जागरण संवाददाता, नई दिल्ली। केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह वसंत कुंज स्थित केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) मुख्यालय की लिफ्ट में करीब पांच मिनट तक फंसे रहे। गृहमंत्री के साथ उनके ओएसडी विनोद कुमार सिंह, गृह राज्यमंत्री हरिभाई पारथिभाई चौधरी, सीआरपीएफ के महानिदेशक प्रकाश मिश्रा व भारत-तिब्बत सीमा पुलिस (आइटीबीपी) के महानिदेशक कृष्णा चौधरी भी थे। सुरक्षाकर्मियों ने आनन-फानन में लिफ्ट से सभी को निकाला तब जाकर अधिकारियों ने राहत की सांस ली। बताया जा रहा है कि ओवरलोड होने के कारण लिफ्ट बंद हो गई थी।

स्टूल पर चढ़कर बाहर निकले

गुरुवार को सीआरपीएफ के शौर्य दिवस का आयोजन था। राजनाथ सिंह इसी में शिरकत करने आए थे। मुख्यालय की पहली मंजिल पर बने ऑडिटोरियम में जाने के लिए गृहमंत्री समेत अन्य अधिकारियों ने लिफ्ट का सहारा लिया। करीब आधा मंजिल चलकर लिफ्ट बंद हो गई। इस पर सभी वीवीआइपी परेशान हो गए। उन्होंने इमरजेंसी अलार्म बटन दबाया। सुरक्षाकर्मी ने तुरंत टेकनीशियन को बुलाया और लिफ्ट खुलवाई।

राजनाथ सिंह ने पहले विनोद सिंह को लिफ्ट से निकलने के लिए कहा। इसके बाद स्टूल मंगवाया गया। स्टूल पर चढ़कर व विनोद सिंह के सहयोग से पहले हरिभाई चौधरी, फिर प्रकाश मिश्रा और कृष्णा चौधरी बाहर निकले। अंत में राजनाथ सिंह को लिफ्ट से बाहर निकाला गया। दरअसल, गृहमंत्री ने ही कहा था कि पहले सभी को निकाला जाए बाद में उन्हें। वरिष्ठ अधिकारियों को लिफ्ट की जांच व तकनीकी खामी दूर करने के लिए कहा गया है।

ये भी पढ़ेंः तुर्कमान केसः केजरीवाल के घर के बाहर भाजपा का विरोध प्रदर्शन

ये भी पढ़ेंः दहेज के लिए घर से निकाला तो धरने पर बैठी विवाहिता

Edited By: Abhishek Pratap Singh