नई दिल्ली, ऑनलाइन डेस्क। JTO Recruitment: जूनियर टेलीकॉम ऑफिसर (जेटीओ) यानि कनिष्ठ दूरसंचार अधिकारी की सरकारी नौकरी पाने की इच्छा ज्यादातर युवाओं में होती है। भारत सरकार के संचार मंत्रालय के दूरसंचार विभाग और इसके अधीन सार्वजनिक क्षेत्र की दूरसंचार कंपनी भारत संचार निगम लिमिटेड (बीएसएनएल) में जूनियर टेलीकॉम ऑफिसर की पदों पर समय-समय पर घोषित रिक्तियों के लिए भर्ती की जाती है। जेटीओ का पद ज्यादातर मामलों को में सर्किल आधारित कैडर में होता है और घोषित रिक्तियों के कैडर में चयनित उम्मीदवारों की नियुक्ति की जाती है। आमतौर पर कम से कम 5 वर्ष या निर्धारित अवधि तक सर्किल कैडर में तैनाती के बाद ऑल इंडिया कैडर में प्रोन्नति दी जाती है।

ऐसे होती है भर्ती

दूरसंचार विभाग और बीएसएनएल द्वारा जेटीओ पदों पर सीधी भर्ती की जाती है। हालांकि, जूनियर टेलीकॉम ऑफिसर की सरकारी नौकरी का एक और विकल्प है संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) द्वारा हर वर्ष आयोजित की जाने वाली इंजीनियरी सेवा परीक्षा। आयोग द्वारा इंजीनियरिंग सर्विसेस एग्जाम के माध्यम से जूनियर टेलीकॉम ऑफिसर के ग्रुप बी (समूह ख) पदों पर भर्ती के लिए चयन प्रक्रिया आयोजित की जाती है। इस प्रक्रिया में अंतिम रूप से सफल घोषित उम्मीदवारों की लिस्ट प्रशिक्षण एवं नियुक्ति के लिए भारत सरकार के कार्मिक लोक शिकायत और पेंशन मंत्रालय के कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग (डीओपीटी) को भेज दी जाती है।

यह भी पढ़ें- टेकसेवी युवाओं के लिए टेलीकम्युनिकेशन फील्ड में जॉब की अपार संभावनाएं...

यूपीएससी ईएसई में सम्मिलित होने के लिए योग्यता

यूपीएससी की इंजीनियरी सेवा परीक्षा के माध्यम से जेटीओ (ग्रुप बी) पदों पर भर्ती के लिए निर्धारित योग्यता के अनुसार उम्मीदवारों को किसी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय या अन्य उच्च शिक्षा संस्थान से इलेक्ट्रॉनिकी एवं दूरसंचार इंजीनियरी में स्नातक डिग्री (बीई या बीटेक) उत्तीर्ण होना चाहिए। इसके अतिरिक्त उम्मीदवारों की आयु परीक्षा के वर्ष में 1 जनवरी को 21 वर्ष से कम और 30 वर्ष के अधिक नहीं होनी चाहिए। हालांकि, विभिन्न आरक्षित वर्गों (एससी, एसटी, ओबीसी, आदि) के लिए अधिकतम आयु सीमा में केंद्र सरकार द्वारा निर्धारित नियमों के अनुसार छूट दी जाती है। अधिक जानकारी के लेटेस्ट यूपीएससी ईएसई नोटिफिकेशन 2021 देखें।

यह भी पढ़ें - Indian Army Officer Entry: भारतीय सेना में बिना परीक्षा अफसर बनने के ये हैं विकल्प, जानें योग्यता और चयन प्रक्रिया

चयन प्रक्रिया

यूपीएससी ईएसई परीक्षा 2021 की अधिसूचना के अनुसार चयन प्रक्रिया तीन चरण होते हैं। पहले चरण में प्रारंभिक परीक्षा का आयोजित किया जाता है। जिसमें सफल घोषित उम्मीदवारों कों मुख्य परीक्षा और फिर व्यक्तित्व परीक्षण के लिए बुलाया जाता है।

यह भी पढ़ें - Government Jobs for Women: फीमेल कैंडिडेट्स के लिए ये हैं बेस्ट सरकारी नौकरियां, इन पदों पर होती है भर्ती

Edited By: Rishi Sonwal