देहरादून, जेएनएन। राप्ती गंगा एक्सप्रेस की शंटिंग के दौरान एक रेलवे कर्मचारी की ट्रेन की चपेट में आने से मौत हो गई। ट्रैक पर कटा शरीर देख कर्मचारियों व अन्य लोगों में हड़कंप मच गया। सूचना पर पहुंची राजकीय रेलवे पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। 

पुलिस के अनुसार, घटना प्लेटफार्म नंबर चार से महज कुछ दूरी पर हुई। राप्ती गंगा एक्सप्रेस स्टेशन पर पहुंची, इसके बाद ट्रेन को शंटिंग के लिए लगाया जा रहा था। इसी दौरान एक कर्मचारी ट्रेन की चपेट में आ गया। 

आसपास के कर्मचारियों ने शोर मचाया तो वहां लोगों की भीड़ जमा हो गई। जीआरपी को घटना की जानकारी दी गई। जीआरपी के अनुसार मृतक की पहचान विजय ठाकुर निवासी (59) निवासी रेलवे कॉलोनी लक्खीबाग के रूप में हुई। 

वह मूल रूप से बुलंदशहर के रहने वाले थे। बताया कि वह रेलवे के मेंटनेंस विभाग में कार्यरत थे और घटना के दौरान वह ड्यूटी पर ही थे। बताया कि इसके बाद शव को कब्जे में लेकर पंचनामा की कार्रवाई शुरू की गई। पुलिस के अनुसार, प्रथमदृष्टया मौत का कारण स्पष्ट नहीं हो पाया है। इस बारे में जांच के बाद ही कुछ कहना संभव हो पाएगा। विजय ठाकुर करीब पांच महीने बाद सेवानिवृत्त होने वाले थे। 

दस मिनट देरी से निकली ट्रेन 

शव के ट्रैक पर पड़े रहने के कारण राप्ती गंगा (दून-गोरखपुर) दस मिनट तक प्लेटफार्म पर खड़ी रही। पुलिस द्वारा औपचारिकताएं पूरी करने के बाद शव को ट्रैक से उठाया गया। इसके बाद राप्ती गंगा को दस मिनट की देरी से रवाना किया गया।

यह भी पढ़ें: पौड़ी जिले में कार के खाई में गिरने से दो बच्चों सहित चार की मौत

यह भी पढ़ें: पौड़ी में हुई सड़क दुर्घटना में तीन की मौत, एक गंभीर घायल

यह भी पढ़ें: कार ने बाइक को मारी टक्कर, महिला की मौत; भाई घायल

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप