जींद, जेएनएन। हरियाणा के जींद में लस्‍सी पीने से दो लोगों की मौत हो गई। 7 लोगों की हालत गंभीर है। मौत की वजह लस्‍सी में छिपकली गिरना बताया जा रहा है। छिपकली गिरने के बाद उसी लस्‍सी पीने की वजह से लोगों की तबियत बिगड़ी।

जुलाना कस्बे के गांव पड़ाना में जहरीली लस्सी पीने से दो लोगों की मौत हो गई और चार वर्षीय बच्ची समेत सात लोगों की तबीयत बिगड़ गई। इनमें से राजेश, धर्मपाल और प्राची तीन लोगों की हालत गंभीर है। जिन्हें जींद व हिसार के निजी अस्पताल, पीजीआइ रोहतक भर्ती कराया गया है। ग्रामीणों का कहना है कि लस्सी में छिपकली या कोई जहरीला जीव गिर गया। जिससे लस्सी जहरीली हुई। 

गांव पड़ाना निवासी 50 वर्षीय रोहताश के घर से वीरवार को पड़ोसी लस्सी ले गए थे। लस्सी का सेवन रोहताश, उसकी पत्नी मंजू, उसके भाई राजेश, पड़ोसी धर्मपाल, चार वर्षीय बच्ची प्राची, पड़ोसी एएसआइ रङ्क्षवद्र व उसके पिता रामदिया, खुशी राम तथा 60 वर्षीय जयनारायण ने किया। जिसके बाद सभी नौ लोगों की तबीयत बिगड़ गई। जिसके चलते उन्हें उल्टी और दस्त शुरू हो गए। उन्हें नागरिक अस्पताल और अन्य चिकित्सकों के पास ले जाया गया। सभी की गंभीर हालत देखते हुए पीजीआइ रोहतक रेफर कर दिया। जयनारायण की पीजीआइ ले जाते समय मौत हो गई।

वहीं, रोहताश की पीजीआइ में मौत हो गई। जयनारायण के शव का बिना पोस्टमार्टम कराए ही शुक्रवार को अंतिम संस्कार कर दिया गया। वहीं पीजीआइ में रोहताश का पोस्टमार्टम कर शव स्वजनों को सौंप दिया। मृतक रोहताश का भाई राजेश का पीजीआइ में इलाज चल रहा है। धर्मपाल और उसकी पौत्री प्राची को हिसार के निजी अस्पताल में भर्ती कराया गया है। एसआइ रविंद्र व उसके पिता रामदिया का जींद के एक निजी अस्पताल में उपचार चल रहा है। मृतक रोहताश की पत्नी मंजू और पड़ोसी खुशी राम के हालत में सुधार होने पर अस्पताल से डिस्चार्ज कर दिया गया। 

निवर्तन सरपंच किरण ने बताया कि छिपकली या कोई जहरीला जीव गिर गिरने से लस्सी जहरीली हो गई। लस्सी पीने वाले नौ लोगों की तबीयत बिगड़ गई। जिसमें दो लोगों की मौत हो गई। जुलाना थाना प्रभारी सुरेंद्र सिंह ने बताया कि पुलिस मामले की जांच कर रही है।

पानीपत की ताजा खबरें पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें


यह भी पढ़ें: हरियाणा में कोरोना वैक्‍सीन चोरी होने का पहला मामला, जींद के सरकारी अस्‍पताल से 1710 डोज ले गए चोर


यह भी पढ़ें: बेटी पूरे कर रहे टैक्सी चालक पिता के ख्‍वाब, भाई ने दिया साथ तो कामयाबी को बढ़े हाथ

यह भी पढ़ें: पानीपत में बढ़ रहा कोरोना, बच्‍चों को इस तरह बचाएं, जानिये क्‍या है शिशु रोग विशेषज्ञ की सलाह

यह भी पढ़ें: चोट से बदली पानीपत के पहलवान की जिंदगी, खेलने का तरीका बदल बना नेशनल चैंपियन

शॉर्ट मे जानें सभी बड़ी खबरें और पायें ई-पेपर,ऑडियो न्यूज़,और अन्य सर्विस, डाउनलोड जागरण ऐप