देहरादून, जेएनएन। डकैती, लूट और अन्य आपराधिक वारदातों को अंजाम देकर देहरादून को हिलाकर रख देने वाले सोलह आपराधिक गिरोहों को गैंगेस्टर एक्ट में पाबंद कर दिया गया है। इन गिरोहों के कुल 54 सक्रिय सदस्यों को नामजद किया गया है, जिन पर पांच या पांच से अधिक मुकदमे दर्ज हैं। विगत आठ वर्षों के दौरान पुलिस की अपराधियों के खिलाफ की गई यह सबसे बड़ी कार्रवाई है। 

डीआइजी अरुण मोहन जोशी ने बताया कि शराब माफिया, भू-माफिया, ऑनलाइन धोखाधड़ी करने वाले शातिरों, किटी-कमेटी के नाम पर भोले-भाले लोगों के जीवन भर की कमाई डकारने वाले धोखेबाजों से लेकर ईश्वरन और आरआई के घर डाका डालने वाले वीरेंद्र ठाकुर गैंग और प्रेमनगर में सर्राफा शोरूम में डकैती डालने वाले करन शिवपुरी और सोनू यादव समेत सोलह गिरोहों के खिलाफ गैंगेस्टर की कार्रवाई की गई है। 

इन गिरोहों में कुल 54 सक्रिय सदस्य अब तक चिन्हित किए जा चुके हैं। इसमें से अधिकांश जेल में हैं। इन अपराधियों की जब पड़ोसी राज्यों से कुंडली मंगाई गई तो पता चला कि यह सभी पेशेवर और गिरोह बनाकर कई बड़ी वारदात को अंजाम दे चुके हैं। गैंगेस्टर एक्ट की कार्रवाई के बाद जेल में बंद अपराधियों को कम से कम छह महीने तक जमानत ले पाना मुश्किल होगा। 

महीने भर से चल रही थी तैयारी

सक्रिय आपराधिक गिरोहों पर गैंगेस्टर लगाने की तैयारी करीब एक महीने से चल रही थी। इस दौरान चिन्हित अपराधियों की पड़ोसी राज्यों से हर छोटे-बड़े अपराध का ब्योरा मंगाया गया। पूरा ब्योरा मिल जाने के बाद पुलिस ने तय किया कि संबंधित थाने इसे क्राइम नंबर एक पर दर्ज करेंगे। 

थाना-------------------गिरोह

नगर कोतवाली-----शातिर चोर नीलपथ गैंग।

डालनवाला-----------शातिर चोर आकाश गैंग व अजहरउद्दीन गैंग

प्रेमनगर-----------कमेटी ठग महेश चंद्र वर्मा गैंग। 

प्रेमनगर-----------डकैत व लुटेरे करन व सोनू यादव गैंग। 

वसंत विहार-----------शातिर चोर शहजाद गैंग।

नेहरू कॉलोनी-----------शातिर सेंधमार शोएब अली गैंगष 

राजपुर-----------ईश्वरन डकैती कांड में लिप्त वीरेंद्र ठाकुर गैंग।

विकासनगर-----------शातिर चोर अनीस व सुल्तान गैंग।

सहसपुर-----------गो-तस्कर सलमान गैंग। 

रायवाला-----------फर्जी कंपनी खोलकर ठगी के आरोपित जोगिंदर गैंग।

रानीपोखरी-----------साइबर ठग शाकिर गैंग।

ऋषिकेश-----------शराब माफिया चानू गैंग।

डोईवाला-----------भू-माफिया मंजीत सिंह गैंग।

पटेलनगर-----------बैंक धोखाधड़ी में लिप्त ज्ञानेंद्र गैंग।

कैंट----------------------शातिर चोर अवनीश गैंग।

नए साल का जश्न मनाने आया हिस्ट्रीशीटर गिरफ्तार

छत्तीसगढ़ में शराब कारोबार में निवेश कर मोटा मुनाफा कमाने का लालच देकर ठगी करने के मास्टरमाइंड को पटेलनगर पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। आरोपित नए साल का जश्न मनाने देहरादून आया था। पुलिस ने उसे कोर्ट में पेश किया, जहां से उसे जेल भेज दिया गया।

इंस्पेक्टर पटेलनगर सूर्यभूषण नेगी ने बताया कि पिछले महीने पंकज कुमार ने मुकदमा दर्ज कराया कि अमित अग्रवाल निवासी टीएचडीसी कॉलोनी ने शराब कारोबार में निवेश कराने के नाम पर लाखों की ठगी कर ली है। मामले में मुकदमा दर्ज कर अमित की कुंडली खंगाली गई तो पता चला कि उस पर पहले भी मुकदमा दर्ज हो चुका है। 

यह भी पढें: उद्योगपति के घर हथियारबंद बदमाशों का धावा, लाखों की लूट को दिया अंजाम

तीन मुकदमे वंसत विहार थाने में भी दर्ज हैं। यहां भी उसने लोगों से छत्तीसगढ़ में शराब कारोबार में निवेश करने के नाम पर ठगी की थी। कुल आठ मुकदमों का पता चलने के बाद उसकी हिस्ट्रीशीट खोलकर तलाश शुरू कर दी गई। लेकिन वह घर से फरार चल रहा था। मुखबिर तंत्र ने बताया कि वह नए साल का जश्न मनाने देहरादून आया है। यहां उसे माजरा के पास से गिरफ्तार कर लिया गया।

यह भी पढ़ें: पकड़े जाने पर बदमाश ने पुलिस के सामने खुद पर चाकू से किए कई वार, घायल

Posted By: Bhanu

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस