देहरादून, राज्य ब्यूरो। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने दावा किया है कि इस लोकसभा चुनाव में उत्तराखंड में भाजपा का मत प्रतिशत बीते चुनावों से अधिक होगा। उन्होंने कहा कि भाजपा प्रदेश की पांचों लोकसभा सीटों पर जीत दर्ज करेगी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उत्तराखंड में बड़े विकास कार्यो के साथ ही यहां के निवासियों को अहम पद पर बिठाया है। इससे पूरे देश में उत्तराखंड वासियों का मान बढ़ा है। यही कारण है कि प्रवासी उत्तराखंडी, चाहे वे किसी भी संगठन से जुड़े हों, उन्होंने भाजपा के पक्ष में वोट दिया है। 

सचिवालय में पत्रकारों से अनौपचारिक बातचीत में मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि प्रधानमंत्री ने उत्तराखंड के प्रति जो अपनत्व का भाव प्रदर्शित किया है, उसे लोगों ने समझा है। यही कारण है कि उन्होंने भाजपा को अपना पूरा समर्थन दिया है। 

मुख्यमंत्री ने कहा कि लंबे अरसे बाद संभवतया यह पहला चुनाव है, जब महंगाई चुनावी मुद्दा नहीं बनी। यह इसलिए कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोगों की जरूरतों को पूरा करने के लिए चरणबद्ध तरीके से काम किया है। चाहे वह आवास योजना हो, उज्ज्वला योजना, आयुष्मान येाजना हो अथवा किसान सम्मान निधि योजना, सबको धरातल पर उतार का मजबूत शुरुआत दी गई है।

उन्होंने कहा कि आधुनिक भारत निर्माण की दिशा में कदम उठाते हुए मजबूती से काम किया जा रहा है। विश्वपटल पर भी भारत के स्वाभिमान व सम्मान को मजबूत किया है। जनता भाजपा को पूर्ण बहुमत देगी और इस बार भाजपा 300 से अधिक सीटों पर जीत दर्ज करेगी। 

किरण व अनुपम खेर ने भेजे बुके 

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने कहा कि चंडीगढ़ में मतदान के बाद वहां से भाजपा प्रत्याशी किरण खेर और उनकी पति अनुपम खेर ने उन्हें दो बुके भेजे। उन्होंने कहा कि चुनावों के दौरान उन्होंने चंडीगढ़ के अलावा हरियाणा में छह, दिल्ली में तीन, उत्तर प्रदेश में चार, राजस्थान में तीन व हिमाचल प्रदेश का एक दौरा किया था। जहां उत्तराखंड वासियों का अपार स्नेह मिला। 

पौड़ी में रहेगा सबसे अधिक अंतर 

मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने भी प्रदेश की पांचों सीटों पर जीत के अंतर का आकलन किया है। उनके अनुसार भाजपा पौड़ी संसदीय सीट सबसे अधिक अंतर से जीतेगी। वहीं नैनीताल में भी जीत का अंतर 1.50 लाख के आसपास रहेगा। अन्य सीटों पर भी पार्टी अच्छे मतों से विजय प्राप्त करेगी। 

सोलर प्लांट से से मिलेगी 177.15 मेगावाट ऊर्जा 

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में सोलर ऊर्जा से 177.15 मेगावाट बिजली मिलेगी। इससे सरकार को हर मेगावाट पर तकरीबन 55 लाख रुपये का फायदा होगा। पिरुल से भी प्रदेश को तकरीबन 50 मेगावाट बिजली प्राप्त हो सकेगी।

यह भी पढ़ें: लोकसभा चुनावः मतगणना की तैयारी पूरी, रहेगी कड़ी सुरक्षा व्यवस्था

यह भी पढ़ें: एग्जिट पोल से भाजपा खुश, तो कांग्रेस ने बताया कोरा अनुमान

यह भी पढ़ें: नमो के दौरे से फिर सुर्खियों में रहा उत्तराखंड, देश-दुनिया में दिखाई गई बदरीनाथ व केदारनाथ धाम की तस्वीरें

लोकसभा चुनाव और क्रिकेट से संबंधित अपडेट पाने के लिए डाउनलोड करें जागरण एप

डाउनलोड करें जागरण एप और न्यूज़ जगत की सभी खबरों के साथ पायें जॉब अलर्ट, जोक्स, शायरी, रेडियो और अन्य सर्विस