देहरादून, जेएनएन। उत्तराखंड में हरिद्वार को छोड़ शेष 12 जिलों में हुए त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव मेें विजयी  ग्राम प्रधानों और पंचायत सदस्यों को विधिवत पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई गई। वहीं, कोरम पूरा नहीं करने के चलते कई जगह ग्राम प्रधान शपथ नहीं ले पाए। 

देहरादून के डोईवाला में छोटी सरकार के निर्वाचित ग्राम प्रधानों और पंचायत सदस्यों को शपथ दिलाई गई। सहायक खंड विकास अधिकारी और सहायक विकास अधिकारियों ने विधिवत पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई। अब 28 अगस्त को विभिन्न ग्राम सभाओं पहली बैठक आयोजित की जाएगी। डोईवाला विकासखंड के प्रभारी खंड विकास अधिकारी भगवान सिंह नेगी ने बताया कि डोईवाला विकासखंड सभागार में 11 बजे ग्राम प्रधानों को शपथ दिलाई गई।

वहीं, चकराता ब्लॉक कार्यालय में खंड विकास अधिकारी अनीता पंवार ने नव निर्वाचित 59 प्रधानों को पद और गोपनीयता की शपथ दिलाई। ब्लॉक कार्यालय में आयोजित शपथ ग्रहण समारोह में निर्वाचित ग्रामप्रधानों का सुबह ही जमावड़ा लग गया। चकराता ब्लॉक क्षेत्र में कोरम पूरा नहीं होने की वजह से 57 नवनिर्वाचित प्रधान शपथ नहीं ले पाए। बीडीओ अनीता पंवार ने बताया कि चकराता क्षेत्र की विभिन्न पंचायतों में रिक्त ग्राम पंचायत सदस्यों के पदों को भरने के लिए उपचुनाव होने के बाद बाकी बचे 57 नवनिर्वाचित प्रधानों को बाद में शपथ दिलाई जाएगी। 

13 ग्राम प्रधानों और 43 ग्राम पंचायत सदस्यों ने ली शपथ 

वहीं, विकासखंड पौड़ी में मात्र 13 ग्राम प्रधान और 43 ग्राम पंचायत सदस्यों ने शपथ ली। विकासखंड की 49 ग्राम पंचायतों में कोरम पूरा न होने से प्रधान शपथ नहीं ले पाए हैं। इसके साथ ही एक ग्राम पंचायत में प्रधान पद पर चुनाव ही नहीं हुआ था।

यह भी पढ़ें: सेलाकुई पछवादून ट्रक ऑनर्स वेल्फेयर एसोसिएशन के चुनाव में गुलफाम अध्यक्ष और चंद्रकिशोर बने सचिव

विकासखंड पौड़ी की 63 ग्राम पंचायतों में से केवल 13 ग्राम पंचायतों के ग्राम प्रधानों ने ही शपथ ली है। सहायक विकासखंड अधिकारी शशि रावत ने नव निर्वाचित ग्राम प्रधानों और सदस्यों को शपथ दिलाई। ग्राम पंचायत ढांडरी में प्रत्याशी न मिलने के कारण यहां प्रधान पद पर चुनाव नहीं हुआ था। शेष 49 ग्राम पंचायतों में कोरम पूरा न होने के कारण प्रधान शपथ नहीं ले पाए। हालांकि बुधवार को शपथ ग्रहण की सूचना पर विकासखंड के लगभग सभी ग्राम पंचायतों से प्रधान विकासखंड मुख्यालय पहुंचे थे। लेकिन, जिन ग्राम पंचायतों मे कोरम पूरा नहीं था, उन ग्राम पंचायतों के प्रधानों को बैरंग वापस लौटना पड़ा। 

यह भी पढ़ें: न्याय विभाग की राय के बाद लगेगी उपचुनाव पर मुहर, पढ़ि‍ए पूरी खबर

विकासखंड की 62 ग्राम पंचायतों में से 11 ग्राम पंचायतों में प्रधान पद पर निर्विरोध निर्वाचन हुआ था। जिनमें से तीन ग्राम पंचायतों के ग्राम प्रधानों ने बुधवार को शपथ ली। सहायक विकासखंड अधिकारी शशि रावत ने बताया कि जिन ग्राम पंचायतों में कोरम पूरा है, लेकिन कुछ सदस्य शपथ लेने नहीं आ पाएं है, उनको ग्राम पंचायत की पहली बैठक के दौरान शपथ दिलाई जाएगी। 

यह भी पढ़ें: Cabinet Meet: उत्तराखंड में अब मंत्री खुद चुकाएंगे आयकर, जानिए कैबिनेट के अन्य फैसले

Posted By: Raksha Panthari

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस