वाशिंगटन, एजेंसी। अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन ने भारतवंशी डा. विवेक मूर्ति (Dr Vivek Murthy) को विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के कार्यकारी बोर्ड में अमेरिका का प्रतिनिधि नियुक्त किया है। 45 वर्षीय डा. मूर्ति अबी अमेरिका के सर्जन जनरल के रूप में अपनी सेवाएं दे रहे हैं। मूर्ति अपनी वर्तमान भूमिका में रहते हुए नया प्रभार संभालेंगे। व्हाइट हाउस की तरफ से इसकी जानकारी दी गई है।

व्हाइट हाउस ने कहा कि पहले भारतवंशी सर्जन जनरल डा. मूर्ति मियामी में पले-बढ़े और हार्वर्ड के याले स्कूल आफ मेडिसिन से ग्रेजुएट हैं। उन्होंने याले स्कूल आफ मैनेजमेंट से भी शिक्षा पाई है। जाने-माने फिजिशियन, अनुसंधान विज्ञानी, उद्यमी व लेखक डा. मूर्ति वाशिंगटन डीसी में पत्नी डा. एलिस चेन और अपने दो बच्चों के साथ रहते हैं।

व्हाइट हाउस का बयान

अमेरिका में सर्जन जनरल का काम एक स्वस्थ देश की नींव रखने में मदद करना है। व्हाइट हाउस ने कहा, 'डॉ मूर्ति 21वें सर्जन जनरल के रूप में सेवा करते हुए स्वास्थ्य संबंधी गलत सूचनाओं के बढ़ते प्रसार, युवाओं के मानसिक स्वास्थ्य संकट, समेत कई महत्वपूर्ण स्वास्थ्य मुद्दों पर काम कर रहे हैं। डॉ मूर्ति यूएस पब्लिक हेल्थ सर्विस कमीशन्ड कॉर्प्स के वाइस एडमिरल के रूप में 6 हजार से अधिक समर्पित स्वास्थ्य अधिकारियों का नेतृत्व भी करते हैं। की वर्दीधारी सेवा की कमान भी संभालते हैं, जो सबसे वंचित और कमजोर आबादी की सेवा करते हैं।'

सर्जन जनरल हैं डा. मूर्ति

बता दें कि अमेरिकी सीनेट ने देश के 21वें सर्जन जनरल के लिए मार्च 2021 में डा. मूर्ति की पुष्टि की थी। इससे पहले राष्ट्रपति बराक ओबामा के कार्यकाल के दौरान वह 19वें सर्जन जनरल के रूप में सेवा दे चुके हैं।

ये भी पढ़ें:

White House Diwali: अमेरिका में भी मनेगी दिवाली, रोशन होगा व्हाइट हाउस; बाइडन के प्रवक्ता ने दी जानकारी

Donald Trump ने मार-ए-लागो मामले में सुप्रीम कोर्ट का किया रुख, कहा- विशेष मास्टर से की जाए समीक्षा

Edited By: Manish Negi

जागरण फॉलो करें और रहे हर खबर से अपडेट