करनाल, [पवन शर्मा]। बॉलीवुड स्‍टार साेनू सूद एक बार फिर एक पीडि़त व्‍यक्ति के लिए मसीहा बन कर सामने आए हैं। उन्‍होंने एक युवक को नई जिंदगी दी है। छत्तीसगढ़ के भिलाई में रहने वाला युवा अमन 12 वर्ष से बेहद दर्द सह रहा था। उसे सोनू ने उसकी नि:शुल्‍क सर्जरी करा कर इस पीडा से मुक्ति दिलाई। वह सिर की नसों से जुड़ी बेहद गंभीर समस्या का निदान कराने चेन्नई तक गया लेकिन बेहद महंगा इलाज होने के कारण कुछ न हो सका। रोजमर्रा तक के काम में असहाय अमन के हालात तब बदले, जब फिल्म अभिनेता सोनू सूद तक उनका ट्वीट पहुंचा। अब करनाल में अमन की निशुल्क सर्जरी हुई है, जो करीब 11 घंटे चली।

करनाल में हुई भिलाई के युवा की निशुल्क सर्जरी,  टीम सोनू सूद ने फिर पेश की मानवता की मिसाल

इसके बाद अमन को लगा, मानो नया जन्म मिल गया। उसने इसके लिए सोनू सूद को फोन के जरिए शुक्रिया भी कहा। भिलाई निवासी अमन को 2008 से यह तकलीफ है। काफी कोशिश की, जगह-जगह दिखाया लेकिन समस्या यथावत रही। 2014 में पता चला कि क्रेनियल वर्टिब्रल जंक्शन में समस्या है तो ऑपरेशन कराया लेकिन यह सफल नहीं हुआ।

करनाल के विर्क अस्पताल में छत्तीसगढ़ के अमन और उनकी मां राजेंद्र कौर के साथ डा. अश्वनी कुमार।

सिर की नसों से जुड़े सीवी जंक्शन की थी समस्या

इसी वर्ष मार्च में चेन्नई गए तो चिकित्सकों ने सर्जरी में काफी खर्च बताया, जिसे चुकाने में परिवार सक्षम नहीं था। कोरोना काल में मसीहा बने फिल्म अभिनेता सोनू सूद से टि़्वटर पर मदद मांगी तो उन्होंने करनाल आने के लिए कहां। यहां विर्क अस्पताल में सीनियर सर्जन डा. अश्वनी कुमार ने निशुल्क सर्जरी की तो नया संबल हासिल हुआ।

------

बहुत दर्द से गुजरा: अमन

अमन ने बताया कि जो भी सीधे हाथ से पकड़ता, छूट जाता। बीमारी बढ़ी तो गर्दन के पिछले हिस्से में असहनीय दर्द रहने लगा। ज्यादा देर बैठ नहीं पाता था, चलना-फिरना मुश्किल था। बिस्तर पर रहकर रोजमर्रा के काम तक से मोहताज हो गया। ऑटो चालक पिता दलजीत और मां राजेंद्र कौर मदद करते। अब लग रहा है, जैसे नया जन्म मिल गया। फोन पर सोनू सर को थैंक्यू कहा है।

करनाल के विर्क अस्पताल में छत्तीसगढ़ के अमन और उनकी मां राजेंद्र कौर के साथ डा. अश्वनी कुमार।

जारी रहेगा मदद का सिलिसिला

फिल्म अभिनेता सोनू सूद ने अमन का वीडियो संदेश देखने के साथ ही आश्वस्त करते हुए कहा कि आपकी 12 साल की तकलीफ खत्‍म समझो। करनाल के विर्क अस्पताल में सर्जरी के लिए तैयार हो जाएं। इसी के साथ अमन करनाल आए, जहां सीनियर आर्थो सर्जन डा. अश्वनी कुमार ने उनके बेहद चुनौतीपूर्ण और संवेदनशील आपरेशन की चुनौती स्वीकार की। टीम सोनू सूद के गोङ्क्षवद अग्रवाल व प्रवेश गाबा ने बताया कि करनाल में सात जरूरतमंद लोगों की निशुल्क सर्जरी हो चुकी हैं। यह सिलसिला जारी रहेगा।

11 घंटे चली सर्जरी: डा. अश्वनी

अमन को 12 वर्ष से सीवी जंक्शन में समस्या थी। यह खोपड़ी को स्पाइनल से जोडऩे वाला शरीर का बेहद नाजुक हिस्सा है, जो हाथ-पांव सहित पूरा शरीर नियंत्रित करता है। सांस लेने से लेकर खाना-पीना तक इसी पर निर्भर है। कुछ को जन्मजात यह समस्या होती है, जो अक्सर बाद में पता चलती है। अमन इन्हीं में है। 12 घंटे चली सर्जरी इतनी संवेदनशील थी कि स्पाइन के सबसे ऊपरी हिस्से तक पहुंचने के लिए मुंह के रास्ते का उपयोग करना पड़ा। फिर नसों पर पड़ा दबाव हटाया गया। इसमें अमूमन पांच से दस लाख रुपये खर्च आता है, जो अमन के परिवार के लिए संभव नहीं था। टीम सोनू ने अडोप्ट ए नीडी पेशेंट योजना के तहत यह बीड़ा उठाया।

यह भी पढ़ें: क्रिकेट के मैदान में स्पिन बाॅलिंग पर खूब जड़े छक्‍के, सियासत की पिच पर फिरकी में बुरे फंसे सिद्धू


यह भी पढ़ें: किसानाें के दिल्‍ली कूच से यातायात व्‍यवस्‍था ठप, भटकने मजबूर हुए यात्री, बच्‍चों संग पैदल यात्रा


यह भी पढ़ें: Exclusive interview: हरियाणा भाजपा के नए प्रभारी विनोद तावड़े बोले- संगठन व सरकार में तालमेल जरूरी

 

यह भी पढ़ें: पीएम मोदी संग बैठक के बाद हरियाणा सरकार का बड़ा कदम, अधिक संख्‍या में लोगों के जमा होने पर रोक

 

यह भी पढ़ें: हरियाणा के शहरी सेक्टरों के लोगों को बड़ी राहत, आवासीय प्‍लॉटों के बढ़ा सकेंगे फ्लोर एरिया रेशो

 

 

पंजाब की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें


हरियाणा की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें

kumbh-mela-2021

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप