देहरादून, राज्य ब्यूरो। सत्रहवीं लोकसभा के लिए मतदान समाप्त होने के बाद आए एग्जिट पोल के अनुमान से कहीं खुशी और कहीं गम का माहौल है। तमाम एग्जिट पोल में केंद्र में एक बार फिर मोदी सरकार के बहुमत के साथ वापसी का अनुमान लगाया गया है।

लाजिमी तौर पर कांग्रेस और अन्य विपक्षी दलों के लिए यह किसी झटके से कम नहीं है। ऐसे में एग्जिट पोल को लेकर भाजपा और उसके समर्थकों में खुशी की लहर देखी जा रही हैं, तो कांग्रेस और बसपा इन अनुमानों को सिरे से खारिज कर रही हैं। ' दैनिक जागरण' ने एग्जिट पोल के अनुमान को लेकर राज्य की पांचों लोकसभा सीटों के प्रमुख प्रत्याशियों से प्रतिक्रिया ली।

माला राज्यलक्ष्मी शाह (भाजपा प्रत्याशी, टिहरी सीट) का कहना है कि मुझे पूरा यकीन है कि फिर से केंद्र में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में भाजपा की सरकार बनेगी। पिछले पांच साल में केंद्र सरकार ने जो काम किए हैं, जनता ने उसका इनाम दिया है। एग्जिट पोल के सर्वे में भी जनता के मन की बात है लेकिन सभी को 23 मई का इंतजार करना होगा। एग्जिट पोल से भी बेहतर परिणाम भाजपा के पक्ष में रहेंगे।

प्रीतम सिंह (कांग्रेस प्रत्याशी, टिहरी सीट) का कहना है कि रविवार को 59 सीटों पर मतदान शाम छह बजे समाप्त हुआ, उनका एग्जिट पोल तुरंत कैसे तैयार कर दिया। इसका मतलब तो ये पहले से तैयार था। एक एग्जिट पोल में उत्तराखंड में एक भी सीट पर चुनाव न लडऩे वाली आम आदमी पार्टी को 2.9 फीसद वोट शेयर दिया गया है। एक ने 542 की जगह 605 सीटों का एग्जिट पोल दे दिया है। इसलिए 23 मई तक का इंतजार कीजिए, एग्जिट पोल का नतीजा 2004 जैसा होगा।

तीरथ सिंह रावत (भाजपा प्रत्याशी, पौड़ी सीट) का कहना है कि एग्जिट पोल के आंकड़े पूरी तरह सही हैं। पौड़ी ही नहीं, प्रदेश की सभी पांच सीटें भाजपा जीत रही है। आमजन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लेकर बेहद उत्साह था, जिस कारण मतदान प्रतिशत भी बढ़ा है। गढ़वाल संसदीय सीट पर युवाओं ने देश और मातृशक्ति में विकास के मद्देनजर भाजपा के पक्ष में मतदान किया है।

मनीष खंडूड़ी (कांग्रेस प्रत्याशी, पौड़ी सीट) का कहना है कि मतदाता पूरी तरह खामोश था, ऐसे में सरकार किसकी बनेगी, यह 23 मई को ही पता चलेगा। एग्जिट पोल के आंकड़ों को पूरी तरह सही कहना गलत है। पौड़ी संसदीय सीट की बात करें तो जनता में प्रदेश व केंद्र सरकार के खिलाफ आक्रोश था। ऐसे में पौड़ी सीट भाजपा की झोली में जाएगी, यह कहना जल्दबाजी होगी।

रमेश पोखरियाल निशंक (भाजपा प्रत्याशी, हरिद्वार सीट) का कहना है कि एग्जिट पोल भाजपा की देश में किए गए विकास कार्यों, विश्व में बढ़ाए गए देश के स्वाभिमान, आम जनता के हित में निस्वार्थभाव से किए गए काम और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनकी टीम में देश के जनता के दर्शाए गए विश्वास को बता रहा है। जनता ने एक बार फिर से देशहित में, देश के स्वाभिमान को बनाए रखने और विश्व गुरू बनने के मोदी सरकार के सपने को पूरा करने के लिए अपना विश्वास और समर्थन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को दिया है।

अंबरीष कुमार (कांग्रेस प्रत्याशी हरिद्वार सीट) का कहना है कि यह नतीजों के बाद होने वाले गठबंधन को प्रभावित करने का काम है। एग्जिट पोल, एक्जेक्ट पोल नहीं है। 78 करोड़ मतदाताओं में से मात्र सात लाख से चर्चा कर परिणाम का अनुमान लगा पाना कहीं से भी संभव नहीं। चुनाव नतीजे 23 को सामने आ रहे है। सारे अनुमान और एग्जिट पोल की सच्चाई उस दिन सामने आ जाएगी।

