अमृतसर/जालंधर, जेएनएन। कोरोना के खिलाफ जंग के बीच बड़ा खेल सामने आया है। पंजाब में पॉजिटिव मरीजों का इलाज करने वाले डॉक्टरों की सुरक्षा के लिए खरीदी गई पीपीई किट्स पर भ्रष्‍टाचार की धूल की परत चढ़ा दी गई। घटिया पीपीई किट्स की सप्लाई के कई मामले राज्य में सामने आ चुके हैं, लेकिन पंजाब में भ्रष्‍टाचार का यह गेम खुलकर और बड़े पैमाने पर हुआ। यह किट्स किस कंपनी ने बनाईं और किस कंपनी से इन्हें खरीदा गया इसकी जानकारी जांच शुरू होने के एक महीने बाद भी सामने नहीं आ सकी।

महंगे दाम पर किस कंपनी ने किया घटिया किट्स का खेल, कार्रवाई तो दूर कंपनी का नाम तक सार्वजनिक नहीं

घटिया पीपीई किट्स सप्लाई को लेकर पंजाब में अमृतसर, लुधियाना और पटियाला में सेहत कर्मियों द्वारा विरोध किया गया। अमृतसर में तो इस मामले में डॉक्टर ही नहीं बल्कि पैरा मेडिकल स्टाफ ने भी अस्पताल प्रबंधन के खिलाफ मोर्चा खोल दिया। भ्रष्टाचार के आरोप लगाए गए और मामले की उच्च स्तरीय जांच की मांग हुई।

दरअसल, अमृतसर में सांसद निधि से 20 अप्रैल को 41.43 लाख रुपये खर्च कर 2000 पीपीई किट्स की खरीद पर उस समय सवाल उठे जब डॉक्टरों ने किट्स पहनी और वह फटने लगीं। सेहत कर्मियों ने आरोप लगाए कि जब बेहतर क्वालिटी पीपीई किट मार्केट में 800 से 1200 रुपये में उपलब्ध हैं तो घटिया किट्स के लिए प्रति किट करीब 2070 रुपये क्यों खर्च किए गए?

अमृतसर में मेडिकल शिक्षा मंत्री के आदेश पर शुरू हुई जांच की रिपोर्ट का एक महीने बाद भी इंतजार

विरोध बढ़ता देख मेडिकल शिक्षा एवं खोज विभाग मंत्री ओमप्रकाश सोनी ने मामले का खुद संज्ञान लिया और जांच के आदेश दिए। जांच एडीसी (डवलपमेंट) डॉ. पल्लवी को सौंपी गई। एक महीने बाद भी न तो जांच पूरी हुई और न ही घटिया किट्स सप्लाई करने वाली कंपनी का नाम सामने आया। अब सवाल उठने लगे हैैं कि मार्केट रेट से ज्यादा कीमत पर घटिया पीपीई किट्स सप्लाई करने वाली इस कंपनी ने जो 'खेल' किया उसके पीछे असली कहानी क्या है।

लुधियाना में माहिरों की कमेटी करने लगी जांच

लुधियाना से भी कोरोना के खिलाफ अग्रिम पंक्ति में लड़ रहे डाक्टरों के लिए मई की शुरुआत में घटिया क्वालिटी की पीपीई किट्स की सप्लाई को लेकर मामला सरकार के समक्ष पहुंचा। इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने भी सरकार से आग्रह किया है कि सरकार अपनी देखरेख में किट की क्वालिटी परखे और फिर कोरोना योद्धाओं को सप्लाई की जाए। उसके बाद सिविल सर्जन डॉ. राजेश बग्गा ने किट की जांच के लिए माहिर डाक्टरों की कमेटी बना दी। अब किट के उपयोग से पहले डाक्टरों की टीम किट की जांच करती है। इसके बाद ही किट सेहत कर्मियों को उपयोग के लिए दी जाती है।

अमृतसर में यह कमियां आई सामने

- पीपीई किट्स का कपड़ा बहुत निम्न स्तर का था

- किट को पहनते ही यह फट जाती थी।

- किट्स में एन-95 मास्क नहीं था।

-----

लुधियाना में यह कमियां आईं सामने

- पीपीई किट्स का मेटीरियल प्लास्टिक जैसा था।

- कई किट्स में ऐनक और शू कवर टूटे हुए निकले।

- कई किट्स में एन 95 मास्क नहीं थे।

---

'' हर किट पर क्वालिटी सर्टिफिकेट की स्टैंप लगी हो, ताकि डाक्टरों एवं पेरामेडिकल स्टॉफ की सेहत से खिलवाड़ न हो सके। सरकार को यह सुनिश्चित करना चाहिए।

                                                                        - डॉ. सुनील कत्याल, जिला प्रधान आइएमए, लुधियाना।

------

'' पंजाब के पास एक लाख पीपीई किट्स उपलब्ध हैैं। अब पीपीई किट केंद्र सरकार दे रही है तो पंजाब ने पिछले 10 दिनों से पीपीई किट की खरीद बंद कर दी गई है। अब तक जो भी पीपीई किट्स खरीदी गई हैैं वह मान्यता प्राप्त कंपनियों से ही खरीदी है। हरेक पीपीई किट पर यूनिक सर्टिफिकेट कोड (यूएससी) होता है।

                                                                                        - कुमार राहुल, सचिव सेहत विभाग, पंजाब।

-------

''अमृतसर वाले मामले की जांच अभी जारी है। जांच पारदर्शी ढंग से चल रही है और जल्द ही सारी सच्चाई सामने आ जाएगी।

                                                                      - ओमप्रकाश सोनी, मंत्री, मेडिकल शिक्षा एवं खोज विभाग।

------

'' सरकार केवल उन 57 कंपनियों से ही पीपीई किट खरीद रही है जो विभिन्न एजेंसियों द्वारा अप्रूवड हैं। इनसे बाकायदा एफिडेविट भी लिए जाते हैं कि अगर पीपीई किट में कोई खराबी निकली तो इसकी जिम्मेवारी संबंधित कंपनियों की होगी। अगर कोई किट खराब आई है तो निश्चित रूप से यह किटें हमारे द्वारा अप्रूवड कंपनियों से नहीं खरीदी होंगी। पीपीई किटों की मांग बढऩे के कारण कुछ और कंपनियां भी इसमें उतर आई होंगी।

                                                                                             - सुंदर श्याम अरोड़ा, उद्योग मंत्री, पंजाब।

 

 

 

यह भी पढ़ें: अमेरिका से अमृतसर आए 167 लोगों में अलकायदा का खतरनाक आतंकी भी, खुलासे से हड़कंप



यह भी पढ़ें: अमृतसर से अमेरिका तक लोगाें की जुबां पर होगा मोगा, साेनू सूद व विकास खन्‍ना ने बढा़ई शान

 

यह भी पढ़ें: अमेरिका में गिरफ्तार किए गए 167 लोग अमृतसर पहुंचे, देखें पंजाब व हरियाणा के लाेगों की List

 

यह भी पढ़ें: वंडर गर्ल है म्‍हारी जाह्नवी, दुनिया भर के युवाओं की आइकॉन बनी हरियाणा की 16 की लड़की 

 

 

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

 

Posted By: Sunil Kumar Jha

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस

ਪੰਜਾਬੀ ਵਿਚ ਖ਼ਬਰਾਂ ਪੜ੍ਹਨ ਲਈ ਇੱਥੇ ਕਲਿੱਕ ਕਰੋ!