अपनी बात

  • सकारात्मक दृष्टि

    सकारात्मक दृष्टिUpdated on: Thu, 20 Jul 2017 02:16 AM (IST)

    जिंदगी में सुख, शांति, समृद्धि के लिए राम जपने के साथ राम के चरित्र का जहां तक संभव हो सके अनुसरण करना चाहिए। और पढ़ें »

  • सद्भाव के संदेश की अनदेखी

    सद्भाव के संदेश की अनदेखीUpdated on: Wed, 19 Jul 2017 02:03 AM (IST)

    तीर्थयात्रियों पर आतंकी हमले की घटना के बाद सांप्रदायिक सद्भाव को चोट पहुंचाने वाली कोई वारदात नहीं हुई। और पढ़ें »

  • देर से किया सही फैसला

    देर से किया सही फैसलाUpdated on: Wed, 19 Jul 2017 02:03 AM (IST)

    आखिरकार सरकार ने एयर इंडिया के निजीकरण का निर्णय ले ही लिया। सार्वजनिक इकाइयों के निजीकरण के विरुद्ध पहला तर्क मुनाफाखोरी का दिया जा रहा है। और पढ़ें »

  • धर्म

    धर्मUpdated on: Wed, 19 Jul 2017 02:02 AM (IST)

    समाज में हर इंसान को साधु की तरह जीवनयापन करना चाहिए। धर्म का निर्देश आपको मानना पड़ेगा। और पढ़ें »

  • जंजाल बनेगी जीएसटी की जटिलता

    जंजाल बनेगी जीएसटी की जटिलताUpdated on: Tue, 18 Jul 2017 02:07 AM (IST)

    सरकार ने उपभोक्ता मूल्य सूचकांक की वस्तुओं को कम करों के दायरे में रखा है ताकि यह संदेश जाए कि जीएसटी के बाद महंगाई कम हुई है। और पढ़ें »

  • आज भी याद है तोपों की वह सलामी

    आज भी याद है तोपों की वह सलामीUpdated on: Tue, 18 Jul 2017 02:07 AM (IST)

    जिंदगी का सबसे यादगार पल था जब पिता ने राष्ट्रपति पद की शपथ ली और बाहर तोपों की गूंज उनको सलामी दे रही थी। और पढ़ें »

  • चरित्र

    चरित्रUpdated on: Tue, 18 Jul 2017 02:07 AM (IST)

    जीवन यानी संघर्ष यानी मनोबल। मनोबल से ही व्यक्ति स्वयं को बनाए रख सकता है, अन्यथा करोड़ों की भीड़ में अलग पहचान नहीं बन सकती। और पढ़ें »

  • तोड़ती नहीं जोड़ती है हिंदी

    तोड़ती नहीं जोड़ती है हिंदीUpdated on: Mon, 17 Jul 2017 01:21 AM (IST)

    भारत बहुभाषिक राष्ट्र है, लेकिन बहुभाषिकता सांस्कृतिक एकता में बाधक नहीं रही। और पढ़ें »

  • किसानों की धुरी पर घूमती राजनीति

    किसानों की धुरी पर घूमती राजनीतिUpdated on: Mon, 17 Jul 2017 01:21 AM (IST)

    आज भारतीय राजनीति किसान केंद्रित होती जा रही है। किसानों की बदहाली पर केंद्र और राज्य सहित पूरा देश चिंतित है। और पढ़ें »

  • परिवार

    परिवारUpdated on: Mon, 17 Jul 2017 01:20 AM (IST)

    परिवार सजातीय सदस्यों के बीच गहरे संवेदनशील संबंधों का एक सुमेल है। परिवार के सभी सदस्यों को सद्भाव और सम्मान की एक डोर बांधे रखती है। और पढ़ें »

  • शहरों संग नदियों की घातक अनदेखी

    शहरों संग नदियों की घातक अनदेखीUpdated on: Sun, 16 Jul 2017 01:00 AM (IST)

    गंगा में गंदगी को लेकर केंद्र और राज्य सरकारें ढुलमुल रवैया अपनाए हुए हैं। नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल ने फटकार लगाई। और पढ़ें »

  • अनंत संभावनाओं के द्वार खोलती निंदा

    अनंत संभावनाओं के द्वार खोलती निंदाUpdated on: Sun, 16 Jul 2017 01:00 AM (IST)

    अगर आपको दूसरों की निंदा करना अच्छा लगता है तो समझ लें कि आप लक्ष्य से भटक चुके हैं। लिहाजा तुरंत आदत में सुधार लाएं।  और पढ़ें »

  • ध्येय

    ध्येयUpdated on: Sun, 16 Jul 2017 12:59 AM (IST)

    समाज में रहने के लिए स्थान की आवश्यकता पड़ती है। अपने उच्चकोटि के कार्र्यों के लिए जीवन समर्पित करना होता है। और पढ़ें »

  • कलह की पिच पर क्रिकेट

    कलह की पिच पर क्रिकेटUpdated on: Sat, 15 Jul 2017 05:20 AM (IST)

    आज स्थिति यह है कि कप्तान और कोच से लेकर सीओए,सीएसी और बोर्ड, सभी पर अंगुली उठ रही है। और पढ़ें »

  • नियुक्तियों में न्याय का सवाल

    नियुक्तियों में न्याय का सवालUpdated on: Sat, 15 Jul 2017 05:05 AM (IST)

    यदि उच्चतर न्यायपालिका अपने उत्तराधिकारी खुद तय कर रही है तो विधायिका और कार्यपालिका भी अपने उत्तराधिकारी क्यों न तय करे? और पढ़ें »

यह भी देखें

    जागरण RSS

    अपनी बातRssgoogle plusyahoo ad
    नजरियाRssgoogle plusyahoo ad

    और देखें