राज्य ब्यूरो, जम्मू। कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष विकार रसूल ने पूर्व मुख्यमंत्री गुलाम नबी आजाद पर निशाना साधते हुए उन्हें मिले पद्म भूषण को एक छोटा अवार्ड करार देकर विवाद पैदा कर दिया है। इस पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए आजाद ने कहा, ‘छोटे लोग, छोटी बात। कुछ लोग छोटी बात करते हैं। पद्म अवार्ड बहुत बड़ा अवार्ड है।’ आजाद ने कहा कि मैं इससे ज्यादा टिप्पणी नहीं कर सकता।

विकार रसूल ने अपने बयान पर दी सफाई

वहीं, भाजपा और डेमोक्रेटिक आजाद पार्टी ने भी कांग्रेस को घेरा। वहीं, डेमोक्रेटिक आजाद पार्टी के वरिष्ठ नेता आरएस चिब ने कहा कि विकार रसूल ने अपने छोटे पन को दर्शाया है। हालांकि, विवाद बढ़ता देख विकार तत्काल बैकफुट पर आ गए। रसूल ने सफाई देते हुए कहा कि मैं स्पष्ट कर देना चाहता हूं कि भाजपा सारे अवार्ड राजनीतिक आधार पर दे रही है। यह दर्शाता है कि जो उनके साथ आने वाला होता है या कांग्रेस से निकलने वाला होता है, उसे अवार्ड देते हैं। उन्होंने कहा कि अगर छोटा व बड़ा अवार्ड को लेकर गलत बात हो गई है तो उसे मैं वापस लेता हूं।

'कांग्रेस ने गुलाम नबी आजाद को सब कुछ दिया'

यह विवाद उस समय पैदा हुआ जब विकार रसूल गत शुक्रवार को डोडा के भलेसा में एक रैली को संबोधित कर रहे थे। विकार रसूल ने गुलाम नबी आजाद पर निशाना साधते हुए कहा कि जब आजाद विधायक बनने के बारे में भी नहीं सोच सकते थे, तब कांग्रेस ने उन्हें सब कुछ दिया। केंद्रीय मंत्री बनाया। पार्टी का महासचिव बनाया, लेकिन एक छोटे से अवार्ड और प्रधानमंत्री के घड़ियाली आंसुओं के कारण वह कांग्रेस को भूल गए। आजाद इंदिरा गांधी, संजय गांधी, राजीव गांधी, सोनिया गांधी और राहुल गांधी को भी भूल गए, जिन्होंने उन्हें पद और सम्मान दिया।

भाजपा ने विकार के बयान पर कांग्रेस को घेरा

वहीं, भाजपा ने विकार के बयान पर कांग्रेस को घेरा। पूर्व उपमुख्यमंत्री और भाजपा के वरिष्ठ नेता कविंद्र गुप्ता ने विकार रसूल के पद्म भूषण और प्रधानमंत्री पर दिए गए बयान पर कड़ी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि यह कांग्रेस की बौखलाहट है। कांग्रेस की जमीन जम्मू कश्मीर में खिसक चुकी है। पद्म भूषण अवार्ड देश का सम्मान है। उन्होंने कहा कि यह अवार्ड विभिन्न क्षेत्रों में बेहतरीन कार्य के लिए दिया जाता है। विकार रसूल ने पद्म भूषण अवार्ड हासिल करने वाले सभी लोगों का अपमान किया है। कांग्रेस नेताओं को अपनी भाषा पर नियंत्रण करना चाहिए।

Jammu Kashmir : नेशनल कांफ्रेंस को बड़ा झटका, जम्मू प्रांतीय इकाई के उपाध्यक्ष बंटी-सचिव पिंकी भाजपा में शामिल

Jammu Kashmir : सरकारी आवास के मुद्दे पर कांग्रेस-भाजपा आमने-सामने, बोले- बदले की भावना से न हो कार्रवाई

Edited By: Mohd Faisal

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट