बागेश्वर, [जेएनएन]: अंडर 19 क्रिकेट व‌र्ल्ड कप खेल चुके ऑलराउंडर क्रिकेटर कमलेश नगरकोटी ने कहा कि प्रतिभा किसी सरकारी सुविधा की मोहताज नही होती है। क्रिकेट एसोसिएशनों में राजनितिज्ञों का हस्तक्षेप नही होना चाहिए। क्रिकेट की समझ रखने वाले लोग ही आने चाहिए।

पर्यटन आवास गृह में पत्रकार वार्ता में अंडर 19 व‌र्ल्ड कप के स्टार ऑलराउंडर कमलेश नगरकोटी ने कहा कि उत्तराखंड राज्य को रणजी क्रिकेट प्रतियोगिता के लिए मान्यता मिल गई है। जो एक मील का पत्थर साबित होगा। यहां की प्रतिभाओं को अब आगे बढ़ने के मौके मिलेंगे। अभी तक वह किसी भी प्रतियोगिता में भाग नही ले पाते थे। उसके लिए उन्हें दूसरे राज्यों के भरोसे ही रहना पड़ता था। 

उन्होंने कहा कि उन्हें खुद राजस्थान से रणजी टीम से खेलने का मौका मिला। यहां रहने वाले क्रिकेट खिलाड़यिों के लिए बेहतर अवसर पैदा होंगे। उन्होंने कहा कि प्रदेश के पहाड़ी जिलों में खेल सुविधाओं का अभाव है। बागेश्वर में तो एक खेल मैदान भी नहीं है। जो दुर्भाग्यपूर्ण है। 

उन्होंने कहा कि खेलों में अब कॅरियर की काफी संभावनाएं है। महेंद्र सिंह धोनी, मनीष पांडे, उन्मुक्त चंद, आर्यन जुयाल जैसे खिलाड़ी यहां से निकले हैं। जो राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय स्तर पर देश का प्रतिनिधित्व कर रहे है। 

केकेआर की टीम से आइपीएल खेल चुके कमलेश नगरकोटी ने कहा कि लक्ष्य प्राप्ति के लिए निरंतर साधना व संकल्प की आवश्यकता है। सरकारी सुविधाओं के भरोसे बैठकर भी सपना साकार नहीं हो सकता है। इसके लिए कड़ी मेहनत व लक्ष्य प्राप्ति के लिए किए गए प्रयास बहुत आवश्यक हैं। 

उन्होंने युवाओं के लिए कहा कि वह सपना देखें और कोशिश करें। इसके लिए चाहे घर से बाहर हीं क्यों न निकलना पड़े। उन्होंने कहा कि क्रिकेटर भुवनेश्वर कुमार उनके सबसे बेस्ट खिलाड़ी व आदर्श है। उनसे काफी कुछ सीखने को मिल रहा है।

यह भी पढ़ें: कूह स्पोर्ट्स औक जीएसआर ऐकेडमी क्रिकेट के सेमीफाइनल में पहुंचे

यह भी पढ़ें: एसीए ने हिमालयन ऐकेडमी को 229 रनों से हराया

यह भी पढ़ें: सोहेल की बदौलत जीती आस्था क्रिकेट ऐकेडमी