PreviousNext

गैंगरेप पीड़िता की मौत, ब्लैक संडे से सैड सैटर्डे तक

Publish Date:Sat, 29 Dec 2012 07:46 AM (IST) | Updated Date:Sat, 29 Dec 2012 02:52 PM (IST)
गैंगरेप पीड़िता की मौत, ब्लैक संडे से सैड सैटर्डे तक
आखिरकार राजधानी दिल्ली में 16 दिसंबर को चलती बस में गैंगरेप की घटना के तेरह दिन बाद पीड़ित जिदंगी की जंग हार गई। पीड़ित ने शुक्रवार देर रात सवा दो बजे सिंगापुर के माउंट एलिजाबेथ अस्प

नई दिल्ली। आखिरकार राजधानी दिल्ली में 16 दिसंबर को चलती बस में गैंगरेप की घटना के तेरह दिन बाद पीड़ित जिदंगी की जंग हार गई। पीड़ित ने शुक्रवार देर रात सवा दो बजे सिंगापुर के माउंट एलिजाबेथ अस्पताल में आखरी सांस ली।

इस पूरे घटनाक्रम पर एक नजर :-

वसंत विहार गैंगरेप: 16 दिसंबर से अब तक

16 दिसंबर-

-वसंत विहार में रात साढ़े 9 बजे चार्टर्ड बस में एक युवती से सामूहिक दुष्कर्म व उसके दोस्त की पिटाई।

-रात को ही युवती को सफदरजंग अस्पताल में दाखिल कराया गया।

17 दिसंबर-

-पुलिस ने सामूहिक दुष्कर्म का मामला दर्ज किया।

18 दिसंबर-

-घटना का पता चलने पर लोगों ने वसंत विहार थाने के बाहर किया प्रदर्शन।

-घटना का पता चलने पर दिल्ली उच्च न्यायालय की महिला वकीलों के एक दल ने उच्च न्यायालय से की मामले में स्वत: संज्ञान लेने की अपील।

-पीड़िता की हालत बिगड़ी और उसकी दो सर्जरी की गई।

-पुलिस ने घटना के मुख्य आरोपी रामसिंह को गिरफ्तार कर साकेत कोर्ट में पेश किया और उसे पांच दिन के पुलिस रिमांड पर लिया।

19 दिसंबर-

-पुलिस ने गैंगरेप के तीन आरोपियों विनय, पवन और मुकेश को गिरफ्तार कर साकेत कोर्ट में पेश किया।

-अदालत में विनय और पवन ने अपनी गलती स्वीकार की और विनय ने अपने लिये फांसी की सजा की मांग की।

-गैंगरेप पीड़िता के दोस्त ने अदालत में अपने बयान दर्ज कराए

-वसंत विहार गैंगरेप मामले में दिल्ली उच्च न्यायालय ने स्वत: संज्ञान लेते हुए दिल्ली पुलिस से मामले की रिपोर्ट मांगी और घटना के दौरान बस के रास्ते में पड़ने वाले तीन पुलिस नाकों पर तैनात रहे पुलिसकर्मियों की सूची और उनके खिलाफ की गई कार्रवाई की रिपोर्ट दो दिन में मांगी।

-गैंगरेप की घटना को लेकर लोगों ने जंतर-मंतर व विभिन्न जगहों पर किया प्रदर्शन।

20 दिसंबर-

-तिहाड़ जेल में गैंगरेप के आरोपी मुकेश की शिनाख्त परेड कराई गई।

-लोगों ने जंतर-मंतर, इंडिया गेट और विभिन्न जगहों पर किया प्रदर्शन।

21 दिसंबर-

-दिल्ली हाईकोर्ट में गैंगरेप को लेकर पुलिस ने अपनी रिपोर्ट दाखिल की।

-हाईकोर्ट ने रिपोर्ट से असहमति जताते हुए घटना वाली रात ड्यूटी पर तैनात पुलिसकर्मियों के नाम कमिश्नर से मांगे।

22 दिसंबर-

-युवती की हालत में सुधार होने पर एसडीएम ने अस्पताल में जाकर बयान दर्ज किए।

-राष्ट्रपति भवन का प्रदर्शनकारियों ने किया घेराव

-पुलिस ने प्रदर्शनकारियों पर लाठीचार्ज कर आंसू गैस के गोले भी छोड़े। प्रदर्शनकारियों ने पत्थरबाजी भी की।

-प्रदर्शन के दौरान पुलिस के हमले से 70 लोग घायल।

-प्रदर्शनकारियों ने सरकारी वाहनों से की तोड़-फोड़

23 दिसंबर-

-मामले के आरोपियों की पिटाई के लिये साकेत कोर्ट में एकत्र हुई हजारों की भीड़।

-पुलिस ने आरोपियों को चोरी छिपे पेश किया

-रविवार को इंडिया गेट पर गैंगरेप के विरोध में प्रदर्शन कर रहे युवकों पर पुलिसकर्मियों में मारपीट

-इसी दौरान प्रदर्शनकारियों का पीछा कर रहा कांस्टेबल सुभाष तोमर गिर गया और उसे अस्पताल में दाखिल कराया गया।

24 दिसंबर-

-पुलिस ने गैंगरेप के मामले में बाकी के दो आरोपियों अक्षय और राजू को गिरफ्तार कर अदालत में पेश किया।

-इंडिया गेट पर हुए बलवे को लेकर पुलिस ने प्रदर्शनकारियों के खिलाफ बलवा करने, सरकारी कर्मचारी पर हमला करने, हत्या का प्रयास व सरकारी कार्य में बाधा पहुंचाने के मामले में तिलक मार्ग थाना में केस दर्ज किया और आठ लोगों को गिरफ्तार किया।

-सभी आरोपियों को पटियाला हाउस कोर्ट से जमानत मिल गई।

-एसडीएम ने बयान दर्ज करने के दौरान पुलिस की डीसीपी छाया शर्मा व दो एसीपी पर व्यवधान डालने का आरोप लगाया। मंडल आयुक्त ने मामले की शिकायत मुख्यमंत्री शीला दीक्षित को भेजी।

-गैंगरेप के आरोपी राम सिंह की तिहाड़ में कैदियों ने पिटाई की।

25 दिसंबर-

-जंतर मंतर पर प्रदर्शन कर रही युवतियों को संसद मार्ग की ओर जाने पर पुलिस ने हिरासत में लिया और चार घंटे के बाद रिहा किया।

-अस्पताल में दाखिल दिल्ली पुलिस के कांस्टेबल सुभाष तोमर ने दम तोड़ा।

-निगमबोध घाट पर राजकीय सम्मान के साथ हुआ दाह संस्कार

-पुलिस ने कहा कि प्रदर्शनकारियों के हमले से हुई कांस्टेबल की मौत

26 दिसंबर-

-आरएमएल के चिकित्सा अधीक्षक ने मीडिया को बताया कि कांस्टेबल के शरीर पर नहीं था कोई चोट का निशान। उसकी मौत हार्ट अटैक के कारण हुई।

-पुलिस अपने बयान पर अड़ी और क्राइम ब्रांच ने चिकित्सा अधीक्षक को नोटिस भेजा।

-पीड़िता की हालत बिगड़ी और उसे एयर एम्बुलेंस के जरिये सिंगापुर स्थित माउंट एलिजाबेथ अस्पताल में भेजा गया

27 दिसंबर-

-पीड़िता की हालत और अधिक बिगड़ी

-सिंगापुर के डाक्टरों द्वारा जांच के दौरान पीड़िता के सिर में गंभीर दिमागी चोट पाई गई।

-सामूहिक दुष्कर्म के विरोध में छात्राओं ने निजामुद्दीन में नीला गुंबद के पास प्रदर्शन कर पैदल मार्च निकाला

-पुलिस ने सामूहिक दुष्कर्म के छठे आरोपी को अदालत से एक दिन के रिमांड पर लिया ताकि वारदात के समय के उसके कपड़े बरामद किए जा सके।

28 दिसंबर-

-चिकित्सकों ने लंदन के एक विशेषज्ञ डाक्टर को पीड़िता की जांच के लिये बुलाया।

-देर शाम पीड़िता की हालत बेहद नाजुक हुई।

-इंडिया गेट पर धारा 144 लगाकर रास्ते बंद करने की पुलिस की कार्रवाई के खिलाफ दिल्ली उच्च न्यायालय में एक जनहित याचिका दायर

-जंतर-मंतर पर लोगों ने सामूहिक दुष्कर्म की घटना के विरोध में प्रदर्शन किया

29 दिसंबर

- रात सवा दो बजे पीड़िता ने दम तोड़ दिया

- पूरे दिल्ली में हाई अलर्ट

मोबाइल पर ताजा खबरें, फोटो, वीडियो व लाइव स्कोर देखने के लिए जाएं m.jagran.com पर

मोबाइल पर भी अपनी पसंदीदा खबरें और मैच के Live स्कोर पाने के लिए जाएं m.jagran.com पर
Web Title:timeline of delhi gangrape(Hindi news from Dainik Jagran, newsnational Desk)

कमेंट करें

पीड़ित को सिंगापुर भेजने की बात लोगों के गले नहीं उतर रहीमैं यहां बड़ी नहीं करूंगा अपनी बेटी: अभिषेक बच्चन
यह भी देखें