डॉ. अंतरिक्ष सैनी (बसपा प्रत्याशी, हरिद्वार सीट) का कहना है कि यह एग्जिट पोल है, एक्जेक्ट पोल नहीं है। यह मीडिया का बनाया हुआ आकलन है, मीडिया इस चुनाव में किससे प्रभावित है, यह सभी को पता है। प्रदेश में हरिद्वार संसदीय सीट सहित कई अन्य सीटों पर गठबंधन से उतरे बसपा प्रत्याशी मुख्य मुकाबले में हैं। जनादेश जनता देती है, परिणाम आने पर स्थिति खुद स्पष्ट हो जाएगी।

अजय टम्टा (भाजपा प्रत्याशी, अल्मोड़ा सीट) का कहना है कि एग्जिट पोल के अनुमान सही हैं। परिणामों में इससे भी अधिक सीटें मिलेंगी। एग्जिट पोल से स्पष्ट हो चुका है कि देश की जनता नरेंद्र मोदी को दोबारा प्रधानमंत्री बनाना चाह रही है। पिछले 70 सालों में देश में पहली बार पिछले पांच साल में जो कार्य हुए हैं वह कभी नहीं हुए। देश आज एक सशक्त सरकार चाहता है। जनता इसके लिए केवल नरेंद्र मोदी पर ही विश्वास करती है। प्रदेश की पांचों सीटें भाजपा जीत रही है।

प्रदीप टम्टा (कांग्रेस प्रत्याशी, अल्मोड़ा सीट) का कहना है कि एग्जिट पोल केवल अनुमान हैं। वर्ष 2004, 2009 और 2014 में एग्जिट पोल बकवास साबित हुए। कांग्रेस देश में सरकार बनाएगी। एग्जिट पोलों की पोल मात्र तीन दिन बाद खुल जाएगी। मोदी को खुश करने के लिए इस तरह के अनुमान दिखाए जा रहे हैं। भाजपा की जीत का कोई आधार नहीं है। 23 मई को मोदी सरकार सत्ताच्युत हो जाएगी। उत्तराखंड में कांग्रेस पांचों सीट कांग्रेस जीतेगी।

अजय भट्ट (भाजपा प्रत्याशी, नैनीताल सीट) का कहना है कि भाजपा को लेकर लोगों में जबरदस्त उत्साह था। हर तरफ मोदी की लहर दिख रही थी। भाजपा को 300 से अधिक सीटें मिलने की उम्मीद है। राज्य में पांचों सीटों पर पार्टी परचम लहराएगी। केंद्र में भाजपा फिर से सरकार बनाएगी। गठबंधन को लेकर एग्जिट पोल गलत साबित हो सकते हैं।

हरीश रावत (कांग्रेस प्रत्याशी, नैनीताल सीट) का कहना है कि जिस तरह के एग्जिट पोल दिखाए जा रहे हैं, इन पर विश्वास करना कठिन हो रहा है। यह एग्जिट पोल केवल राजनीतिक बहस तक ही सीमित हो जाएंगे। वैसे भी इस बार जनता परिवर्तन चाह रही थी। मुझे उम्मीद है की परिवर्तन के आधार पर ही वोट पड़े होंगे।

नवनीत अग्रवाल (बसपा प्रत्याशी, नैनीताल सीट) का कहना है कि एग्जिट पोल एकतरफा हैं। जिस तरह से वोटिंग हुई है, उसमें भाजपा को इतनी बढ़त दिखाई नहीं देती। मेरा मानना है कि एग्जिट पोल पूरी तरह से फेक हैं। सरकार पोल के सहारे बड़ा गेम प्लान कर रही है, ताकि परिणाम निकलें तो लोग हैरान न हों।

Election-2019: सीएम ने किया दावा, उत्तराखंड में बढ़ेगा भाजपा का वोट प्रतिशत

यह भी पढ़ें: लोकसभा चुनावः मतगणना की तैयारी पूरी, रहेगी कड़ी सुरक्षा व्यवस्था

यह भी पढ़ें: एग्जिट पोल से भाजपा खुश, तो कांग्रेस ने बताया कोरा अनुमान

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

जीतेगा भारत हारेगा कोरोन

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस