चंडीगढ़, जागरण डेस्क। पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड में वांछित गैंगस्टर गोल्डी बराड़ को अमेरिका के कैलिफोर्निया में हिरासत में लेने का दावा झूठा निकला है। केंद्रीय एजेंसियों का कहना है कि उसे एक ड्रग्स केस में पूछताछ के लिए बुलाया गया था। कैलिफोर्निया की फ्रेसनो सिटी में स्थानीय पुलिस ने इस मामले में उससे तीन बार पूछताछ की है। उससे मूसेवाला हत्याकांड के बारे में कोई सवाल नहीं किया गया। हालांकि, अमेरिकी जांच एजेंसियां लगातार गोल्डी बराड़ पर नजर रख रही हैं। उसे दोबारा भी पूछताछ के लिए बुलाया जा सकता है।

गोल्डी बराड़ ने जारी किया वीडियो

हिरासत में लिए जाने की खबर के बाद गोल्डी बराड़ ने भी वीडियो जारी कर कहा था कि वह किसी हिरासत में नहीं है। इससे पंजाब सरकार की काफी किरकिरी हो रही है। उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री भगवंत मान ने दो दिसंबर को गुजरात के अहमदाबाद में प्रेस कांफ्रेंस कर कहा था कि गोल्डी बराड़ को हिरासत में लिया गया है और उसे जल्द भारत लाने का प्रयास किया जाएगा।

वहीं, पंजाब पुलिस के अधिकारियों ने बताया कि बराड़ के बारे में इसलिए कोई आधिकारिक बयान नहीं दिया जा रहा, क्योंकि वह कनाडा से राजनीतिक शरण के लिए कैलिफोर्निया गया था। उसका कहना है कि उसे जानबूझ कर सिद्धू मूसेवाला केस में फंसाया जा रहा है। उसे शक है कि भारत लाकर उसका एन्काउंटर किया जा सकता है।

Punjab News: भारत-पाकिस्तान सीमा के पास दिखा ड्रोन, 2.5 किलो हेरोइन बरामद, 4 दिन में चौथी घटना

विपक्ष लगातार सरकार पर साध रही निशाना

गोल्डी बराड़ की हिरासत संबंधी खबरों पर विपक्ष लगातार सरकार पर निशाना साध रहा है। विपक्ष मांग कर रहा है कि डीजीपी गौरव यादव आधिकारिक बयान दें, ताकि सही स्थिति स्पष्ट हो सके। यह भी बताया जाए कि उसे भारत लाने के लिए क्या प्रयास किए जा रहे हैं।

गौरतलब है कि गोल्डी बराड़ के विरुद्ध पंजाब में 25 से ज्यादा मामले दर्ज हैं। इनमें हत्या, हत्या का प्रयास, अपहरण व रंगदारी वसूलना जैसे केस शामिल हैं। उसके विरुद्ध दो पुराने मामलों में रेड कार्नर नोटिस भी जारी किया जा चुका है। 29 मई को मूसेवाला की मानसा में गोलियां मार कर हत्या कर दी गई थी। इसके तत्काल बाद गोल्डी बराड़ ने कनाडा से हत्या की जिम्मेदारी ली थी। तब से ही पंजाब सरकार और स्थानीय पुलिस को उसकी तलाश है।

तेज रफ्तार ट्रक ने मारी स्कूल वैन को टक्कर, आठ साल की छात्रा और चालक की मौके पर मौत

विपक्ष की बयानबाजी से गोल्डी बराड़ को फायदा

वित्तमंत्री हरपाल चीमा का कहना है कि विपक्ष जिस प्रकार से बयानबाजी कर रहा है, उसका फायदा गोल्डी बराड़ को अमेरिका में राजनीतिक शरण लेने में मिलेगा। विपक्ष को ऐसी टिप्पणियों से बचना चाहिए। सरकार उसके प्रत्यर्पण के लिए पूरी कोशिश कर रही है।

रात 9:30 बजे काट दी जाएगी बिजली, मैसेज पर क्लिक करते ही रिटायर्ड आर्मी आफिसर के साथ हो गई 1.5 लाख की ठगी

Edited By: Nidhi Avinash

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट