जम्मू, जागरण न्यूज नेटवर्क। सीमा सुरक्षाबल (बीएसएफ) के जवानों पर हमला करने वाले पाकिस्तान ने नए साल की शुरुआत भारतीय सीमा पर रातभर मोर्टार दागने से की। पाक ने हीरानगर व सांबा सेक्टर में 16 चौकियों को निशाना बनाया। रक्षा मंत्री मनोहर पार्रिकर ने पड़ोसी देश पर निशाना साधते हुए कहा, जवाबी कार्रवाई में चार रेंजर्स खोने के बाद भी पाक सबक सीखने को तैयार नहीं है। हमने क्षमता से दोगुना अधिक उसे जवाब दिया है।

बुधवार रात साढ़े 12 बजे से बृहस्पतिवार सुबह छह बजे तक हुई भारी गोलाबारी का भारत ने भी करार जवाब दिया। किसी नुकसान की सूचना नहीं है। सीमा पर घने कोहरे में घुसपैठ रोकने को जवान चप्पे-चप्पे पर तैनात हैं। बीएसएफ जम्मू फ्रंटियर के आइजी राकेश शर्मा ने कहा, अगर पाक रेंजर हम पर गोलीबारी करते हैं तो उन्हें सीधा निशाना बनाया जाएगा। पाकिस्तानी क्षेत्र में किसी तबाही का वह खुद जिम्मेदार होगा। गोलीबारी में बुधवार को शहीद जवान को श्रद्धासुमन अर्पित करने के बाद शर्मा ने कहा, इस समय अंतरराष्ट्रीय सीमा के पार साठ आतंकी घुसपैठ की ताक में हैं। इस चुनौती से निपटने के पुख्ता प्रबंध किए गए हैं। पाक को मुंह की खानी पड़ेगी। आइजी ने कहा, बुधवार को पाक ने सीमा पर गश्त कर रहे जवानों को निशाना बनाने के साथ गोलीबारी की। जवाबी कार्रवाई में चार रेंजरों के मारे जाने के बाद पड़ोसी देश ने सफेद झंडे फहराए। भारतीय जवानों गोलीबारी बंद कर दी और रेंजर शवों को ले गए। इसके बाद पाक ने रात साढ़े 12 बजे फिर मोर्टार दागने शुरू कर दिए। बीएसएफ जवानों पर हुए हमले में आतंकियों के शामिल होने से इन्कार करते हुए आइजी ने कहा कि यह पाकिस्तानी रेंजरों की ही कार्रवाई थी।

हमारे जवान पूरी क्षमता के साथ देश की सीमाओं की रक्षा कर रहे हैं। भारत की तरफ कोई गलत निगाह नहीं उठा सकता। कोई ऐसा करेगा तो माकूल जवाब मिलेगा। -राजनाथ सिंह, गृह मंत्री

चीन ने किया सीमा पर शांति रखने का वादा

जम्मू। भारत और चीन सेना लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा पर शांति बरकरार रखने के लिए वर्ष 2015 में एक-दूसरे को पूरा सहयोग देंगे। यह आम राय गुरुवार को लद्दाख के चुशुल इलाके में चीनी क्षेत्र में भारत और चीन की पीपुल्स लिब्रेशन आर्मी के अफसरों के बीच हुई बार्डर पर्सनल मीटिंग में बनी। इससे पहले चुशुल में झंडारोहण कार्यक्रम भी हुआ।

पढ़ें: पाक के दुस्साहस का करारा जवाब, मारे गए 4 पाक रेंजर

कच्छ से बरामद हुई पाकिस्तान की नाव

Edited By: Rajesh Niranjan