नई दिल्ली (टेक डेस्क)। आधार कार्ड के डाटा लीक होने की गुंजाइश को समाप्त करने के लिए भारतीय विशिष्ट पहचान पत्र प्राधिकरण (UIDAI) ने अब मोबाइल से लेकर बैंकिंग सेवा में आधार नंबर की जगह वर्चुअल आईडी का इस्तेमाल करने का निर्देश दिया है। ग्राहक अगले महीने से आधार कार्ड की जगह वर्चुअल आईडी का इस्तेमाल कर सकते हैं। आप भी सोच रहे होंगे कि ये वर्चुअल आईडी है क्या और इसे कैसे बनाया जा सकता है? तो आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है। आज हम आपको इसके बारे में बताने जा रहे हैं।

क्या है वर्चुअल आईडी?

आपको बता दें कि यह 16 डिजिट का नंबर है जिसे आधार के विकल्प के तौर पर इस्तेमाल किया जा सकेगा। इसके लिए RBI ने सभी बैंकों के सिस्टम में बदलाव करने का आदेश दिए हैं। वर्चुअल आईडी को आधार कार्ड धारक द्वारा बनाया व बदला जा सकता है। वर्चुअल आईडी को आधार कार्ड धारक कई बार बदल सकते हैं। यानी कि इसके लिए कोई सीमा तय नहीं की गई है। फिलहाल वर्चुअल आईडी न्यूनतम एक दिन के लिए वैध है। इसका मतलब आधार धारक वर्चुअल आईडी को एक दिन के बाद री-जनरेट कर सकते हैं।

कहां कर सकते हैं इस्तेमाल?

आपको बता दें कि वर्चुअल आईडी की सभी भुगतान बैंक, बीमा कंपनी, एनपीसीआई, पीपीआई, एनबीएफसी, टेलिकॉम ऑपरेटर या अन्य एजेंसियों पर सत्यापन के लिए जरुरत होगी। यह आधार नंबर का विकल्प है जिससे आधारकार्ड धारक की गोपनियता बनी रहेगी।

इस तरह बना सकते हैं वर्चुअल आईडी:

वर्चुअल आईडी को जनरेट करना या बनाना बहुत ही आसान है। आइए, हम आपको इसे बनाने के लिए स्टेप बाय स्टेप पूरा प्रोसेस बताने जा रहे हैं।

स्टेप 1: सबसे पहले आप UIDAI (यूआईडीएआई) के वेबसाइट पर जाएं और वर्चुअल आईडी (VID) जनरेटर सेक्शन में जाएं।

स्टेप 2: यहां पर आप अपने 12 अंकों का आधार नंबर दर्ज करें और पेज पर दिए गए सिक्योरिटी कोड को दर्ज करें।

स्टेप 3: जानकारी दर्ज करते ही आपके रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर (आधार कार्ड के साथ) पर एक OTP (वन टाइम पासवर्ड) आएगा। इस OTP (वन टाइम पासवर्ड) को आपको UIDAI के पेज पर दर्ज करना है।

स्टेप 4: यहां आपको दो ऑप्शन्स मिलेंगे, पहला कि आप एक नया वर्चुअल आईडी जनरेट कर सकते हैं और दूसरा अगर आप चाहें तो अपने पुराने वर्चुअल आईडी (अगर आपने पहले कभी जनरेट किया हो) को रिकवर भी कर सकते हैं। नया वर्चुअल आईडी जनरेट करने के लिए आपको जनरेट वर्चुअल आईडी (VID) पर क्लिक करना होगा।

स्टेप 5: इसके बाद आपके मोबाइल नंबर पर एक एसएमएस आएगा, जिसमें आपका वर्चुअल आईडी और रजिस्ट्रेशन करने की तारीख दी गई होगी।

स्टेप 6: आप अपने इस वर्चुअल आईडी को बैंक और अन्य जरूरी सेवाओं में इस्तेमाल कर सकते हैं। अगर आप अपने इस वर्चुअल आईडी को आगे भी इस्तेमाल करना चाहते हैं तो आपके फोन में आए हुए एसएमएस को सेव कर लें या कहीं लिख कर रख लें। अगर, आपका वर्चुअल आईडी किसी तरह से खो जाता है तो आप ऊपर दिए गए स्टेप्स को फॉलो करके दोबारा से नया वर्चुअल आईडी जनरेट कर सकते हैं या उसे फिर से रिकवर कर सकते हैं।

आशा है कि आप ऊपर बताई गई जानकारी से आधार कार्ड का वर्चुअल आईडी आसानी से जनरेट कर सकेंगे और आधार कार्ड के डाटा लीक होने की समस्या से मुक्त हो जाएंगे।

यह भी पढ़ें:

एयरटेल ने उतारा 299 रुपयेका नया प्लान, वोडाफोन और जियो को मिलेगी चुनौती

Moto Z3 Play इन मामलों में OnePlus 6 से हो सकता है बेहतर, पढ़ें कम्पैरिजन

ऑनलाइन धोखाधड़ी पर लगेगा लगाम, बॉयोमैट्रिक तरीके से होगा पेमेंट

Posted By: Harshit Harsh

अब खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस, डाउनलोड करें जागरण एप