नई दिल्ली (टेक डेस्क)। Census 2021 के लिए गणना करने वाले लोग अब अपने साथ पेपर फॉर्म नहीं, बल्कि मोबाइल लेकर आएंगे। दरअसल, रजिस्ट्रार जनरल ऑफ इंडिया (RGI) और जनगणना आयुक्त एक मोबाइल एप्लिकेशन पर काम कर रहे हैं जो प्रगणकों (enumerators) को उनके फोन पर संबंधित डाटा कैप्चर करने में मदद करेगी। गृह मंत्रालय के एक अधिकारी के अनुसार, यह डाटा को तेज और आसान तरीके से जुटाने का अच्छा तरीका है। इससे पेपर पर डाटा इकट्ठा करने के बाद उसकी इलेक्ट्रॉनिक डाटा-एंट्रीज की जरूरत खत्म हो जाएगी।

जनगणना के लिए पहली बार इस्तेमाल होगी मोबाइल ऐप:

भारत में जनगणना की 140 वर्ष की हिस्ट्री में पहली बार डाटा को मोबाइल ऐप के जरिए कलेक्ट किया जाएगा। इससे प्रगणकों (enumerators) को अपने फोन का इस्तेमाल करने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा। RGI के अधिकारियों ने यह भी कहा कि जनगणना के आंकड़ों को रिकॉर्ड करने के लिए एन्यूमरेटर्स को उनके फोन का इस्तेमाल करने के लिए भुगतान भी किया जाएगा। खबरों के मुताबिक, RGI के प्रभारी और जनगणना मामलों के अधिकारी ने कहा कि पेपर के जरिए जनगणना का विकल्प रहेगा, लेकिन इस तरह के डाटा को इलेक्ट्रॉनिक तौर पर एन्यूमरेटर्स को प्रस्तुत करना होगा।

Tech Videos देखने के लिए हमारे यूट्यूब चैनल HiTech को Subscribe करें

डाटा इकट्ठा करना होगा आसान और तेज:

इस तरह से एन्यूमरेटर्स को कागज पर डाटा इकट्ठा करने की परेशानी से छुटकारा मिल जाएगा और वो मोबाइल पर सीधे इसकी रिकॉर्डिंग विकल्प को चुन पाएंगे। अधिकारी ने कहा कि डाटा इलेक्ट्रॉनिक रूप से दर्ज किया जाएगा। ऐसे में जिलावार, राज्यवार और अखिल भारतीय रुझानों को इकट्ठा करना आसान और तेज हो जाएगा।

यह भी पढ़ें:

Realme 3 Pro 22 अप्रैल को होगा लॉन्च, कंपनी ने भेजे इनवाइट

Galaxy A80 बनाम OnePlus 6T बनाम View 20: पढ़ें पूरी कंपेरिजन

Airtel देगी Jio को मात, VoLTE सर्विस के लिए Ericsson-Nokia से मिलाया हाथ 

Posted By: Shilpa Srivastava

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस