देहरादून, जेएनएन। उत्तराखंड में सक्रिय आपराधिक गिरोह इन दिनों पुलिस के राडार पर हैं। एक जनवरी को 16 गिरोहों पर गैंगस्टर की कार्रवाई के बाद पुलिस अब ऐसे अन्य गैंग पर भी शिकंजा कसने की तैयारी कर रही है। इस संबंध में पुलिस महानिदेशक (अपराध एवं कानून व्यवस्था) अशोक कुमार ने सख्त फरमान जारी किया है। उनका कहना है कि देवभूमि का माहौल बिगाडऩे वाले अपराधी किसी भी कीमत पर बचने नहीं चाहिए।  इसके लिए उन्होंने सभी जिलों की पुलिस को पड़ोसी राज्यों में सक्रिय ऐसे बदमाशों की भी क्राइम हिस्ट्री मंगाने का निर्देश दिया है, जो उत्तराखंड में अपराध कर चुके हैं।

पुलिस के आंकड़ों की मानें तो फिलहाल उत्तराखंड के विभिन्न जनपदों में 65 आपराधिक गिरोह सक्रिय हैं। इन गिरोहों के 384 सदस्यों में से 56 की मृत्यु हो चुकी है। बाकी बचे सदस्यों में 144 शांत हैं, जबकि 130 सक्रिय हैं।

सक्रिय बदमाशों में भी 100 प्रदेश की विभिन्न जेलों में बंद हैं। इनमें 38 के खिलाफ कुर्की की कार्रवाई की गई है। 51 पेशेवर अपराधियों पर इनाम घोषित कर उनमें से 34 को गिरफ्तार किया जा चुका है। वहीं, राज्य में पूर्व में सक्रिय रहे सात गिरोहों को पुलिस ने गैंग चार्ट से बाहर कर उसके 52 सदस्यों की निगरानी बंद कर दी है। 

एक दिन में 16 गैंग पर गैंगस्टर

देहरादून में पुलिस ने बीती एक जनवरी को राज्य में सक्रिय आपराधिक गिरोहों में से 16 पर गैंगस्टर एक्ट के तहत कार्रवाई की। अब तक इन गिरोहों के 54 सदस्य चिह्नित किए जा चुके हैं। इनमें से अधिकांश जेल में हैं। कई सदस्यों का पुलिस के पास कोई सुराग तक नहीं है। पड़ोसी राज्यों से भी इनके आपराधिक इतिहास की जानकारी मांगी गई है। 

यह भी पढ़ें: संगीन वारदात में लिप्त 16 गिरोहों पर लगा गैंगेस्टर Dehradun News  

गिरफ्तारी को चलाया जाएगा विशेष अभियान 

पुलिस महानिदेशक, अपराध एवं कानून व्यवस्था अशोक कुमार के अनुसार, गिरोह बनाकर अपराध करने वाले बदमाशों की गिरफ्तारी के लिए 31 जनवरी तक विशेष अभियान चलाया जा रहा है। जल्द ही कई और गिरोहों पर गैंगस्टर की कार्रवाई की जाएगी।

यह भी पढें: उद्योगपति के घर हथियारबंद बदमाशों का धावा, लाखों की लूट को दिया अंजाम

Posted By: Bhanu

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस