PreviousNextPreviousNext

देवघर में आश्रम के सभागार में दम घुटने ने 12 मरे

Monday,Sep 24,2012 05:22:10 PM
देवघर में आश्रम के सभागार में दम घुटने ने 12 मरे

देवघर। झारखण्ड के देवघर जिले में सोमवार को एक आश्रम के सभागार में भारी भीड़ एकत्र हो जाने के कारण कम से कम नौ लोगों की दम घुटने से मौत हो गई। इनमें आठ महिलाएं हैं। सभी संत ठाकुर अनुकूल चंद की 125वीं जयंती पर आयोजित प्रार्थना सभा में भाग लेने के लिए पहुंचे थे। मामले की जांच के आदेश दे दिए गए हैं।

ठाकुर अनुकूलचंद जी के 125वें जन्म-महोत्सव के अवसर पर सोमवार को आयोजित कार्यक्रम के दौरान हुई भगदड़ में 8 महिलाओं सहित 12 लोगों की मौत हो गई। वहीं लगभग 50 लोग घायल हो गए, जिसमें कई की हालत गंभीर है। सभी घायलों का इलाज सत्संग के निजी अस्पताल में चल रहा है।

घटना के बाद से एसपी सुबोध प्रसाद व उपायुक्त राहुल पुरवार सत्संग में लगातार कैंप किए हुए हैं। बताया गया कि सुबह की प्रार्थना के समय सोमवार को गेट खोलने में थोड़ी देर हो गई, इस बीच भीड़ का दबाव काफी बढ़ गया, जैसे ही गेट खोला गया लोग अंदर प्रवेश के करने के लिए दौड़ पड़े। भीड़ इतनी ज्यादा थी कि अंदर तैनात सत्संग आश्रम के कार्यकर्ता उसे संभाल नहीं पाए। भगदड़ की स्थिति उत्पन्न हो गई। कई लोग गिर पड़े और पीछे से गिरे लोगों पर भीड़ टूट पड़ी। इस भगदड़ में 50 से अधिक लोग घायल हो गए। वहीं कुछ को हल्की चोट लगी, जिन्हें बाद में प्राथमिक उपचार के बाद छोड़ दिया गया। जबकि दो दर्जन से अधिक लोगों का इलाज किया जा रहा है।

कोहराम के बीच पुष्पवर्षा- घटना के बाद चारों ओर कोहराम मचा हुआ था। सत्संग अस्पताल के अंदर प्रशासन व मीडिया कर्मी मरने वालों का नाम पता कर रहे थे। घायलों की हालत की जानकारी ले रही थी लेकिन जश्न में डूबे सत्संग आश्रम के लोगों को शायद इससे ज्यादा फर्क नहीं पड़ा इसी कारण इन सबके बीच आश्रम के ऊपर हेलिकॉप्टर, चार्टर प्लेन और पैराशूट से पुष्पवर्षा की जा रही थी।

मंत्री से छुपायी गई जानकारी- सोमवार को रेल राज्य मंत्री केएच मुनियप्पा करीब 9 बजे सत्संग आश्रम पहुंचे। उन्हें शायद कुछ देर पहले हुई घटना की जानकारी नहीं थी। वे अंदर गए और फिर थोड़ी देर में बाहर आ गए। हैरानी की बात है कि उन्हें इस बारे में तब तक न तो आश्रम प्रबंधन न ही जिला प्रशासन की ओर से इतनी बड़ी घटना की कोई जानकारी दी गई थी। सर्किट हाउस में जब उन्हें इस बारे में जानकारी मिली तो वे हैरान रह गए। उन्होंने इस घटना पर दुख व्यक्त करते हुए कहा कि लोगों की सुरक्षा राज्य सरकार की जिम्मेदारी होती है जिसे निभाने में सरकार असफल रही है।

मामले की जांच के बाद होगी कार्रवाई- मामले की जानकारी मिलते ही उपायुक्त राहुल पुरवार वहां पहुंच गए। उन्होंने कहा कि प्रारंभिक जानकारी के मुताबिक 12 लोगों की मौत हुई है और करीब 50 लोग घायल हुए है। ये घटना भगदड़ के कारण हुई है। पूरे मामले की जांच की जाएगी और उसके बाद ही उचित कार्रवाई होगी। उपायुक्त ने कहा कि सत्संग प्रबंधन ने मेला से पहले जिला प्रशासन के साथ बैठक किया था। लेकिन उस वक्त कहा गया था कि आश्रम में प्रार्थना स्थल व सभा स्थल में पुलिस या प्रशासन की जरूरत नहीं होगी। वहां आश्रम के लिए कार्यकर्ता काम करेंगे। बाहर पुलिस चाहिए और यातायात व्यवस्था में सहयोग डिमांड किया था। वर्तमान में यहां दंडाधिकारी व पुलिस बल तैनात किया गया है।

स्थित नियंत्रण में- एसपी सुबोध प्रसाद ने घटना पर दुख व्यक्त करते हुए कहा कि पुलिस बाहर की व्यवस्था में लगी हुई थी। यहां पुलिस बल की व्यापक व्यवस्था की गई है। अब स्थिति पूरी तरह से नियंत्रण में है।

अप्रत्याशित भीड़ के कारण हुई घटना- सत्संग आश्रम के सचिव कार्तिक चंद्र सरकार ने कहा कि अनुमान से ज्यादा लोग यहां पहुंच गए थे। इस कारण भीड़ को कंट्रोल नहीं किया जा सका। भगदड़ हो गई जिस कारण ये हादसा। सभी लोगों का सत्संग आश्रम स्थित अस्पताल में इलाज किया जा रहा है। आश्रम की ओर से लोगों को हर संभव मदद दी जा रही है।

घटना में मरनेवालों का नाम

1. प्रतिमा कुमारी (बिहार, मुजफ्फरपुर के सिलौत की निवासी)

2. बदामी देवी (बिहार सुपौल जिले के त्रिवेणीगंज की 65 वर्षीय)

3. बिहार के समस्तीपुर जिले के कल्याणपुर थाना क्षेत्र के गौरा निवासी 25 वर्षीय पिंकी देवी

4. ओडिशा के कटक जिले की टांगी निवासी 70 वर्षीय पार्वती बोयताय

5. झारखंड के बोकारो जिले के फुसरो निवासी 80 वर्षीय यमुना देवी

6. पं. बंगाल के हुगली जिला निवासी विष्णु प्रिया मल्लिक

7. पं. बंगाल के उतर 24 परगना जिला के देवगंगा निवासी उमा मजुमदार

8. रेखा देवी

9. एक पुरुष की पहचान नहीं हो पायी है।

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए क्लिक करें m.jagran.com परया

कमेंट करें

Tags:religion_news

Web Title:

(Hindi news from Dainik Jagran, spiritualreligion Desk)

कुंभ मेला: गंगा घटे, तो बढ़ें कदम सत्य के समान कोई धर्म नहीं
यह भी देखें

प्रतिक्रिया दें

English Hindi
Characters remaining


लॉग इन करें

यानिम्न जानकारी पूर्ण करें



Word Verification:* Type the characters you see in the picture below

    स्थानीय

      यह भी देखें
      Close
      सावन की पूर्णिमा पर देवघर में उमड़े शिवभक्त
      60 हजार शिवभक्त पहुंचे देवघर के बाबा दरबार
      12-12-12 के दिन बन रहा गजकेशरी योग