Move to Jagran APP

Kangana Ranaut के थप्पड़ कांड पर चिराग पासवान का बयान वायरल, कहा- 'उनकी मां बैठी थीं, उनको बुरा लगा होगा'

एक्ट्रेस और मंडी से सांसद कंगना रनौत (Kangana Ranaut) की जीत के बाद उनके फैंस और फैमिली में खुशी का माहौल है। लेकिन इसी के साथ उनका थप्पड़ कांड भी चर्चा में आ गया है। चंडीगढ़ एयरपोर्ट पर कंगना को सीआईएसएफ कॉन्सटेबल ने थप्पड़ मारा जिसकी चर्चा अब तक सोशल मीडिया पर जारी है। इस पर अब चिराग पासवान का स्टेटमेंट सामने आया है।

By Karishma Lalwani Edited By: Karishma Lalwani Published: Tue, 11 Jun 2024 10:02 AM (IST)Updated: Tue, 11 Jun 2024 10:02 AM (IST)
कंगना रनौत और चिराग पासवान. फोटो क्रेडिट- इंस्टाग्राम

एंटरटेनमेंट डेस्क, नई दिल्ली। Chirag Paswan On Kangana Ranaut Slap Controversy: हाजीपुर से सांसद और लोक जनशक्ति पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष चिराग पासवान (Chirag Paswan) तीसरी मोदी कैबिनेट में शामिल हो गए हैं। मोदी 3.0 में उन्हें फूड प्रोसेसिंग मंत्रालय मिला है। केंद्रीय मंत्री चिराग पासवान मोदी कैबिनेट में शामिल होने के साथ ही कंगना रनौत को लेकर भी चर्चा में हैं।

कंगना के थप्पड़ कांड पर बोले चिराग पासवान

डीएनए से बातचीत में चिराग पासवान ने राजनीतिक मुद्दों पर ढेर सारी बातें कीं। इसी के साथ उन्होंने कंगना रनौत (Kangana Ranaut) के थप्पड़ कांड (Kangana Ranaut Slap Controversy) पर भी अपनी बात रखी। उन्होंने कहा कि वह CISF कॉन्सटेबल कुलविंदर कौर का दर्द समझ सकते हैं।

'हर व्यक्ति को अभिव्यक्ति की आजादी'

चिराग पासवान ने कहा, ''ये गलत है, आप अपनी बात कहने के लिए गाली या हाथापाई का इस्तेमाल नहीं कर सकते हैं। हर व्यक्ति को अभिव्यक्ति की आजादी है, अपनी बात रख सकता है। मैं महिला कॉन्सटेबल की भावना को समझ सकता हूं, उनकी मां बैठी थीं, उनको बुरा लगा होगा, लेकिन वो अपनी बात को मर्यादित शब्दों में कह सकती थीं। मुझे लगता है कि तब उनकी बात की गूंज ज्यादा होती। अगर वो कड़े शब्दों में अपना ऐतराज दर्ज करातीं और कहतीं कि आपने ऐसा क्यों कहा था, मेरी मां थीं वहां पर मुझे दुख पहुंचा। आपने हाथ उठाकर अपनी भावना को छोटा कर दिया।''

चिराग यहीं नहीं रुके। उन्होंने आगे कहा, ''हर किसी को सोच और अभिव्यक्ति की आजादी है। कंगना ने अपनी बातों को रखा और वो (सीआईएसएफ कर्मी) भी अपनी बातों को ऐसे ही रख सकती थीं। कोई व्यक्ति, किसी भी महिला या पुरुष पर हाथ नहीं उठा सकता। मैं ये नहीं कह रहा कि सिर्फ महिला पर हाथ नहीं उठना चाहिए। पुरुष पर भी हाथ उठाना गलत है। आप विरोध दर्ज कराइए लेकिन मर्यादित शब्दों में कराइए।''

यह भी पढ़ें: 'क्योंकि वो हिंदू हैं...' Jammu-Kashmir में आतंकी हमले पर कंगना रनौत ने कही बड़ी बात, अनुपम खेर ने भी जताया दुख 


This website uses cookies or similar technologies to enhance your browsing experience and provide personalized recommendations. By continuing to use our website, you agree to our Privacy Policy and Cookie Policy.