जागरण संवाददाता, ऋषिकेश। Ankita Murder Case: गंगा भोगपुर स्थित रिसार्ट में रिसेप्शनिस्ट अंकिता भंडारी की हत्या के बाद मुख्य हत्यारोपित पुलकित आर्य का वनन्तरा रिसार्ट प्रशासन के निशाने पर आ गया है। प्रशासन ने इस रिसार्ट की जांच कर रहा है। जांच में यह बात सामने आई कि यह रिसार्ट पूरी तरह से नियम, कायदे और कानून को ताक पर रखकर बनाया गया। फिलहाल, प्रशासन ने इसको सील कर दिया है। आइए जानते हैं इसके बारे में।

12 वर्ष पहले पुलकित के पिता ने खरीदी थी दो बीघा भूमि

गंगा भोगपुर तल्ला में ग्रामीणों को गुमराह कर उनकी भूमि को औने-पौने दामों पर खरीदने का खेल हत्यारोपित पुलकित आर्य के रसूखदार परिवार ने ही शुरू किया था। करीब 12 वर्ष पहले पुलकित आर्य के पिता पूर्व दायित्वधारी और भाजपा नेता डा. विनोद आर्य ने यहां करीब दो बीघा भूमि ग्रामीणों से खरीदी थी।

  • इस भूमि का बकायदा रजिस्ट्री और दाखिला भी आर्य परिवार के नाम पर है।

यहां लगाया आंवला कैंडी बनाने का प्लांट

भूमि खरीदने के बाद डा. विनोद आर्य ने यहां आंवला कैंडी बनाने का एक प्लांट लगाया था। जब यह प्लांट शुरू हुआ तो इससे निकलने वाला गंदा पानी स्थानीय लोगों के लिए परेशानी का सबब बन गया।

  • ग्रामीणों ने इसका विरोध किया, मगर, आर्य परिवार के रसूख के आगे न तो ग्रामीणों की सुनवाई हुई और न कारखाने के खिलाफ कोई कार्रवाई हुई।

फैक्ट्री के हिस्से को रिसार्ट के रूप में बदला

बताया जा रहा है कि वर्ष 2017-18 में पुलकित आर्य ने इसी फैक्ट्री के ऊपर हिस्से को एक रिसार्ट (Vantara Resort ) के रूप में तब्दील कर दिया। यहां पर करीब 10-12 कमरे बनाए गए। इसके साथ ही आंवला कैंडी का प्लांट भी यहां दूसरे हिस्से में जारी रखा।

पहले किराये पर दिया था रिसार्ट का संचालन

बताया जा रहा है कि शुरूआत में पुलकित आर्य ने इस रिसार्ट को संचालन के लिए किराये पर दे दिया। एक बंगाल मूल के व्यक्ति ने कुछ समय इस रिसार्ट का संचालन किया। मगर, रिसार्ट नहीं चल पाया और उसने रिसार्ट छोड़ दिया।

अय्यासी का अड्डा बन गया था रिसार्ट

बाद में पुलकित आर्य ने स्वयं ही इस रिसार्ट को संभाला। बताया जा रहा है कि यहां पर्यटक तो कभी-कभार ही आते थे। मगर, यह रिसार्ट पुलकित आर्य के अय्यासी का अड्डा जरूर बन गया।

Ankita Murder Case: हरीश रावत बोले- कौन हैं वे VIP जिसके लिए अंकिता पर बनाया जा रहा था दबाव, देखें वीडियो

अंकिता हत्‍याकांड के बाद चर्चाओं में आया रिसार्ट

अंकिता हत्याकांड (Ankita Murdered Case Story) के बाद यह रिसार्ट अब चर्चा में आया तो इस तरह के रिसार्ट के संचालन पर भी कई सवाल खड़े हुए हैं। पौड़ी जिला प्रशासन ने इस घटना के बाद वनन्तरा रिसार्ट की जांच शुरू कर दी है।

Ankita Murder Case: किस तरह हुई थी अंकिता भंडारी की मौत? फाइनल पोस्टमार्टम रिपोर्ट में हुए खुलासे

रिसार्ट के लिए पास नहीं कराया गया मानचित्र

तहसीलदार मनजीत सिंह गिल ने बताया कि प्राथमिक जांच में पता चला कि इस निर्माण का मानचित्र किसी भी आथेरिटी से स्वीकृत ही नहीं कराया गया था। उन्होंने बताया कि पूर्व में कृषि भूमि रही इस भूमि का लैंड यूज फैक्ट्री लगाने या व्यवसायिक उपयोग के लिए भी बदला गया या नहीं इसकी भी जांच की जा रही है।

Ankita Murder Case: तो क्‍या वनन्तरा रिसार्ट में हो रहा था वन्यजीवों का शिकार? रिसार्ट की छत पर मिला है पिंजरा

Edited By: Sunil Negi

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट