PreviousNext

पचास हजार के लिए लौटाई लगन

Publish Date:Sun, 28 Apr 2013 07:22 PM (IST) | Updated Date:Sun, 28 Apr 2013 07:23 PM (IST)

श्रीनगर(महोबा), अप्र : मंडप गड़ा, वधू के हाथ पर हल्दी मली गई, बरातियों के स्वागत को मिठाई भी बन गई पर बेटे का सौदा करने वाले पिता ने वधू के पिता को पचास हजार रूपए न लाने का आरोप लगाकर धक्के मारकर भगा दिया। मामला कोतवाली सदर के मझलवारा का है। तहरीर दे दी गई है, पुलिस समझौता कराने की बात कह रही है।

लड़की के पिता ने बताया कि 27 अप्रैल को फलदान के लिए वर पक्ष के घर पहुंच गए, आवभगत के बाद तिलक चढ़ाने के पहले लड़के के पिता तारचंद निवासी श्रीनगर थाना के ननौरा गांव ने तय रकम पचास हजार की जगह तिलक में एक लाख रुपए रखने का फरमान सुना दिया। जब उन्होंने इतना पैसा देने में असमर्थता जताई तो सैकड़ों लोगों के बीच लड़की के पिता को जलील कर तिलक लौटा दिया। घटना से लड़की वालों का सुख चैन छिन गया है। मुकदमा दर्ज करने को थाने में तहरीर दी गई है।

बताते चलें कि कोतवाली क्षेत्र के मझलवारा गांव निवासी एक पिता ने बेटी की शादी श्रीनगर थाने के ननौरा गांव के ताराचंद के बेटे संजय के साथ तय की थी। सबसे पहले मध्यस्थ ग्राम पंचायत विकास अधिकारी डीडी सेन के घर में दोनों पक्षों के बीच दहेज में पच्चीस हजार रुपए व बाइक देने की बात तय हुई थी। बीते पखवारे ताराचंद ने 25 की जगह 50 हजार देने की बात कही तो लाचार पिता ने बात मान ली। 29 अप्रैल को शादी होनी थी। कार्यक्रम के मुताबिक शनिवार को मंडप के दिन मंडप के दिन पिता ग्राम प्रधान बृजभान सिंह व अन्य तमाम लोगों को साथ लेकर ननौरा तिलक चढ़ाने पहुंचा यहां लड़के के पिता ताराचंद ने तिलक के थाल में कम से कम एक लाख रुपए रखने को कहा। इतनी रकम की व्यवस्था न हो पाने पर उसने पिता को उल्टी सीधी बातें कह तिलक वापस कर दिया। मौजूद लोगों ने ताराचंद को समझाने की कोशिश की पर वह किसी की बात सुनने को तैयार नहीं हुआ। लाचार हो तिलक ले कर गए लोग बैरंग वापस लौट आए। लड़की के पिता ने रविवार को श्रीनगर थाने में तहरीर देकर दहेज उत्पीड़न का मुकदमा दर्ज करने की गुहार लगाई है। थानाध्यक्ष घनश्याम सचान कहते है तहरीर मिल गई है। इसमें वर और उसके पिता के साथ ही बड़े भाई का नाम दहेज मांगने के लिए दिया गया है।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
    Web Title:(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

    कमेंट करें

    चार बहनों व एक भाई में सबसे बड़ी थी किशोरीगिले-शिकवे भुलाकर फिर मिले पति-पत्नी
    यह भी देखें