रिकांगपिओ, संवाद सहयोगी। जिला किन्नौर में मुरंग थाने के तहत निर्माणाधीन टिडोंग जल-विद्युत परियोजना 150 मेगावाट में सुरंग में कार्य कर रहे 5 मजदूरों के दबने की जानकारी प्राप्त हुई है। 150 मेगावाट टिडोग जल-विद्युत परियोजना में रोजाना की तरह सुरंग का कार्य चल रहा था कि अचानक शनिवार सुबह सुरंग में भारी मलबा आने से 5 मजदूर इसकी चपेट में आ गए। जिनमें से तीन मजदूरों को स्थानीय प्रशासन, आइटीबीपी, होमगार्ड व पुलिस के जवानों ने रेस्क्यू कर बाहर निकाल दिया है जबकि दो मजदूरों की सुरंग में दब कर मरने सूचना मिली है। इन तीन घायल हुए मजदूरों को तुरंत प्रभाव से अस्पताल पहुंचा दिया गया है जहां उनका उपचार चल रहा है।

वहीं घटना की सूचना मिलते ही प्रशासन की ओर से रिकांगपिओ से बचाव दल को रवाना किया गया है और सुरंग के अंदर फंसे 2 मजदूरों के शवों को भी निकाल लिया गया है। मौके पर डीएसपी नवीन झालटा पुलिस टीम के साथ पहुंच गए हैं और जल्द से जल्द फंसे 2 मजदूरों को रेस्क्यू करने की कोशिश जारी है। उपायुक्त किन्नौर आबिद हुसैन सादिक ने बताया कि मुरंग के समीप 150 मेगावट की निर्माणाधीन टिडोंग परियोजना में 5 मजदूर सुरंग निर्माण के दौरान अंदर फंसे। अब तक 3 को सुरक्षित निकाला जा चुका है। परियोजना प्रबंधकों का कहना है कि निकाले गए तीन मजदूर सुरक्षित हैं।

उनमें से दो को रिकांगपिओ चिकित्सालय भेज दिया गया है, अगर जरूरत पड़ी तो उन्हें हवाई मार्ग से बेहतर स्वास्थ्य सुविधा के लिए बाहर भेजा जाएगा। इसके लिए प्रदेश सरकार से अनुमति भी ले ली गई है। जिला किन्नौर उपायुक्त आबिद हुसैन सादिक ने जानकारी देते हुए बताया कि सुरंग के अंदर फंसे 5 लोगों में से तीन को सुरक्षित बचा लिया गया है जबकि दो अन्य मजदूरों की मौत हो गई है। एडीएम पूह मजिस्ट्रियल को जांच करने के आदेश दे दिए गए हैं। जो एक सप्ताह के भीतर जांच रिपोर्ट सौंपेंगे।

ये भी पढे़ं: जयराम ठाकुर ने फिर दिखाया बड़प्पन,सुखराम को दिल्ली ले जाने के लिए दिया सरकारी हेलीकाप्टर

ये भी पढ़ें: विकास के दावों में कोर्ट के ऐतिहासिक फैसले को जनहित में लागू न करना सरकार की दोहरी नीति: संघर्ष मोर्चा

ये भी पढ़ें: अवैध कारोबार करने वालों पर शिकंजा कसेगा मनाली प्रशासन, नगर परिषद मनाली के साथ मिलकर शुरू की मुहिम

Edited By: Richa Rana

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट