न्यायालय भवन से कूद युवक ने दी जान

Publish Date:Sat, 03 Aug 2013 08:44 PM (IST) | Updated Date:Sun, 04 Aug 2013 01:04 PM (IST)
न्यायालय भवन से कूद युवक ने दी जान

कानपुर, हमारे संवाददाता: ससुराल वालों की प्रताड़ना से पीड़ित युवक ने न्यायालय भवन की पांचवी मंजिल से कूदकर जान दे दी। तलाशी के दौरान जेब से मिले सुसाइड नोट में उसने इसका जिक्र किया है। ससुराल वालों के खिलाफ उसने एसएसपी से गुहार भी लगाई थी।

न्यायालय भवन में शनिवार अपराह्न डेढ़ बजे एक युवक के पांचवी मंजिल से छलांग लगाने के बाद हड़कंप मच गया। सूचना पर कचहरी चौकी इंचार्ज अखिलेश गौड़ मौके पर पहुंचे और युवक को उर्सला ले गए जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। तलाशी के दौरान मृतक की जेब से एक प्रार्थना पत्र व एक समाचार पत्र का आईकार्ड मिला। प्रार्थना पत्र के पीछे मृतक ने सुसाइड नोट भी लिखा था। पुलिस ने प्रार्थना पत्र पर लिखे पते पर सूचना दी तो फीलखाना निवासी अमित गुप्ता ने मौके पर पहुंचकर मृतक की शिनाख्त छोटे भाई अनुज गुप्ता के रूप में की। अमित के मुताबिक अनुज कैनाल रोड स्थित अपनी दुकान में थे। पूर्वाह्न 11 बजे एक फोन आया जिसके बाद वह बिरहाना रोड जाने की बात कहकर चले गए। अपराह्न 1:30 बजे पुलिस ने घटना की जानकारी दी।

--------

ससुराल वालों से था प्रताड़ित

बड़े भाई अमित के मुताबिक अनुज की शादी चार साल पहले इटावा बाजार की प्रगति संग इस शर्त पर हुई थी कि वह उसे लेकर परिवार से अलग रहेगा। प्रगति विदा होने के बाद ससुराल न आकर किराए के घर में रहने गई थी। परिवार से अलग रहने के कारण अनुज पर ससुराल वालों का दबाव था। वह अक्सर उसके साथ मारपीट करते थे। इस बात का जिक्र अनुज ने 22 जून को एसएसपी को दिए प्रार्थना पत्र में भी किया था। पत्र के मुताबिक 16 जून को उसकी गैर मौजूदगी में ससुर राम बिहारी, सास शीला, साढू़ प्रशांत कई लोगों के साथ घर आए थे। एक लाख नकद व सोने के गहनों के साथ पत्नी को लेकर चले गए थे। उसने ससुराल वालों से संपर्क किया तो उन्होंने जान से मारने की धमकी देते हुए कहा कि जब तक अपनी दुकान में साढ़ू को जगह नहीं दोगे तब तक न तो सामान वापस होगा और न ही पत्‍‌नी आएगी।

ससुर पर लगाया गंभीर आरोप

तलाशी में अनुज के पास पुलिस को जो प्रार्थना पत्र मिला, उसी के पीछे सुसाइड नोट लिखा है। इसमें ससुर पर जबरन अप्राकृतिक यौन संबंध बनाने का आरोप लगाया गया है। आरोप है कि ससुर इस बात पर ब्लैकमेल करने के साथ दुकान हड़पना चाहते थे।

दी थी मुकदमे की अर्जी

ससुराल वालों की प्रताड़ना से परेशान अनुज ने सीआरपीसी की धारा 156(3) के तहत पत्‍‌नी व ससुराल पक्ष के खिलाफ मुकदमे की अर्जी दी थी। इसमें फीलखाना पुलिस ने अपनी रिपोर्ट भी लगा दी है। अधिवक्ता शैलेंद्र चौरसिया के मुताबिक उन्होंने एक मुकदमा मीडिएशन सेंटर में भी दाखिल किया था। उधर, पत्नी के दहेज प्रार्थना पत्र पर मध्यस्थता एवं सुलह समझौता केंद्र में दोनों के बीच एक बार बात भी हो चुकी थी।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
    Web Title:(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

    कमेंट करें

    यह भी देखें

    संबंधित ख़बरें