राज्य ब्यूरो, पटना। Bihar News: बिहार सरकार के कृषि मंत्री सुधाकर सिंह के पद से इस्तीफे की पेशकश का भाजपा प्रदेश अध्यक्ष डॉ संजय जायसवाल ने स्वागत किया है। संजय जायसवाल ने इस स्‍थ‍िति के लिए राज्‍य सरकार में व्‍याप्‍त भ्रष्‍टाचार को जिम्‍मेदार ठहराया है और सीधे मुख्‍यमंत्री नीतीश पर सवाल खड़ा किया है। 

ये भी पढ़ें, नीतीश की विदाई का सिंबल है सुधाकर सिंह का इस्तीफा, सम्राट चौधरी ने क्‍यों कही इतनी बड़ी बात

लालू यादव और तेजस्‍वी यादव से भी की थी बात 

उन्होंने कहा है कि महागठबंधन सरकार में फैले भ्रष्टाचार के प्रति बार-बार कृषि मंत्री सुधाकर सिंह मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का ध्यान आकृष्ट कर रहे थे,  लेकिन मुख्यमंत्री ने कृषि मंत्री की नहीं सुनी। सुधाकर सिंह ने राजद के राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू यादव और उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव को भी कृषि विभाग में फैले तमाम गड़बड़ियों से अवगत कराया था।

ये भी पढ़ें, Sudhakar Singh Resigns: क्‍या सीएम नीतीश के कृषि मंत्री सुधाकर सिंह ने दबाव में दिया इस्‍तीफा? ...INSIDE STORY

कृषि सचिव के मसले पर बोले जायसवाल

संजय जायसवाल ने कहा कि सुधाकर सिंह विभाग में पारदर्शिता बरतने को लेकर कृषि मंत्री लगातार कृषि सचिव एन सरवन को हटाने की मांग कर रहे थे। नीतीश कुमार द्वारा कृषि सचिव को हटाने की मांग ठुकराए जाने से सुधाकर सिंह आहत थे। नीतीश कुमार ने कृषि सचिव को नहीं हटाकर सिंह को अपमानित किया।

ये भी पढ़ें, बिहार के कृषि मंत्री सुधाकर सिंह का इस्‍तीफा, वजह भी बता दी; नीतीश कुमार और तेजस्‍वी यादव की बढ़ी समस्‍या

जायसवाल बोले- स्‍वागत के लायक फैसला

जायसवाल ने कहा कि ऐसे हालात में कृषि मंत्री का निर्णय स्वागत योग्य है।  कृषि मंत्री ने किसानों के यूरिया संकट को लेकर भी बार-बार चिंता जताई। अफसरों की वजह से किसानों के बीच यूरिया संकट और बड़े पैमाने पर उर्वरकों की कालाबाजारी को लेकर भी सरकार का ध्यान मंत्री ने आकृष्ट किया लेकिन सुधाकर सिंह की बात नहीं मानी गई।

सुधाकर सिंह के पास नहीं बचा था कोई विकल्‍प 

संजय जायसवाल ने कहा कि विभाग की कई योजनाओं में गड़बड़ी को लेकर भी कृषि मंत्री ने मुख्यमंत्री का ध्यान आकृष्ट किया। राजद के राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू यादव और उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव को कृषि विभाग में फैले तमाम गड़बड़ियों से मंत्री अवगत करा चुके थे। सुधाकर के पास मंत्री पद से इस्तीफा देने के अलावा और कोई विकल्प नहीं बचा था। सुधाकर ने इस्तीफा देकर अपना दामन दागदार होने से बचा लिया है।

सुशील मोदी ने सुधाकर सिंह को बताया था घोटालेबाज

भाजपा के सांसद सुशील मोदी ने सुधाकर सिंह को घोटालेबाज बताया था। उन्‍होंने सुधाकर सिंह पर राज्‍य खाद्य निगम के चावल का घोटाला करने का आरोप लगाया था। सुशील मोदी ने कहा था कि इस मामले में सुधाकर सिंह के खिलाफ कानूनी कार्रवाई पहले से ही चल रही है। इसलिए उन्‍हें इस्‍तीफा दे देना चाहिए। सुधाकर सिंह के इस्‍तीफे के बाद मोदी ने कहा कि नीतीश सरकार के कई मंत्रियों को इस्‍तीफा देना होगा।  

Edited By: Shubh Narayan Pathak

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट