढ़ें: शिक्षा निदेशालय ने एमए को मान्यता देने के लिए भेजा प्रस्ताव, छात्र लंबे समय से कर रहे थे मांग

विशेष छात्रों को कैलकुलेटर ले जाने की छूट

सीबीएसई बोर्ड ने परीक्षा में चिल्ड्रन विद स्पेशल नीड (सीडब्ल्यूएसएन) के दायरे में आने वाले छात्रों को बेसिक कैलकुलेटर ले जाने की अनुमति दी है। हाईस्कूल और इंटरमीडिएट दोनों कक्षा के छात्रों को यह अनुमति होगी। लेकिन यह सुविधा उन्हीं छात्रों को मिलेगी जिन्होंने पहले इसके लिए आवेदन किया होगा। बिना पंजीकरण के छात्रों को इस सुविधा का लाभ नहीं मिलेगा।

यह भी पढ़ें: Uttarakhand Board Exam: परीक्षा केंद्र पर हुई गड़बड़ी तो नपेंगे संरक्षक और व्यवस्थापक

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस