नई दिल्ली (शिल्पा श्रीवास्तवा)। केबल और DTH सर्विसेज को लेकर टेलिकॉम रेग्युलेटरी अथॉरिटी ऑफ इंडिया (TRAI) ने नया फ्रेमवर्क यानी नए नियम जारी किए थे। इन्हें 1 फरवरी 2019 से लागू कर दिया गया है। TRAI के इस नए फ्रेमवर्क के मुताबिक, टीवी यूजर्स का मासिक बिल कम हो जाएगा। अगर यूजर सिर्फ वही चैनल चुनेंगे जिन्हें वो देखते हैं तो उनका टीवी बिल पहले के मुकाबले कम आएगा। हालांकि, TRAI के इस दावे को ग्लोबल एनालिटिकल कंपनी Crisil की एक रिपोर्ट चुनौती देती नजर आ रही है। Crisil की इस रिपोर्ट में केबल यूजर्स को सचेत किया गया है कि आने वाले महीनों में उनकी टीवी बिल पहले के मुकाबले 25 फीसद तक बढ़ सकता है। अगर Crisil की यह रिपोर्ट सही साबित होती है तो TRAI द्वारा लागू किया गया नया फ्रेमवर्क पूरी तरह से फेल हो जाएगा। इस मामले को लेकर जागरण टेक टीम ने TRAI के प्रिंसिपल एडवाइजर फॉर ब्रॉडकास्ट एंड केबल सर्विसेज देव कुमार से बात की। इस पूरे वाकया पर देव कुमार का क्या कहना है ये हम आपको यहां बता रहे हैं।

नहीं बढ़ेगा टीवी बिल- देव कुमार

TRAI के प्रिंसिपल एडवाइजर फॉर ब्रॉडकास्ट एंड केबल सर्विसेज देव कुमार का कहना है कि आज दोपहर करीब 12:30 बजे TRAI के चेयरमैन आर. एस. शर्मा ने प्रेस कॉन्फ्रेंस की है। इस कॉन्फ्रेंस में आर. एस. शर्मा ने कहा है इस बात को सिरे से खारिज कर दिया है कि नए फ्रेमवर्क से यूजर का मासिक टीवी बिल बढ़ जाएगा। उन्होंने कहा है कि रिपोर्ट में तमिल, तेलुगु, बंगाली आदि भाषाओं के चैनल को मिलाकर पैकेज दिखाए जा रहे हैं और कहा जा रहा है कि इनसे यूजर्स का मासिक टीवी बिल बढ़ जाएगा। लेकिन अगर देखा जाए तो कोई भी यूजर इतने चैनल देखता ही नहीं है। किसी भी एक यूजर को सभी भाषाओं का ज्ञान नहीं होगा। ऐसे में उन्हें इतने चैनल का शुल्क देने की कोई आवश्यकता नहीं है। अगर यूजर सिर्फ वही चैनल लेता है जो वो सही में देखता है तो उसे ज्यादा शुल्क नहीं देना पड़ेगा।

TRAI ने अपना डाटा किया प्रोजेक्ट:

आर. एस. शर्मा ने इस प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान एक डाटा प्रोजेक्ट किया है जिसमें बताया गया है कि किस तरह नए नियमों के बाद यूजर्स का मासिक टीवी बिल कम हो जाएगा। TRAI द्वारा प्रोजेक्ट की गई रिपोर्ट में एक MSO IMCL का डाटा दिखाया गया है। इस रिपोर्ट में बताया गया है कि IMCL के 1.5 मिलियन यानी करीब 15 लाख यूजर्स ने नए फ्रेमवर्क पर शिफ्ट किया है। इन यूजर्स का जहां पहले टीवी का मासिक बिल 300 रुपये से ज्यादा आता था। वहीं, नए नियमों के बाद यह शुल्क 300 रुपये से कम 270 या 280 रुपये हो गई है। ये डाटा दिल्ली और मुंबई समेत कुछ अन्य क्षेत्रों का है। अगर TRAI की इस रिपोर्ट पर गौर किया जाए तो केबल और DTH सर्विसेज के फ्रेमवर्क में बदलाव होने से यूजर्स को फायदा होता नजर आ रहा है।

अन्य कंपनियों का डाटा मर्ज कर जल्द पेश करेगा TRAI:

देव कुमार ने बताया कि जिस तरह IMCL का डाटा उनके पास आया था। उसी तरह कुछ अन्य कंपनियों का डाटा भी कलेक्ट किया जा रहा है। सभी डाटा को मर्ज कर TRAI प्री और पोस्ट डाटा की एक रिपोर्ट अपनी आधिकारिक वेबसाइट पर जारी करेगी। इस रिपोर्ट में नए फ्रेमवर्क से पहले क्या तस्वीर थी और नया फ्रेमवर्क लागू होने के बाद क्या तस्वीर है इसकी जानकारी दी गई होगी।

यह भी पढ़ें:

Samsung Galaxy M20 Review: ₹13000 की रेंज में क्या Xiaomi Redmi Note 6 Pro को देगा टक्कर

Nokia 5.1 Plus का 4GB और 6GB रैम वेरिएंट के साथ हुआ लॉन्च, जानें कीमत और लॉन्च ऑफर्स

Xiaomi ने रखा लाइफस्टाइल कैटेगरी में कदम, 2499 रु में लॉन्च किए Mi Sports Shoes

 

Posted By: Shilpa Srivastava

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप