गोपेश्वर, जेएनएन। चमोली कोतवाली क्षेत्र के थिरपाक गांव में एक बुजुर्ग की चाकू से गोदकर हत्या कर दी गर्इ। हत्या के बाद बदमाश शव कमरे के अंदर फेंक कमरे पर कुंडा और मुख्य गेट पर ताला लगाकर आरोपित फरार हो गए। घटना का पता तब लगा जब बुजुर्ग की बेटी और दामाद शिवरात्रि पर उसके घर पहुंचे। मौके पर पहुंची पुलिस ने घटनास्थल का जायजा लिया और शव का जिला चिकित्सालय में पोस्टमार्टम कराया।

चमोली कोतवाली की घाट पुलिस चौकी क्षेत्र के थिरपाक गांव में 75 वर्षीय जयकृष्ण सिंह बंगारी का शव घर के अंदर लहूलुहान हालत में मिला। शव पर कई जगह चाकू से गोदने के निशान हैं। पुलिस को बताया गया कि बुजुर्ग के बेटे की सड़क दुर्घटना और पत्नी की पहले ही मौत हो गई थी। पांच बेटियों में चार की शादी हो चुकी है। एक बेटी रुद्रप्रयाग जिले में स्वास्थ्य विभाग में कार्यरत हैं। जिस वजह से बुजुर्ग घर में अकेले ही रहते थे।

रविवार शाम उनकी बेटी और दामाद शिवरात्रि में शामिल होने के लिए घर पर पहुंचे तो घर के मुख्य गेट पर ताला लटका देखा। जब आस पड़ोस से जानकारी ली गई तो पता चला कि वे कई दिन से दिख नहीं रहे हैं। लोगों ने घर के अंदर झांका तो वहां पर खून जमा हुआ देखा गया। सूचना के बाद मृतक के रिश्तेदार मौके पर पहुंचे और मेन गेट का ताला तोड़ा। भीतर पूजा पाठ के कमरे का भी कुंडा लगा था। कुंडा खोलकर देखा तो अंदर बुजुर्ग का शव लहूलुहान हालत में पड़ा था। 

बुजुर्ग के दामाद विक्रम सिंह झिंक्वाण ने बताया कि जिस कमरे में शव पड़ा हुआ था उसका दरवाजा भी बाहर से बंद था। बुजुर्ग को 24 फरवरी को उनके पड़ोसी ने घर के बाहर देखा था। बुजुर्ग के अकेले रहने के चलते वह अक्सर अपनी बेटियों के पास जाते रहते थे। इसलिए आस पड़ोस वालों को उनके घर में ताला लगे रहने पर कोई शक नहीं हुआ। बताया गया कि बुजुर्ग के सिर के अलावा बदन और छाती सहित अन्य कई जगह जख्म है। घटनास्थल पर एक चाकू भी बरामद हुआ है। माना जा रहा है कि चाकू से गोदकर हत्या की गई है। 

परिजनों के अनुसार, गेट के ताले की चाबी अभी तक नहीं मिली है। जबकि बुजुर्ग का पर्स भी गायब है। मामले की गंभीरता को देखते हुए पुलिस उपाधीक्षक मिथिलेश सिंह और  कोतवाल महेश लखेड़ा ने मौके का निरीक्षण किया। पुलिस अधीक्षक यशवंत सिंह चौहान ने बताया कि पोस्टमार्टम रिपोर्ट के बाद ही मौत के कारणों के बारे में कुछ कहा जा सकता है। उन्होंने कहा कि मृतक के शरीर पर चाकू के हल्के निशान हैं। तथा मृतक को पाइल्स की भी शिकायत थी। घर में बिखरे खून सहित हर पहलू पर जांच की जा रही है। 

बुजुर्ग का मोबाइल भी किसी और ने उठाया

बुजुर्ग के परिजनों का कहना है कि मृतक का मोबाइल नंबर कोई अनजान व्यक्ति उठा रहा था। जबकि बीते दिन से वह नंबर बंद आ रहा है। बताया गया कि मृतक का मोबाइल भी घर में नहीं मिला है। मृतक के कमरे में एक बैग खाली मिला है। इस बैग में क्या था इसको लेकर परिजनों को पता नहीं है।

24 घंटे के भीतर मुकदमा तक दर्ज नहीं

पुलिस ने हत्याकांड का पता लगने के करीब 24 घंटे बाद बदमाशों का पता लगाना तो दूर अभी मुकदमा तक दर्ज नहीं किया है। परिजनों की तहरीर के बावजूद पुलिस पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद मुकदमा दर्ज करने की बात कह रही है। इससे पुलिस की कार्यप्रणाली पर सवाल उठ रहे हैं।

यह भी पढ़ें: प्रेमी के साथ मिलकर की थी पति की हत्या, आजीवन कारावास की सजा

यह भी पढ़ें: एक व्यक्ति ने नशे की हालत में हवा में झोंकी फायर, गिरफ्तार

इंडियन टी20 लीग

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस